चार सदी बाद विशेष चंद्रग्रहण सोमवार को, जानिये क्या है खास

चार सदी बाद विशेष चंद्रग्रहण सोमवार को, जानिये क्या है खास

– एक ही साल में समान पूर्णता अवधि वाले दो चंद्रग्रहण में से पहला सोमवार को
– मोस्ट बेलेंन्स्ड पेयर ऑफ टोटल लुनार इकलिप्स में से पहला ग्रहण
– पश्चिमी देशों में 1 घंटे 25 मिनट तक मून दिखेगा ब्लडमून
इटारसी। सोमवार (Monday) बुद्ध पूर्णिमा (Buddha Purnima) की सुबह जब चंद्रमा (Moon) आपसे विदा लेकर पश्चिमी देशों में उदित हो रहा होगा, तब उन देशों में चंद्रमा पर पृथ्वी (Earth) की घनी छाया पडऩे से पूर्ण चंद्रग्रहण की घटना होगी और वह तामिया लाल रंग का दिख रहा होगा, इसे ब्लडमून (Bloodmoon) का नाम दिया है।

भारत सरकार (Government of India) का नेशनल अवार्ड (National Award) प्राप्त विज्ञान प्रसारक सारिका घारू (Science Broadcaster Sarika Gharu) ने साल के पहले चंद्रग्रहण की खास बातों की जानकारी दी। सारिका ने बताया कि पूर्ण चंद्रग्रहण (Total Lunar Eclipse )की यह घटना नार्थ और साउथ अमेरिका (North and South America,) के अलावा यूरोप (Europe) और अफ्रीका (Africa) के कुछ भागों में दिखाई देगी। यह वेस्ट कोस्ट (West Coast) में शाम 8 से 11 बजे के प्राइमटाइम (Primetime) के बीच पडऩे वाला इस सदी (Century) का सबसे लंबी अवधि का पूर्ण ग्रहण होगा इसलिये इसे सेंचुरी का लांगेस्ट प्राइम टाइम टोटेलिटी (Longest Prime Time Totality) कहा जा रहा है। पूर्णता की अवधि 1 घंटे 25 मिनट होगी।
सारिका ने बताया कि इस साल 8 नवंबर में पडऩे वाला अगला चद्रग्रहण भी 1 घंटे 24 मिनट 54 सैकंड की टोटेलिटी का होगा। इसलिये यह एक ही कैलेंडर ईयर (Calendar Year) में पडऩे वाला मोस्ट बेलेंन्स्ड पेयर ऑफ टोटल लुनार इकलिप्स (Most Balanced Pair of Total Lunar Eclipse) है। यह सन् 1661 के बाद होने वाली घटना है जो कि अब आगे 2091 में होगी।
सारिका ने कहा कि यह ग्रहण हालांकि भारत में नहीं दिखेगा लेकिन वैश्वीकरण के इस दौर में जबकि अनेक भारतीय युवा अमेरिका में हैं तो वे जब उनकी शाम के आकाश में ग्रहण देख रहे होंगे और तब भारत में बुद्ध पूर्णिमा की सुबह हो चुकी होगी।

कुछ प्रमुख शहर जहां पूर्ण चंद्रग्रहण दिखेगा-

रोम (Rome), लंदन (London,), पेरिस (Paris), जोहांनसबर्ग (Johannesburg), वाशिंगटन डीसी (Washington DC), न्यूयार्क (New York), लॉस एजेंलिस (Los Angeles), शिकागो (Chicago)

ग्रहण की अवस्था भारत में

समय 16 मई 2022 सुबह उपछाया ग्रहण (पेनुम्ब्रल इकलिप्स) आरंभ 07 बजकर 2 मिनट 5 सैकंड
पूर्ण ग्रहण (टोटल इकलिप्स) आरंभ 08 बजकर 59 मिनट 03 सैकंड
पूर्ण ग्रहण (टोटल इकलिप्स) समाप्त 10 बजकर 23 मिनट 55 सैकंड
उपछाया ग्रहण (पेनुम्ब्रल इकलिप्स) समाप्त 12 बजकर 20 मिनट 49 सैकंड

ग्रहण की खास बातें-

ग्रहण की पूर्ण अवधि 5 घंटे 19 मिनट
पूर्ण ग्रहण की अवधि 1 घंटा 25 मिनट

CATEGORIES
Share This

AUTHORRohit

COMMENTS

error: Content is protected !!