12th की परीक्षा के आयोजन संबंधी निर्णय जून में होंगे

12th की परीक्षा के आयोजन संबंधी निर्णय जून में होंगे

भोपाल। स्कूल शिक्षा (स्वतंत्र प्रभार) और सामान्य प्रशासन राज्य मंत्री इन्दर सिंह परमार ने बताया कि जून के प्रथम सप्ताह में कोरोना संक्रमण की स्थिति को देखते हुए बारहवीं की परीक्षा (12th exam) के आयोजन के संबंध में आवश्यक निर्णय लिया जायेगा। निर्णय लेते समय परीक्षार्थियों के स्वास्थ्य और सुरक्षा को सर्वोच्च वरीयता दी जायेगी। स्कूल शिक्षा विभाग (School Education Department) द्वारा 12वीं की परीक्षा की आवश्यक तैयारियाँ पूर्व में ही कर ली गयी हैं। फिलहाल परीक्षा प्रणाली में कोई परिवर्तन प्रस्तावित नहीं है। परिस्थितियाँ अनुकूल होने पर पुराने पैटर्न के अनुसार ही परीक्षाएँ आयोजित की जायेंगी।

परमार केंद्र द्वारा बारहवीं की परीक्षा आयोजित करने और व्यावसायिक पाठ्यक्रमों के लिए प्रवेश परीक्षाओं के प्रस्तावों पर चर्चा करने के लिए, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह (Defense Minister Rajnath Singh) की अध्यक्षता में आयोजित बैठक में वर्चुअली सम्मलित हुए। बैठक में शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल (Education Minister Ramesh Pokhriyal) ‘निशंक’, महिला एवं बाल विकास मंत्री स्मृति जुबीन ईरानी (Women and Child Development Minister Smriti Zubeen Irani), सूचना एवं प्रसारण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर (Information and Broadcasting Minister Prakash Javadekar), प्रमुख सचिव स्कूल शिक्षा और अध्यक्ष माध्यमिक शिक्षा मंडल रश्मि अरुण शमी (Board of Secondary Education Rashmi Arun Shami) सहित सभी राज्य/संघ राज्य क्षेत्रों के शिक्षा मंत्रियों, शिक्षा सचिवों और राज्य परीक्षा बोर्डों के अध्यक्ष वर्चुअली शामिल हुए।

परमार ने रक्षा मंत्री सिंह से सीबीएसई की परीक्षा के संबंध में अनुरोध किया कि राज्य की जमीनी हकीकत देखते हुए परीक्षा के संबंध में उचित निर्णय लिया जाये। इसके साथ ही 18 से 45 वर्ष आयु वर्ग के शिक्षकों को वैक्सीनेशन में प्राथमिकता देने और विद्यार्थियों के वैक्सीनेशन के लिए त्वरित आवश्यक रणनीति तैयार करने के संबंध में अनुरोध किया गया। बारहवीं कक्षा की परीक्षाओं का प्रभाव राज्य की बोर्ड परीक्षाओं और देश भर में अन्य प्रवेश परीक्षाओं पर पड़ता है। इसे ध्यान में रखकर विभिन्न राज्य सरकारों और केंद्र शासित प्रदेशों से 25 मई तक लिखित में सुझाव माँगे गये हैं। राज्यों के इनपुट के आधार पर सभी छात्रों के हित में बारहवीं कक्षा की परीक्षाओं के बारे में केंद्र सरकार द्वारा विचार किया जायेगा।

उल्लेखनीय है कि कोविड-19 महामारी ने शिक्षा क्षेत्र, विशेषकर बोर्ड परीक्षाओं और प्रवेश परीक्षाओं सहित विभिन्न क्षेत्रों को प्रभावित किया है। वर्तमान स्थिति को ध्यान में रखते हुए लगभग सभी राज्य शिक्षा बोर्डों, सीबीएसई और आईसीएसई ने बारहवीं कक्षा की परीक्षा, 2021 को स्थगित कर दिया है। इसी तरह, राष्ट्रीय परीक्षण एजेंसी (एनटीए) और अन्य राष्ट्रीय परीक्षा आयोजित करने वाले संस्थानों ने भी प्रोफेशनल पाठ्यक्रम प्रवेश के लिए प्रवेश परीक्षा स्थगित कर दी है।

CATEGORIES
TAGS

COMMENTS

Wordpress (0)
Disqus ( )
error: Content is protected !!
%d bloggers like this: