वीडियो: ऐसी मशक्कत के बाद वैक्सीनेशन के लिए माने कई लोग

वीडियो: ऐसी मशक्कत के बाद वैक्सीनेशन के लिए माने कई लोग

इटारसी। दो जगह वैक्सीनेशन सेंटर के बावजूद नाला मोहल्ला का कुछ क्षेत्र ऐसा था, जहां के एक खास वर्ग के लोगों ने वैक्सीन लगवाने में रुचि नहीं ली। प्रशासन को ऐसे लोगों का वैक्सीनेशन कराने के लिए आज कमर कसी और उनको समझाइश देकर वैक्सीनेशन कराया। प्रषासन की समझाईष का ऐसा असर रहा कि न सिर्फ एक व्यक्ति ने बल्कि अपने पूरे परिवार का भी वैक्सीनेशन करा लिया। आज वैक्सीनेशन के लिए अधिकारियों ने नाला मोहल्ला में डेरा डाल रखा था। आज प्रथम डोज का 100 फीसद वैक्सीनेशन हो गया है। अब दूसरे डोज के लिए प्रशासन को काम करना है।

वैक्सीन नहीं लगवाने के लिए लोग तरह-तरह के बहानेबाजी कर रहे थे। एसडीएम मदन सिंह रघुवंशी (SDM Madan Singh Raghuvanshi), सीएमओ हेमेश्वरी पटले (CMO Hemeshwari Patel), भाजपा नेता जगदीश मालवीय (BJP leader Jagdish Malviya), डॉ.श्रीधर सिंह बघेल (Dr.Sridhar Singh Baghel), नायब तहसीलदार विनयप्रकाश ठाकुर (Naib Tehsildar Vinay Prakash Thakur) और पूर्व पार्षद राकेश जाधव के साथ डॉ.श्यामा प्रसाद मुखर्जी शासकीय चिकित्सालय के अधीक्षक डॉ.आरके चौधरी, स्वास्थ्य विभाग, राजस्व विभाग की टीम और मोहल्ले के गणमान्यजनों ने ऐसे घरों में जाकर लोगों को समझाईश देकर वैक्सीन लगवाने के लिए प्रेरित किया जो अब तक किसी न किसी बहाने से वैक्सीन लगवाने से बचते रहे हैं। आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं की टीम हर रोज ऐसे लोगों को जाकर समझाईश दे रही थी, लेकिन ऐसे लोगों पर कोई असर नहीं हो रहा था। आज अधिकारियों ने नाला मोहल्ला में डेरा ही डाल लिया था।

ऐसे बनाये जा रहे थे बहाने

एक धर्मगुरू ने तो वैक्सीनेशन के लिए प्रेरित करने पहुंची एसडीएम रघुवंशी और भाजपा नेता मालवीय को यह कहकर अपनी नाराजी जतायी कि आपके लोग कभी भी हमारे घर चले आते हैं। कभी दस लोगों के बीच बैठे हों तो आकर कहते हैं वैक्सीन लगवा लो, आराम करते वक्त पहुंच जाते हैं कि वैक्सीन लगवा लो। आपके लोगों ने परेशान कर रखा है, यह कोई तरीका नहीं है। इस पर उनको कहा कि आप वैक्सीन लगवा लेंगे तो कोई नहीं आएगा और कोरोना से बचने का कारगर हथियार केवल वैक्सीन ही है। इसके बाद उन्होंने एक बहानेबाजी यह कर दी कि आप कौन सी वैक्सीन लगा रहे हैं, जवाब मिला कि कोविशील्ड लगा रहे तो कहने लगे जब कोवैक्सीन लगेगी तब लगवा लेंगे। उनको कहा कि आप तैयार हैं तो हम अभी दूसरे सेंटर से कोवैक्सीन बुलवाकर लगवा देते हैं। जब समाज के लोगों ने और प्रशासन ने उनको वैक्सीन के फायदे बताये तो वे न सिर्फ स्वयं वैक्सीन लगवाने के लिए तैयार हुए बल्कि अपने पत्नी को भी लाकर वैक्सीन लगवायी। एक और परिवार के युवा ने टीम से यह कहते हुए बहक की कि उनके परिवार में सभी स्वस्थ हैं और उनको कुछ नहीं हो रहा है, फिर क्यों वैक्सीन लगवायें। हम तो नहीं लगवायेंगे। बड़ी मशक्कत और समझाइश के बाद आखिरकार वे माने।

घर-घर जाकर किया वैक्सीनेशन


आज प्रषासन और स्वास्थ्य विभाग की टीम ने न सिर्फ लोगों को वैक्सीनेशन के लिए प्रेरित किया बल्कि जो लोग वैक्सीनेशन सेंटर तक नहीं आ सकते थे, उनको उनके घर जाकर ही वैक्सीन लगायी। इसके लिए एक मोबाइल यूनिट भी साथ चल रही थी जिसके माध्यम से टीकाकरण किया जा रहा था। प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग की टीम घर-घर जाकर मोबाइल यूनिट के माध्यम से टीकाकरण अभियान को तेज किया और. शत-प्रतिशत वैक्सीनेट करने के लिए यह मुहिम चलायी जिसका परिणाम यह निकला कि लोगांे ने वैक्सीनेशन का मन बनाया। एसडीएम, तहसीलदार, नायब तहसीलदार,स्वास्थ्य अमला, आंगनबाड़ी कार्यकर्ता, जनप्रतिनिधियों ने शत-.प्रतिशत वैक्सीनेशन के लिए घरों घर जाकर लोगों से सम्पर्क किया। घर पहुंच सेवा में शासन कीे जिम्मेदारी को राजस्व विभाग के आरआई मालवीय, राजकुमार पटेल, आरआई मोरिया, आरआई राजपूत, पूर्व पार्षद महेश आर्य सहित नपा कर्मचारियों ने घर-घर जाकर वैक्सीनेशन कार्य में सहयोग प्रदान किया।

CATEGORIES
TAGS

COMMENTS

Wordpress (0)
Disqus ( )
error: Content is protected !!
%d bloggers like this: