मानसरोवर साहित्य समिति के स्थापना दिवस पर विचार गोष्ठी

मानसरोवर साहित्य समिति के स्थापना दिवस पर विचार गोष्ठी

इटारसी। नर्मदांचल की साहित्यिक संस्था मानसरोवर साहित्य समिति के स्थापना दिवस पर श्री प्रेमशंकर दुबे स्मृति पत्रकार भवन में हिंदी दिवस पर विचार गोष्ठी का आयोजन किया गया। कार्यक्र्रम में इटारसी के साहित्यकारों के साथ-साथ पाठकों ने भी हिस्सा लिया। इस अवसर पर साहित्यिक अभिरुचि रखने वाले अनेक श्रोता भी उपस्थित रहे।
उल्लेखनीय है कि मानसरोवर साहित्य समिति की स्थापना 14 सितंबर 1974 में की गई थी। कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में वरिष्ठ साहित्यकार देवेंद्र सोनी उपस्थित थे। कार्यक्रम की अध्यक्षता वरिष्ठ साहित्यकार रामवल्लभ गुप्त ने की। कार्यक्रम की शुरुआत विद्या दायिनी मां सरस्वती के तेल चित्र के समक्ष दीप प्रज्वलित कर माल्यार्पण के साथ की गयी। विचार गोष्ठी का शुभारंभ कवि गुलाब भूमरकर ने सरस्वती वंदना गायन के साथ किया। मानसरोवर साहित्य समिति के अध्यक्ष राजेश दुबे ने स्वागत भाषण देते हुए समिति की गतिविधियों पर प्रकाश डाला। विचार गोष्ठी में वरिष्ठ साहित्यकार मानसरोवर साहित्य समिति के संरक्षक विनोद कुशवाह, गजलकार साजिद सिरोंजवी, मदन बड़कुर तन्हाई, रामवल्लभ गुप्त, ब्रजमोहन सिंह सोलंकी, विनय चौरे, सौरभ दुबे, अखिल दुबे, भगवान दास बेधड़क, प्रवीण कुमार शर्मा, नर्मदा प्रसाद मालवीय, तरुण तिवारी तरु ने हिंदी की दशा और दिशा पर अपने विचार व्यक्त किए। संचालन साहित्यकार विकास उपाध्याय ने एवं आभार प्रदर्शन सौरभ दुबे ने किया।

CATEGORIES
TAGS

COMMENTS

Wordpress (0)
Disqus ( )
error: Content is protected !!
%d bloggers like this: