यहाँ देशी-विदेशी पक्षियों की 225 से अधिक प्रजातियां पाई जाती है

यहाँ देशी-विदेशी पक्षियों की 225 से अधिक प्रजातियां पाई जाती है

एक वाघिन के चार शावकों को अपने कैमरे से किया कैद

भोपाल। वन मंत्री कुंवर विजय शाह (Forest Minister Kunwar Vijay Shah) ने सतपुड़ा टाईगर रिजर्व (Satpura Tiger Reserve) का भ्रमण कर यूनेस्को द्वारा विश्व धरोहर की संभावित सूची में शामिल होने पर यहाँ अगामी तैयारियों का जायजा लिया।वन मंत्री कुंवर विजय शाह ने सतपुड़ा टाईगर रिजर्व के निरिक्षण के दौरान वाघिन और चार शावकों को अपने कैमरे से कैद भी किया। उल्लेखनीय है कि टाईगर रिजर्व क्षेत्र में मादा वाघिन द्वारा हाल ही में एक साथ चार बच्चों को जन्म दिया गया है। वन मंत्री शाह ने बताया कि टाईगर रिजर्व में ग्रामों के विस्थापन और सुरक्षा की समुचित व्यवस्था के कारण यहाँ के वनों में बाघों की संख्या में बढ़ोत्तरी हुई है। यहाँ के वनों में बाघों के अलावा तेंदुआ, भालू, सोन कुत्ता और सांभर पाए जाते है। वन मंत्री ने बताया कि सतपुड़ा टाईगर रिजर्व जैव विविधता से समृद्ध है। यहाँ देशी-विदेशी पक्षियों की 225 से अधिक प्रजातियाँ सहित 1450 वनस्पतिक प्रजातियाँ पाई जाती है। यह क्षेत्र बायोस्फीयर रिजर्व (Biosphere reserve) के रूप में भी दर्ज है। वन मंत्री कुंवर शाह ने बताया कि विश्व धरोहर की संभावित सूची में सतपुड़ा टाईगर रिजर्व को शामिल करने से पर्यटकों की संख्या में अप्रत्‍याशित वृद्धि होगी, जिससे स्थानीय ग्रामीणों के रोजगार के अवसर भी बढ़ेंगे।

CATEGORIES
TAGS

COMMENTS

Wordpress (0)
Disqus ( )
error: Content is protected !!
%d bloggers like this: