ओज़ोन दिवस: मनुष्य ने भौतिक सुख के लिए इस सुरक्षा कवच में छेद कर डाला

ओज़ोन दिवस: मनुष्य ने भौतिक सुख के लिए इस सुरक्षा कवच में छेद कर डाला

भोपाल। ओजोन परत (Ozone Day 2021) का पर्यावरण और मानव सभ्यता से ही नहीं बल्कि पृथ्वी पर विचरण कर रहे समस्त जीव जंतु से गहरा नाता है, इसमें आने वाले बदलाव का असर पूरी धरती पर देखने को मिलता है। यह बात युवा कम्यूनिकेटर आशी चौहान (Communicator Ashi Chauhan) ने ओज़ोन दिवस के मौके पर बच्चों से कही। आशी ने बताया कि ओजोन परत धरती से 10 किलोमीटर से 50 किलोमीटर की ऊंचाई के बीच पाई जाती है। ओजोन परत यानि पृथ्वी और पर्यावरण के लिए एक सुरक्षा कवच, यह कवच पृथ्वी और पर्यावरण को सूर्य की खतरनाक पराबैंगनी (अल्ट्रा वायलेट) किरणों से बचाती है, लेकिन हम मनुष्य ने भौतिक सुख के लिए इस सुरक्षा कवच में भी छेद कर डाला है, जो सूरज की खतरनाक किरणों से हमें अब तक बचाती रही है। चिंता की बात यह कि अब यह छेद सिर्फ छेद नहीं, मानव अस्तित्व के लिए अंतहीन सुरंग बनने की ओर बढ़ता जा रहा है। ओजोन दिवस पर ग्रामीण क्षेत्र में आशी ने पर्यावरण संरक्षण प्रदर्शनी लगाई और कुछ इस तरह समझाया….
ओज़ोन परत हमारे लिए छतरी का काम करती है। जिस प्रकार से बारिश में हमें पानी में गीले होने से बचाती है। उसी तरह ओजोन परत भी हमें सूरज की हानिकारक किरणों सोख लेती है। साथ ही उसे फिल्टर करके हमारे पास भेज देती है।
पोस्टर प्रदर्शनी में आशी ने बताया कि घर में लगे पौधे न केवल घर का वातावरण अच्छा बनाए रखते हैं बल्कि घर को खूबसूरत लुक भी देते हैं। कहते हैं कि रात के समय अधिकतर पौधे कार्बन डाई ऑक्साइड छोड़ते हैं, जो हमारी सेहत को नुसकान पहुंचाते हैं। इसी डर की वजह से लोग अपने घर में पौधों को लगाने के बजाए घर के बाहर उन्हें लगाना पसंद करते हैं। लेकिन कुछ पौधे ऐसे भी हैं, जो रात को कार्बनडाई ऑक्साइड के बजाए ऑक्सीजन ग्रहण करते हैं। ऑक्सीजन हमारी सेहत के साथ-साथ घर का वातावरण भी अच्छा बनाएं रखती है। इससे न केवल हमें शुद्ध हवा मिलती है। एलोबेरा, नागफनी, नीम, क्रिसमस ट्री और ऐरेका प्लम जैसे पौधे रात में भी ऑक्सिजन छोड़ते हैं। जिस पेड़ की पत्तियों का एरिया ज्यादा बड़ा होता है वह अधिक ऑक्सिजन छोड़ता है। इसमें पीपल का पेड़ शामिल है।

इन तरीकों से करें बचाव
ऐसे चीजों का उपयोग नहीं करना चाहिए, एयरोसोल और प्लास्टिक के कंटेनर, स्प्रे जिसमें क्लोरोफ्लोरोकार्बन है ज्यादा से ज्यादा पौधे लगाएं, घर के पीछे पार्क विकसित करने जैसी चीजों को बढ़ावा देना चाहिए। अपने वाहनों की लगातार सर्विंसिंग करवाते रहें ताकि उससे ज्यादा धुंआ न निकले। प्लास्टिक और रबर से बने टायर को जलाने से बचना चाहिए।

 

 

CATEGORIES
Share This

COMMENTS

error: Content is protected !!