आनंद मिलता है फकीरी में – मुख्यमंत्री श्री चौहान

मुख्यमंत्री ने बताया आनंद उत्सव का महत्व

मुख्यमंत्री ने बताया आनंद उत्सव का महत्व
होशंगाबाद। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने आनंद उत्सव के शुभारंभ अवसर पर प्रदेश की जनता को संबोधित किया। उन्होंने आनंद का अनुभव की जानकारी देते हुए बताया कि आनंद धन, दौलत, साधन संपन्नता से नहीं आता है, फकीरी में जो आनंद है वो अमीरी में कहां है। मुख्यमंत्री ने कुछ उदाहरण देकर आनंद का महत्व बताया और कहा कि यदि हम से अच्छा कार्य हो जाए तो हम उस आनंद की कल्पना नहीं कर सकते हैं। हमें कई बार आनंद नृत्य में, संगीत में, खेलकूद में भी आता है। दूसरों की मदद करने से आता है।
मुख्यमंत्री ने कहा कि हम आनंद को प्रसन्नता से जीना चाहते हैं, दुखी होकर कोई भी जीना नहीं चाहता है। श्री चौहान ने कहा कि बच्चे कैसे तनाव मुक्त रहें इसके लिए पाठयक्रम में भी आनंद जोड़ा जाएगा, जिंदगी में भी एक सकारात्मक दृष्टिकोण ढूंढ़ा जाएगा, ऐसे स्वयंसेवक ढूढ़ रहे हैं जो लोगो में आनंद बांट सके। उन्होंने बताया कि आनंदम के रूप में 20 हजार से अधिक लोगों ने अपना पंजीयन कराया है और जो व्यक्ति स्वेच्छा से अपना पंजीयन करा सकते हैं वे दूरभाष नंबर 0755-2553333 पर अपना पंजीयन करा सकते हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि किसी को कुछ देने में जो सुख मिलता है उसको शब्दों में व्यक्त करना संभव नहीं है। यदि लोगों के पास जरूरत से ज्यादा उपयोगी वस्तुएं हैं तो वो उसे दूसरो के लिए रख दें। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश के हर जिले में आनंदम केन्द्र खोले जायेंगे। मुख्यमंत्री ने विभिन्न जिलो के लोगों से सीधा संवाद भी किया।
संभाग मुख्यालय स्थित सतरस्ते पर मुख्यमंत्री के कार्यक्रम की सीधे प्रसारण की व्यवस्था की गई थी जिसका लोगों ने भरपूर आनंद उठाया। इस दौरान जिला पंचायत के मुख्य कार्य पालन अधिकारी पीसी शर्मा, डिप्टी कलेक्टर मदन सिंह रघुवंशी, जनपद पंचायत होशंगाबाद के मुख्य कार्यपालन अधिकारी उदय सिंह भदौरिया भी मौजूद थे।

CATEGORIES
error: Content is protected !!
%d bloggers like this: