BREAK NEWS

कारम डैम : 304 करोड़ की लागत से बना का डैम टूटने के कगार पर

कारम डैम : 304 करोड़ की लागत से बना का डैम टूटने के कगार पर

कारम डैम 304 करोड़ की लागत से बना का डैम टूटने के कगार पर, पूर्व सीएम ने लगाए आरोप, कमलनाथ ने अपने ट्वीट में लिखा, बढ़ रहा है खतरा, सेना करेंगी सहयोग सम्‍पूर्ण जानकारी

कारम डैम (Karam dam) 

कारम डैम

मध्यप्रदेश के धार जिले में कारम नदी पर 304 करोड की लागत से बन रहें कारम डैम का निर्माण कार्य 04 वर्षों से चल रहा हैं।  कारम डैम की लम्बाई 590 मीटर और ऊंचाई 52 मीटर है और वर्तमान में 1.5 करोड़ मीटर पानी इस बांध में है और यह कारम डैम फूटने वाला है। इस डैम मे लगी मिट्टी धंस रही है और लीकेज बढ़ता जा रहा है दीवार धीरे धीरे धंस रही है।

यदि यह डैम यदि फूट जाता हैं तो 18 गांव तबाह हो जाएंगे इनमें धार जिले के 12 गांव और खरगोन जिले के 6 गांव शामिल हैं। इस घटना की गंभीरता को देखते हुए प्रशासन ने बांध के निचले हिस्से में बसे 18 गांवों को खाली करा कर गांव वालों को सुरक्षित स्थान पर भेजा दिया गया है।

प्रशासन ने जिन 18 गांवों को खाली कराया है, उनमें धार जिले की धर्मपुरी तहसील में स्थित इस बांध में लबालब पानी भरा है मध्य प्रदेश के धार जिले और राज्य के ज्यादातर हिस्से में पिछले तीन दिन से रुक-रुककर भारी बारिश हो रही हैं।

पूर्व सीएम ने आरोप लागये और ट्वीट में लिखा

  • मध्यप्रदेश के धार ज़िले में कारम नदी पर नया निर्मित कोठिदा-भारुडपूरा कारम डैम में लिकेज की ख़बर बेहद चिंताजनक हैं।
  • 304 करोड़ की इस योजना में शुरू से स्थानीय ग्रामीण वासियों व जन प्रतिनिधियो द्वारा भ्रष्टाचार व घटिया निर्माण कार्य की शिकायत दर्ज करवायी जा रही थी लेकिन शिकायतों की अनदेखी की गयी, जिसके परिणाम स्वरूप पहली बारिश में ही यह लिकेज की घटना सामने आयी है।
  • आदिवासी क्षेत्रों में चले रहे विभिन्न निर्माण कार्यों में भ्रष्टाचार की शिकायतें निरंतर सामने आती रहती हैं।
  • मैं सरकार से माँग करता हूँ कि डैम में लिकेज को देखते हुए सरकार सुरक्षा के तत्काल आवश्यक सभी कदम उठाये ताकि किसी भी तरह के नुक़सान व जनहानि ना हो सके।
  • आसपास के गाँवो में विशेष सतर्कता बरतने व उन्हें सुरक्षित स्थानो पर पहुँचाने की तैयारी भी की जावे।
  • साथ ही इस नवनिर्मित डैम में भ्रष्टाचार व घटिया निर्माण की शिकायतों को देखते विशेषज्ञों का एक जाँच दल तत्काल गठित करने का निर्णय भी लिया जावे जो इस निर्माण कार्य की जाँच करे।
  • साथ ही इसके दोषियों पर कड़ी से कड़ी कार्यवाही हो।

यह भी पढें : कॉमेडी के बादशाह राजू श्रीवास्तव की हेल्थ को लेकर बड़ी खबर 2022

कारम डैम पर बढ़ रहा है खतरा

  • कारम डैम फूटेगा या बचेगा यह बारिश पर निर्भर करता हैं प्रशानिक अधिकारियों का मानना है कि यदि बारिश नहीं होती है तो डैम को बचाया जा सकता है। फिलहाल बारिश रुकी हुई है।
  • धार जिले के मांडव के पास स्थित नालछा के जंगलों में पानी गिरता है तो यह पहाड़ी पानी डैम में बढ़ जाएगा, जिससे कारम डैम खतरा और बढ़ जाएगा।
  • सुरक्षा की दृष्टि से धार जिले और खरगौन जिले के 18 गांवों को खाली करा लिया गया है।
  • मुंबई आगरा रोड पर सुबह से ट्रैफिक रोक दिया गया हैं।
  • मानपुर घाट के आगे और खलघाट के बीच गुजरी ग्राम पर ज्यादा खतरा है। इसी कारण से दोनों तरफ हजारों वाहनों की कतारें लगी हुई हैं।

मरम्मत का काम शुरू किया

कारम डैम

इंदौर के साथ भोपाल से विशेषज्ञों की टीम डैम को देखने पहुंची। और यहां मरम्मत का काम भी तेजी से शुरू हो चुका है। फिलहाल बारिश रुकी हुई है, लेकिन अगले कुछ घंटों में बारिश होती है तो हालात बिगड़ सकते हैं।

धरमपुरी विधायक का कहना

धरमपुरी के विधायक पांचीलाल मेड़ा ने ग्रामीणों से चर्चा करते हुऐं सभी को सुरक्षित स्थानों पर जाने को कहा। आर कहा   डैम निर्माण में घटिया सामग्री लगाई गई। जिसके चलते हमें यह समस्‍या का सामना करना पढ रहा हैं। पाल पर काली मिट्टी का भराव करने के बाद ठीक से दबाई नहीं। मे इस कानूनी कार्रवाई को लेकर विधानसभा में मामला उठाऊंगा।

सेना करेंगी सहयोग

कारम डैम

धार के कारम नदी पर बन रहे डैम को फूटने से बचाने के लिए अब सेना की मदद ली गई हैं। सेना के जवान रात करीब 2 बजे मौके पर पहुंचे चुकें हैं। और जवान बांध को फूटने से बचाने के काम में जुट गए हैं। इसके अलावा, बड़ोदरा, दिल्ली और भोपाल से एक-एक टीम भी मौके के लिए रवाना कर दी गई है। हर टीम में करीब 30 से 35 ट्रेंड जवान शामिल हैं। साथ ही NDRF, SDERF के साथ ही पुलिस, प्रशासन, होम गार्ड और राजस्व विभाग का अमला बचाव कार्य में लगा है।

TAGS
Share This

COMMENTS

Wordpress (0)
Disqus ( )
error: Content is protected !!