प्राकृतिक व शून्य बजट खेती को बढ़ावा देने होंगे विशेष प्रयास – कमिश्नर

सभी विकासखंड में दो-दो मॉडल ग्राम हुए चिन्हित

सभी विकासखंड में दो-दो मॉडल ग्राम हुए चिन्हित
होशंगाबाद। नर्मदापुरम् संभाग कमिश्नर श्री उमाकांत उमराव ने कहा कि नर्मदापुरम् संभाग के होशंगाबाद, बैतूल व हरदा जिले में प्राकृतिक खेती का बढ़ावा देने के तहत विशेष प्रयास किये जा रहे है। इसके लिए किसानो को शून्य बजट में खेती करने के लिए अर्थात बिना कोई लागत लगाए कृषि से अपनी आय 5 वर्ष में दुगनी करने के लिए प्रोत्साहित किया जा रहा है। इन्ही प्रयासो के तहत होशंगाबाद जिले के 48 किसानो को प्राकृतिक खेती अर्थात शून्य बजट में खेती करने का प्रशिक्षण गत दिवस आत्मा परियोजना होशंगाबाद के माध्यम से दिया गया है। प्रशिक्षण प्राप्त करने वाले किसान अपने खेतो में परम्परागत फसल के अलावा अन्य फसल भी लेंगे। कमिश्नर ने बताया कि किसानो को शून्य बजट में खेती करने के लिए प्रोत्साहित करने के लिए एवं किसानो की आय 5 वर्ष में दुगनी करने के लिए कृषकवार बेसलाइन सर्वे कर विभागवार कृषको की आवश्यकतानुसार प्रस्तावित कार्यक्रम तैयार किये जायेंगे। जिले में शुन्य बजट में खेती करने एवं कृषको की आय दुगनी करने के लिए सभी विकासखंडो में दो-दो मॉडल ग्रामो का चयन किया गया है। इन चयनित मॉडल ग्रामो में कृषि विभाग, पशुपालन विभाग, उद्यानिकी विभाग , डेरी पालन, दुग्ध पालन, कृषि वानकी विभाग द्वारा किसानो को सभी मूलभूत संसाधन उपलब्ध कराने का प्रयास करेंगे ताकि किसानो की आय 5 वर्ष में दुगनी हो जाए।
इन ग्रामों को किया गया चयनित
कमिश्नर ने नर्मदापुरम् संभाग के सभी विकासखंड से दो-दो मॉडल ग्रामो का चयन करने के निर्देश संबंधित अधिकारियो को दिए थे। इसी परिप्रेक्ष्य में बैतूल विकासखंड के ग्राम कुम्भारिया व भोगीटेड़ा का चयन मॉडल ग्राम के लिए किया गया है। शाहपुर के ग्राम भयावाड़ी, जामाबेहड़ा का, घोंड़ाडोंगरी के ग्राम जुवाड़ी, अनकावाड़ी का, चिचोली के ग्राम मलाजपुर व आमपुर का, मुलताई के ग्राम खेरवानी व करपा का, आमला के ग्राम बोरी, तोरणवाड़ा का, पट्टन के चिल्हारी व झिल्पाबिरोली का, भैंसदेही के ग्राम काटोल व बड़गांव का, आठनेर के जामठी व जावरा का, भीमपुर के ग्राम चिखली व रतनपुर का चयन मॉडल ग्राम बनाने के लिए किया गया है। हरदा विकासखंड के ग्राम खामा पड़वा व कुकरावद का टिमरनी के ग्राम छिदगांव तमोली व सौताडा का तथा खिरकिया के ग्राम दामोदरपुरा व देवपुर का माडल ग्राम के लिए चयन किया गया है। होशंगाबाद विकासखण्ड के ग्राम वमूरिया व बम्होरी खुर्द का, केसला के ग्राम बटकुई व धुरगाडपा का, बाबई के ग्राम बुधवाडा व सिमरौधा का, सिवनीमालवा के ग्राम परसवाडा व कांसखेडी का, पिपरिया के ग्राम डांडिया व शंखनी का, सोहागपुर के ग्राम बोदी व लखनपुर का तथा बनखेडी के ग्राम जैतवाडा व पांजरा का चयन मॉडल ग्राम के रूप में किया गया है। इन सभी चयनित ग्रामो में आधारभूत जानकारियां जुटा कर एक रोडमैप तैयार किया जा रहा है। ताकि इन माडल ग्रामो में कृषको को प्राकृतिक खेती व शून्य बजट खेटी के लिए प्रोत्साहित कर अगले 5 वर्षो में उनकी आय को दुगुना किया जाएगा।

CATEGORIES
error: Content is protected !!
%d bloggers like this: