सावन में लगने वाला नागद्वारी मेला 01 से 10 अगस्त तक

सावन में लगने वाला नागद्वारी मेला 01 से 10 अगस्त तक

  • मेले में सभी व्यवस्थाओं के संबंध में कलेक्टर ने पचमढ़ी में ली अधिकारियों की बैठक
  • कलेक्टर ने मेले में परिवहन, सुरक्षा व चिकित्सा के पुख्ता इंतजाम सुनिश्चित करने दिए निर्देश

पचमढ़ी । सावन (Sawan) के पावन मास में पचमढ़ी (Pachmarhi) में लगने वाला मेला इस वर्ष 01 अगस्त से 10 अगस्त तक आयोजित किया जाएगा। मेले के बेहतर आयोजन के संबंध में सोमवार को कलेक्टर सोनिया मीना (Collector Sonia Meena) ने संजय गांधी संस्थान पचमढ़ी (Sanjay Gandhi Institute Pachmarhi) में अधिकारियों की बैठक ली। क्षेत्र संचालक सतपुड़ा टाइगर रिजर्व (Satpura Tiger Reserve) एल कृष्णमूर्ति (L Krishnamurthy), जिला पंचायत सीईओ एसएस रावत (SS Rawat), अतरिक्त पुलिस अधीक्षक बैठक में उपस्थित रहे। बैठक में मेला अवधि के दौरान ट्रैफिक व्यवस्था, पार्किंग, सड़क, बिजली, पेयजल, चिकित्सा आदि व्यवस्थाओं के संबंध में विस्तार से चर्चा की।

कंट्रोल रूम स्थापित करें

कलेक्टर ने एसडीएम पिपरिया को निर्देशित किया है कि नागद्वारी मेले के लिए कंट्रोल रूम स्थापित किया जाए साथ ही विभिन्न स्थानों पर वाहन किराया दर सूची एवं कंट्रोल रूम के दूरभाष नंबर के फ्लेक्स लगवाएं। जिससे आने वाले श्रद्धालुओं को किसी भी प्रकार की असुविधा का सामना ना करना पड़े।

मार्ग का मरम्मत कार्य सुनिश्चित करें

कलेक्टर सुश्री मीना ने लोक निर्माण विभाग को निर्देशित किया है कि आगामी दिवसों में संपूर्ण ट्रेक पर आवश्यक व्यवस्थाओं जैसे मेला मार्ग पर लोहे के पुल, सीढिय़ां, सड़क का रेस्टोरेशन, रैलिंग आदि की मरम्मत का कार्य सुनिश्चित करें, मुख्य स्थानों पर सांकेतक लगाने तथा लगे हुए बोड्र्स की मरम्मत करने के निर्देश दिए। मार्ग क्षतिग्रस्त या लैंडस्लाइड होने की स्थिति में तत्काल मरम्मत की जाएं। पचमढ़ी में निर्धारित प्रमुख स्थानों पर क्रेन की व्यवस्था भी रखें। वन विभाग से समन्वय कर वन्य प्राणियों के क्रॉसिंग पॉइंट्स और मुख्य मोड़ के पहले स्पीड ब्रेकर भी निर्मित किए जाएं।

स्वच्छ पेयजल की व्यवस्था करें

शुद्ध पेयजल की आपूर्ति सुनिश्चित करने के निर्देश लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग को दिए। श्रद्धालुओं के लिए पेयजल की व्यवस्था पुख्ता रखें, साथ ही नागद्वारी पहुंच मार्ग पर भी चिन्हित स्थानों पर पेयजल आपूर्ति रखें। कलेक्टर ने संबंधित अधिकारियों को निर्देश दिए हैं कि पेयजल की स्वच्छता एवं क्लोरिनेशन पर विशेष ध्यान दिया जाए। स्वास्थ्य विभाग को नागद्वारी मेले में आने वाले श्रद्धालुओं की चिकित्सा सहायता के लिए मेडिकल टीम की ड्यूटी लगाने के निर्देश दिये। चिकित्सा सहायता के लिए कैंपों पर मेडिकल टीम की तैनाती रोटेशन के आधार पर ड्यूटी लगाई जाए। मेला क्षेत्र में एंबुलेंस की व्यवस्था की जाए ताकि आवश्यकता पडऩे पर मरीज को पचमढ़ी में स्थित बेस हॉस्पिटल या अन्य दूसरे अस्पतालों तक चिकित्सा हेतु पहुंचाया जा सके।

ईंधन की पर्याप्त उपलब्धता करने के निर्देश

खाद्य विभाग के अधिकारियों को पचमढ़ी में पर्याप्त मात्रा में ईंधन की उपलब्धता सुनिश्चित करने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने एसडीम पिपरिया को निर्देशित किया है कि मेला अवधि के दौरान ड्यूटी में संलग्न कर्मचारियों की भोजन व्यवस्था आवश्यक रूप से सुनिश्चित की जाए। मुख्य स्थलों जैसे जलगली, चिंतामणि, कजरी आदि जगहों पर स्टाफ के भोजन की व्यवस्था की जाए।

सफाई व्यवस्था बनाए रखने निर्देशत

कलेक्टर ने साडा को पचमढ़ी एवं मेला क्षेत्र में मेला अवधि के दौरान स्वच्छता व्यवस्था बनाए रखने निर्देशित किया। साथ ही मेला क्षेत्र के अंतर्गत दुकानों, पार्किंग, टॉयलेट्स आदि के आस पास ब्लीचिंग पाउडर का छिड़काव भी सुनिश्चित करें। अस्थाई मोबाइल टॉयलेट्स विभिन्न नगर पालिकाओं से प्राप्त कर मेला क्षेत्र अंतर्गत विभिन्न स्थानों पर इंस्टॉल करवाएं। विद्युत विभाग को निर्बाध रूप से विद्युत आपूर्ति प्रदान करने के लिए निर्देशित किया।

अस्थाई पार्किंग एवं बस स्टैंड करें चिन्हित

कलेक्टर ने ट्रैफिक और पार्किंग की भी बेहतर व्यवस्थाएं सुनिश्चित करने के निर्देश दिए। साथ ही कहा कि रिजर्व पार्किंग की व्यवस्था भी करें। एसडीएम पिपरिया परिवहन विभाग के साथ समन्वय कर स्थान चिन्हित करें। पचमढ़ी आने वाले बस वाहनों को परिवहन विभाग द्वारा परमिट जारी किया जाए। परिवहन एवं पुलिस विभाग द्वारा बेहतर ढंग से समन्वय कर ट्रैफिक प्रबंधन किया जाए। प्रत्येक बस की मार्किंग करें। जाम की स्थिति निर्मित ना हो या सुनिश्चित करें। बसों की चेकिंग के लिए मटकुली और पगारा में व्यवस्थित चेकपोस्ट बनाया जाए।
आबकारी विभाग को निर्देशित किया है कि मेला अवधि के दौरान क्षेत्र में अवैध शराब मादक पदार्थ आदि की बिक्री ना हो यह सुनिश्चित करें, साथ ही साथ मेला मार्ग में शराब एवं मादक पदार्थ प्रतिबंधित रखना भी सुनिश्चित करें। उन्होंने नागद्वारी पहुंच मार्ग पर अग्निशामक यंत्र एवं फायर ब्रिगेड की व्यवस्था भी करने के लिए निर्देशित किया। कलेक्टर ने नागद्वारी पहुंच मार्ग में विभिन्न स्थानों पर डस्टबिन रखवाने के लिए भी निर्देश दिए 25 जुलाई से पहले यह सब व्यवस्थाएं सुनिश्चित कर लें।

मेला मंडलों के सदस्य से भी को विस्तार से चर्चा

बैठक के पश्चात कलेक्टर सुश्री मीना ने मेला मंडल के सदस्यों से भी मेला आयोजन के संबंध में विस्तार से चर्चा की एवं उनके सुझाव प्राप्त किए। प्राप्त सुझावों के आधार पर कलेक्टर ने मंडलों की मांग पर 25 जुलाई से 31 जुलाई तकमेला स्थल पर सामग्री ले जाने की अनुमति दी। इसके साथ ही मेला समाप्ति के पश्चात दो दिनों तक सामग्री वापस करने के लिए भी निर्देशित किया। मेले में प्लास्टिक के उपयोग पर प्रतिबंध रहेगा। मंडलों के सदस्यों से मेला अवधि के दौरान आवश्यक सफाई व्यवस्था बनाए रखने की बात कही।

Royal
CATEGORIES
Share This

AUTHORRohit

error: Content is protected !!