आत्म-निर्भर मध्यप्रदेश और सुनहरे भविष्य के लिए तैयार टेराकोटा शिल्पकार

आत्म-निर्भर मध्यप्रदेश और सुनहरे भविष्य के लिए तैयार टेराकोटा शिल्पकार

मध्यप्रदेश खादी तथा ग्रामोद्योग बोर्ड द्वारा आयोजित प्रशिक्षण सम्पन्न

भोपाल। आत्म-निर्भर मध्यप्रदेश के सपने को साकार करने के उद्देश्य से मध्यप्रदेश खादी तथा ग्रामोद्योग बोर्ड(Madhya Pradesh Khadi and Village Industries Board)एवं मध्यप्रदेश माटी कला बोर्ड (Mati Kala Board) द्वारा मुख्यमंत्री कौशल संवर्धन योजना (Chief Minister Skill Promotion Scheme) (उन्नत हुनर-सशक्त कल) के तहत टेराकोटा के शिल्पकारों के लिए 18 फरवरी से 23 मार्च 2021 तक प्रशिक्षण आयोजित किया गया। उद्यमिता विकास केंद्र, मध्यप्रदेश (सेडमैप) सभागार में आज प्रशिक्षण के समापन समारोह में प्रशिक्षार्थियों द्वारा तैयार विभिन्न सजावटी टेराकोटा एवं मिट्टी की सामग्री की प्रदर्शनी भी लगाई गई।

प्रबंध संचालक, मध्यप्रदेश खादी तथा ग्रामोद्योग गौतम सिंह (Village Industries Gautam Singh) ने सभी प्रशिक्षार्थियों को उज्जवल भविष्य की शुभकामनाएँ दी। उन्होंने कहा कि कला के प्रति अभिरुचि और उसे रोजगार से जोड़ लेना महत्वपूर्ण कदम है। इससे रोजगार के साथ-साथ विशिष्ट पहचान बनाई जा सकती है। उन्होंने विश्वास जताया कि टेराकोटा शिल्प में ”उन्नत हुनर-सशक्त कल” के मूल सिद्धान्त पर आप जैसे होनहार शिल्पी चाक पर सुनहरे भविष्य को गढ़ते हुए आत्म-निर्भर मध्यप्रदेश के सपने को साकार करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभायेंगे। उन्होंने सभी प्रशिक्षार्थियों को प्रमाण-पत्र भी वितरित किए। इस अवसर पर उद्यमिता विकास केंद्र, मध्यप्रदेश (सेडमैप) के अधिकारियों के साथ ही मध्यप्रदेश खादी तथा ग्रामोद्योग एवं माटी कला बोर्ड के उप संचालक श्री बी.एस. चिढ़ार भी उपस्थित रहे।

CATEGORIES
TAGS

COMMENTS

Wordpress (0)
Disqus ( )
error: Content is protected !!
%d bloggers like this: