विधायक डॉ शर्मा ने तमिल यात्रियों से कहा वणक्कम

विधायक डॉ शर्मा ने तमिल यात्रियों से कहा वणक्कम

इटारसी। काशी-तमिल संगमम् के यात्रियों का आज रेलवे स्टेशन पर पूर्व विधानसभा अध्यक्ष एवं विधायक डॉ सीतासरन शर्मा (Former Assembly Speaker and MLA Dr. Sitasaran Sharma) के नेतृत्व में स्वागत किया। यहां प्लेटफार्म नंबर 07 पर स्वागत में विधायक डॉ शर्मा ने यात्रियों को चंदन का तिलक लगाकर, ओम नम: शिवाय का अंग वस्त्र उड़ाकर, वणक्कम बोलकर स्वागत किया।

स्वागत कार्यक्रम के संयोजक नगरपालिका अध्यक्ष पंकज चौरे (Municipal President Pankaj Choure) के अलावा भाजपा पिछड़ा वर्ग मोर्चा जिलाध्यक्ष जयकिशोर चौधरी, जेडआरयूसीसी सदस्य राजा तिवारी, नगरपालिका उपाध्यक्ष निर्मल सिंह राजपूत, सभापति राकेश जाधव, मंजीत कलोसिया, पार्षद जिम्मी कैथवास, अमित विश्वास, शुभम गौर, कुंदन गौर, दिलीप गोस्वामी, नगर मंडल महामंत्री राहुल चौरे, संजीव हुरा, महिला मोर्चा जिला मंत्री ममता मालवीय, महिला मोर्चा अध्यक्ष बबिता चौहान, नगर मंडल इटारसी जागृति भदौरिया, महामंत्री राजकली बाबरिया, उपाध्यक्ष राजकुमारी वर्मा, नगरमंत्री विधि पचौरी, सह मीडिया प्रभारी विभा मालवीय, कोषाध्यक्ष क्षमा चावरे, ममता सोनी, रामवती वरखने, माया वरते, नगर मंत्री सरला लोट, माधुरी गौर, रानी रजत, भाजपा नेता देवेंद्र पटेल, डॉ मेजर पीएम पहाडिय़ा, आशीष मालवीय, ऋषभ चौहान, जिला मंत्री भाजयुमो गोपाल शर्मा, मनीष गालर, सोहन चौहान, शुभम पटेल, शुभम गौर, शुभम राजपूत, सौरभ राजपूत, शशांक मालवीय, सुद्दी गुप्ता सहित अन्य मौजूद थे।

इस अवसर पर विधायक डॉ शर्मा ने कहा कि काशी और तमिलनाडु में भारतीय संस्कृति के सभी तत्व समान रूप से संरक्षित हैं। तमिल भाषा का साहित्य अत्यंत प्राचीन और समृद्ध है। यह मान्यता है कि भगवान शिव के मुंह से जो दो भाषाएं निकलीं, उनमें तमिल और संस्कृत समान रूप से एक साथ निकलकर अपने समृद्ध साहित्य के लिए जानी जाती हैं।

विधायक डॉ शर्मा ने कहा कि यह हमारे लिए सौभाग्य का विषय तमिलनाडु के लोग काशी विश्वनाथ के दर्शन किए जा रहे हैं, वास्तव में भारत एक है, इसी इंटीग्रिटी को मजबूत करने के लिए, एक दूसरे से जोडऩे के लिए हमारे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) ने यह कार्यक्रम किया है।

डॉ शर्मा ने कहा कि वास्तव में आदि शंकराचार्य ने भारत को जोड़ा था, गंगोत्री से गंगा जल रामेश्वरम में चढ़ाया जाता था, आज उसी परंपरा को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पुनर्जीवित किया है। मैं तमिलनाडु से जो हमारे साथी आए हैं, उनका बहुत-बहुत अभिवादन, अभिनंदन करता हूं। उनका उत्साह और समर्पण भारत माता के प्रति वास्तव में सराहनीय है।

CATEGORIES
TAGS
Share This

COMMENTS

Wordpress (0)
Disqus (0 )
error: Content is protected !!