इको सेंसेटिव जोन के मास्टर प्लान की तैयारी पूर्ण

इको सेंसेटिव जोन के मास्टर प्लान की तैयारी पूर्ण

सतपुड़ा टाइगर रिजर्व नर्मदापुरम (Satpura Tiger Reserve Narmadapuram) की स्थानीय सलाहकार समिति की बैठक
नर्मदापुरम। कलेक्ट्रेट (Collectorate) के सभाकक्ष में सतपुड़ा टाइगर रिजर्व की स्थानीय सलाहकार समिति की बैठक कमिश्नर मालसिंह (Commissioner Malsingh) की अध्यक्षता में हुई। बैठक में कलेक्टर सहित जिले के सभी विधायक, घोड़ाडोंगरी विधायक के अलावा जिला महिला मोर्चा अध्यक्ष, उपसंचालक सतपुड़ा टाइगर रिजर्व (Deputy Director Satpura Tiger Reserve), अन्य समिति के सदस्य व संबंधित शासकीय सेवक उपस्थित रहे। बैठक के दौरान समिति के सचिव प्रधान अपर मुख्य वन संरक्षक पदेन फील्ड डायरेक्टर सतपुड़ा नेशनल पार्क एल कृष्णमूर्ति (Field Director Satpura National Park L Krishnamurthy) ने बताया कि इको सेंसेटिव जोन (Eco Sensitive Zone) के मास्टर प्लान (Master Plan) की तैयारी पूर्ण कर ली है, अनुमोदन उपरांत नए निर्माण कार्य की अनुमति दी जाएगी।

नये निर्माण रोकने एसडीएम को निर्देश

मड़ई के आसपास नए निर्माण कार्य को रोके जाने हेतु एसडीएम सोहागपुर (SDM Sohagpur) व सहायक संचालक सोहागपुर को निर्देश किया गया। बफर के सफर में नए स्थानों को विकसित किया जाएगा जिसमें स्थानीय लोगों को कौशल विकास के माध्यम से प्रशिक्षण देकर रोजगार मुहैया किया जाएगा। बागऱा बफर पर्यटन क्षेत्र में मचान से वन्य प्राणी दर्शन हेतु दो मचान का निर्माण पूर्ण किया है। बोरी अभ्यारण (Bori Sanctuary) की सीमा के अंतर्गत मल्लूपुरा बफर जोन में पर्यटकों हेतु प्रात: एवं सायं वाहन सफारी तथा रात्रि वाहन सफारी की सुविधा प्रारंभ की गई है।

पर्यटन सुविधा केन्द्र पर चर्चा

मढ़ई में पर्यटन सुविधा केंद्र एवं इंटरप्रिटेशन सेंटर (Interpretation Center) स्थापित करने पर चर्चा की गई। मढ़ई (Madhi) में 20 जिप्सी (Gypsy) पर बगीरा ऐप चालू कर वाहनों की गतिविधियों पर नियंत्रण किया जाना है। संबंधित टाइगर की रिजर्व की पर्यटन रणनीति, टाइगर रिजर्व की वाहन क्षमता, मढ़ई एवं पचमढ़ी (Pachmarhi) क्षेत्र में ध्वनि प्रदूषण व कचरा प्रबंधन पर चर्चा की गई।

CATEGORIES
Share This

AUTHORRohit

COMMENTS

error: Content is protected !!