Vaccination Part2: आज आमंत्रित में से आधे लोगों ने कराया वैक्सीनेशन

Vaccination Part2: आज आमंत्रित में से आधे लोगों ने कराया वैक्सीनेशन

विधायक (MLA) ने फीता काटकर किया वैक्सीनेशन कक्ष का शुभारंभ

नोडल अधिकारी शिशु रोग विशेषज्ञ ने लगवाया पहला टीका

इटारसी। कोराना वैक्सीनेशन (Corona vaccination) के दूसरे दौर में आज सोमवार से डॉ श्यामाप्रसाद मुखर्जी शासकीय अस्पताल (Dr. Shyamaprasad Mukherjee Government Hospital) में वैक्सीनेशन कार्य प्रारंभ हुआ। चाइल्ड स्पेशलिस्ट और वैक्सीनेशन के नोडल अधिकारी डॉ. आरके चौधरी (Nodal Officer Dr. RK Chaudhary) ने पहला टीका लगवाया। पहले दिन सौ लोगों को वैक्सीन लगवाने मैसेज किये थे। लेकिन, केवल 55 लोगों ने ही वैक्सीन लगवाने में रुचि दिखायी। सिविल अस्पताल में कोरोना का टीका लगाने अलग कक्ष था, जहां जोन वाले को सभी औपचारिकताएं पूरी करके टीकाकरण कक्ष तक जाना पड़ा। विधायक डॉ. सीतासरन शर्मा (MLA Dr. Sitasaran Sharma) ने वैक्सीनेशन वार्ड का फीता काटकर शुभारंभ किया। इस अवसर पर एसडीएम एमएस रघुवंशी (SDM MS Raghuvanshi), आईएमए अध्यक्ष डॉ. आर दयाल (IMA President Dr. R. Dayal), भाजपा के वरिष्ठ नेता जगदीश मालवीय (Senior BJP leader Jagdish Malviya), विधायक प्रतिनिधि भरत वर्मा (MLA Representative Bharat Verma), अस्पताल अधीक्षक डॉ. एके शिवानी मौजूद रहे। नोडल अधिकारी डॉ. आरके चौधरी ने कोरोना टीकाकरण को लेकर जानकारियों से अवगत कराया। पहले दिन स्वास्थ्य विभाग से जुड़े सौ लोगों को कोरोना वैक्सीन लगाई जानी थी, लेकिन 55 लोगों ने ही वैक्सीन लगवाई।

पहली वैक्सीन नोडल अधिकारी डॉ. आरके चौधरी ने और दूसरी अधीक्षक डॉ. एके शिवानी ने लगवाई। वैक्सीनेशन के बाद उन्होंने कहा कि मुझे सबसे पहले वैक्सीन लगवाने का अवसर प्राप्त हुआ है। वैक्सीन को लेकर कोई भय नहीं है, अफवाहों पर ध्यान न दें। इसी प्रकार स्टाफ नर्स सारिका चौधरी ने भी वक्सीन लगवाई है। इस संबंध में उनका कहना है कि वैक्सीन लगने के पहले भय जरूर था लेकिन लगवाने के बाद मुझे कोई भी तकलीफ नहीं है, उन्होंने भी यही कहा कि वैक्सीन जरूर लगवाएं।

पुलिस की जांच के बाद ही प्रवेश
कोरोना वैक्सीन अस्पताल के जिस वार्ड में लगाई जा रही है, वहां पर दो पुलिस कर्मियों की ड्यूटी लगी है। वैक्सीन लगवाने वाले को सबसे पहले मोबाईल पर मैसेज भेजा जाता है। इसलिए उसके मैसेज और आधार कार्ड को देखने के बाद पुलिस द्वारा वार्ड में प्रवेश दिया जाता है। वैक्सीन लगने के बाद आधा घंटा तक वार्ड में भी बैठना पड़ता है, ताकि किसी को कोई दिक्कत हो तो उसे तत्काल उपचार दिया जा सके।

 

वक्सीन लगवाने नहीं दिखा उत्साह
शासकीय अस्पताल में कोरोना वैक्सीन लगाने का पहला दिन था, पहले दिन सौ लोगों को वैक्सीन लगनी थी, जिनके मोबाइल पर पहले से ही मैसेज किया जा चुका था, परंतु महिला एवं पुरूष स्वास्थ्य कर्मियों में कोई उत्साह नहीं दिखा। मैसेज मिलने के बाद भी जब टीकाकरण के लिए कई लोग नहीं आए तो उन्हें फोन करके बुलान पड़ा। खास बात यह है कि एक स्टाफ नर्स ने वैक्सीन लगवाने से इनकार कर दिया। वहीं तीन महिला स्टाफ गर्भवती है,चार बीमार हैं और एक सेवानिवृत्त हो चुके हैं।

इनका कहना है…
कोरोना का अंतिम चरण चल रहा है, बावजूद इसके जिनके पास मैसेज आ रहे हैं, वह वैक्सीन जरूर लगवाएं ताकि कोरोना को पूरी तरह मात दे सकें। वैक्सीन से डरने की आवश्यकता नहीं है।
डॉ. सीतासरन शर्मा (Dr. Sitasaran Sharma, MLA)

पहले चरण में चार सौ स्वास्थ्य कर्मियों को वैक्सीन लगाई जाएगी। पहले दिन 55 लोगों ने ही वैक्सीन लगवाई है। एक स्टाफ नर्स ने वक्सीन लगवाने से इनकार कर दिया है। इससे घबराएं नहीं मैंने स्वयं वक्सीन लगवाई है।
डॉ. एके शिवानी (Dr. AK Shivani, Superintendent Civil Hospital)

CATEGORIES
TAGS

COMMENTS

Wordpress (0)
Disqus ( )
error: Content is protected !!
%d bloggers like this:
Narmadanchal

FREE
VIEW