राजस्व अधिकारी विभागीय कार्यों पर विशेष ध्यान दें – कलेक्टर

राजस्व अधिकारी विभागीय कार्यों पर विशेष ध्यान दें - कलेक्टर

होशंगाबाद। कलेक्ट्रेट के रेवा सभागार में राजस्व अधिकारियों की समीक्षा बैठक आयोजित की गई। बैठक में कलेक्टर अविनाश लवानिया ने कहा कि राजस्व अधिकारी विभागीय कार्यो पर विशेष ध्यान दें। नामान्तरण , बंटवारा तथा सीमांकन के प्रकरण तय समयसीमा में निराकृत करें। प्राकृतिक आपदा पीड़ितो को समय पर राहत राशि उपलब्ध कराएं। सार्वजनिक मार्गो तथा भवनों से अतिक्रमण कठोरता से हटाएं। अपने क्षेत्र में कानून और व्यवस्था बनाए रखने के साथ विकास कार्यो के क्रियान्वयन की भी समीक्षा करे।
कलेक्टर ने कहा कि स्वच्छ भारत मिशन के तहत जिले भर में शौचालयों के निर्माण का अभियान चलाया जा रहा है। जिले की कई ग्राम पंचायतें खुले में शौच से मुक्त हो गई हैं। पूरे जिले को खुले में शौच से मुक्त घोषित करने के लिए लगातार प्रयास किये जा रहे हैं। सभी एसडीएम हर सप्ताह बैठक आयोजित कर शौचालय निर्माण की प्रगति की समीक्षा करे। स्वच्छ भारत मिशन की लक्ष्य पूर्ति के लिए प्रभावी पहल करें। मैदानी कर्मचारियो के गाँव में नियमित भ्रमण तथा रात्रि विश्राम को सुनिश्चित करके खुले में शौच को रोकने के लिए सतत निगरानी कराएं। शौचालय निर्माण को गति देने के लिए स्वयंसेवी संस्थाओ, जन अभियान परिषद तथा सेवा निवृत्त कर्मचारियो का भी सहयोग लें।
कलेक्टर ने कहा कि जिले भर में गरीबो के लिए प्रधानमंत्री ग्रामीण आवास योजना से कुटीरो का निर्माण किया जा रहा है। इसके लिए आवश्यक भू अधिकार पत्र सभी तहसीलदार एक सप्ताह में उपलब्ध कराएं। राजस्व अधिकारियो की सक्रियता के कारण सिवनीमालवा तथा पिपरिया अनुभागो में शौचालय निर्माण में तेजी आई है
कलेक्टर ने कहा कि तापमान बढ़ने के साथ पेयजल की आपूर्ति में कठिनाई हो सकती है। क्षेत्र की हर बसाहट में पेयजल की आपूर्ति सुनिश्चित करने के लिए आवश्यक प्रबंध कराएं। ग्राम पंचायतो तथा पीएचई से पेयजल आपूर्ति की सतत जानकारी प्राप्त करे। जहां आवश्यक हो वहां परिवहन करके की पेयजल उपलब्ध कराए। समर्थन मूल्य पर गेहूं की खरीदी प्रारंभ हो गई है। गेहूं खरीदी केन्द्रों का नियमित निरीक्षण करे इन केन्द्रों मे खरीदी गये गेहूं के भंडारण, परिवहन तथा किसानो को किये जा रहे भुगतान की नियमित जानकारी लें। खरीदी केन्द्रों में किसानों को यदि किसी तरह की कठिनाई है तो उसका तत्काल निराकरण करे। राजस्व अधिकारी नियमित रूप से क्षेत्र का भ्रमण करे। भ्रमण के दौरान आंगनबाड़ी केन्द्रों, अस्पताल तथा उचित मूल्य दुकानो का अनिवार्य रूप से निरीक्षण करे।
कलेक्टर ने कहा कि सभी एसडीएम तथा तहसीलदार सीएम हैल्प लाइन एवं जन सुनवाई के आवेदन पत्रो का तत्परता से निराकरण करके प्रतिवेदन प्रस्तुत करे। आवेदकों से उनके द्वारा की गई मांग तथा शिकायत के संबंध में संपर्क करके चर्चा करे। आवेदन पत्रो का समयसीमा में निराकरण करे। बैठक में नक्शा डिजिटाइजेशन, लोक सेवा गारंटी योजना के प्रकरणो के निराकरण, राजस्व प्रकरणों के निराकरण, लंबित ऋणो की वसूली, जाति प्रमाण पत्र तथा आडिट आपत्तियों के निराकरण की समीक्षा की गई। बैठक में एडीएम मनोज सरियाम, जिला पंचायत के मुख्य कार्य पालन अधिकारी पी.सी.शर्मा, सभी एसडीएम, डिप्टी कलेक्टर, तहसीलदार, जनपदो के मुख्य कार्यपालन अधिकारी तथा संबंधित अधिकारी उपस्थित रहे।

CATEGORIES
error: Content is protected !!
%d bloggers like this: