यह गांव आ सकता है मलेरिया और डेंगू की चपेट में, जिम्मेदार मौन

यह गांव आ सकता है मलेरिया और डेंगू की चपेट में, जिम्मेदार मौन

इटारसी। शहर से सटे ग्राम मेहरागांव में बारिश के पानी की निकासी नहीं होने से कुछ मकान मानो टापू बन गये हैं। सरपंच और सचिव की जानकारी में होने के बावजूद इस समस्या का कोई निदान नहीं किया जा रहा है। विगत तीन माह से इस क्षेत्र के निवासी परेशान हैं। उन्होंने सरपंच को इस समस्या से अवगत कराया लेकिन वहां से केवल आश्वासन ही मिला है, समस्या का निदान नहीं किया गया।
ग्राम पंचायत के सरपंच जितेन्द्र पटेल भी इस समस्या का समाधान नहीं करा पा रहे हैं जिससे बारिष के जमा पानी के कारण यहां मच्छरों के अलावा अन्य जीवों की भरमार हो गयी और मच्छरों के पनपने से लोग मच्छर जनित बीमारियों की चपेट में आ रहे हैं। ग्रामीणों को कहना है कि जब मलेरिया और डेंगू जैसे रोग पैर पसार रहे हैं, ऐसे मंे ग्राम पंचायत की इस तरह की लारवाही ग्रामीणों की जान पर भारी पड़ सकती है। तीन माह से यह समस्या है और इसका निदान नहीं कराया जा रहा है। ग्रामीणों का कहना है कि आए दिन जहरीले सांपों से रहवासियों को सामना करना पड़ रहा है। सरपंच सचिव और शासन, प्रशासन की अनदेखी के चलते रहवासियों के साथ-साथ स्कूल, कॉलेज जाने वाले बच्चे भी उसी गंदे पानी में से निकलने के लिए मजबूर हैं। रहवासियों ने बारिश के पानी की समस्या से निजात पाने के लिए और जिम्मेदारों के खिलाफ कार्यवाही की करने की मांग उच्च अधिकारियों से की है।

CATEGORIES
TAGS

COMMENTS

Wordpress (0)
Disqus ( )
error: Content is protected !!
%d bloggers like this: