स्वच्छ सर्वेक्षण 2022 : तैयारियों का जायजा लेने भोपाल से आयी टीम

स्वच्छ सर्वेक्षण 2022 : तैयारियों का जायजा लेने भोपाल से आयी टीम

– कबाड़ से जुगाड़ की संकल्पना को मिली सराहना
– तालाब में फाउंटेन की संध्या बढ़ाने के निर्देश दिये
– पानी की शुद्धि और बतख की छांव का इंतजाम के निर्देश
– कंपोस्टिंग का उत्पादन बढ़ाने और विक्रय करने को कहा
– प्लास्टिक से टाइल्स बनाने का डेमो देखा और सराहना की
इटारसी। राजधानी भोपाल (Rajdhani Bhopal) से स्वच्छ सर्वेक्षण 2022 (Swachh Survekshan 2022) की तैयारियों का जायजा लेने के लिए आज दो सदस्यीय अधिकारियों की टीम इटारसी (Itarsi) आयी थी। टीम ने जिलवानी (Jilwani) पहुंचकर वहां एमआरएफ सेंटर (MRF Centre), एफएसटीपी (FSTP) सीएंडडी वेस्ट (C&D West), कंपोस्टिंग पिट (Composting Pit) का निरीक्षण किया। इस दौरान सेग्रीगेशन (Segregation) प्रक्रिया बढ़ाने के निर्देश दिये।
भोपाल से आयी टीम में डिप्टी डायरेक्टर सुरेश बेलिया और अधीक्षण यंत्री आलोक चौकसे शामिल थे। इस अवसर पर मुख्य नगर पालिका अधिकारी श्रीमती हेमेश्वरी पटले, कार्यपालन यंत्री आरसी गव्हाड़े, सहायक यंत्री मीनाक्षी चौधरी, सब इंजीनियर आदित्य पांडेय, स्वच्छता निरीक्षक आरके तिवारी, स्वच्छता विभाग से कमलकांत और जगदीश पटेल उपस्थित थे।

पेवर ब्लाक बनाने की प्रक्रिया देखी

जिलवानी में निरीक्षण के दौरान कंपोस्टिंग उत्पादन बढ़ाकर उसकी मार्केटिंग को कहा। यहां प्लास्टिक (Plastic) से पेवर ब्लॉक (Paver Block) बनाने की टेस्टिंग देखी और सराहना करते हुए कहा कि इसकी क्षमता का परीक्षण करायें ताकि इसके उपयोग की संभावनाएं पता चल सकें।

सुरक्षा के लिए निर्देश दिये

दोनों अधिकारियों ने जिलवानी में कार्यरत कर्मचारियों को सुरक्षा उपकरण दास्ताने, वर्दी और अन्य चीजों के उपयोग के निर्देश दिये। इसके साथ ही काम के प्रति संतोष व्यक्त किया। उन्होंने कचरे के पृथक्करण में और भी तकनीकि प्रक्रिया अपनाने को कहा।

कमला पार्क में मिली सराहना

नगर पालिका ने कमला नेहरु पार्क (Kamala Nehru Park) में कबाड़ से जुगाड़ संकल्पना के अंतर्गत एक कोना तैयार किया है। दोनों अधिकारियों ने इसे देखा और इसकी सराहना करते हुए कहा कि और भी कुछ चीजें जैसे पुराने पाइप से झूले या ऐसी ही चीजें बढ़ाई जानी चाहिए।



CATEGORIES
Share This

AUTHORRohit

COMMENTS

error: Content is protected !!