राज्य के अंदर खरीदी पर टीडीएस देय होगा

राज्य के अंदर खरीदी पर टीडीएस देय होगा

होशंगाबाद। जिला वाणिज्य कर अधिकारी होशंगाबाद लता पाल ने वाणिज्य कर विभाग की बैठक में जिले के सभी आहरण संवितरण अधिकारियो को बताया कि वाणिज्य कर विभाग के अधिनियम में अब नवीन संसोधन किया है. नवीन संसाधनों के अनुसार यदि किसी विभाग ने 1 मार्च से 25 मार्च तक खरीदी सामग्री अथवा वक्र्स कांट्रेक्ट पर टीडीएस काटा है तो उस टीडीएस की राशि को उसे 30 मार्च तक अनिवार्य रूप से जिला कोषालय में जमा करवाना होगा। मध्यप्रदेश के अंदर किसी भी खरीदी व वक्र्स कांट्रेक्ट पर टीडीएस काटा जाएगा किंतु यदि खरीदी या वक्र्स कांट्रेक्ट राज्य के बाहर सम्पन्न हो रहे हो अथवा जिसके तहत किसी माल का अंतर प्रांतीय क्रय-विक्रय हो रहा है अथवा जहां किसी माल की खरीदी देश के बाहर से आयत के रूप में हो रही हो तो टीडीएस नहीं काटा जाएगा।
जिला वाणिज्य कर अधिकारी ने बताया कि टीडीएस करने वाले प्रत्येक डीडीओ के लिए यह अनिवार्य है कि वह म.प्र. वैट नियम 45(4) के तहत प्रत्येक वित्तीय वर्ष की समाप्ति के 30 दिन के अंदर अपने क्षैत्र से संबंधित वाणिज्यक कर वृत्त कार्यालय में प्रारूप 35 में एक स्टेटमेंट प्रस्तुत करें जिसमें उस वर्ष में किए गए समस्त टीडीएस का विवरण नहीं किया जाता है अथवा टीडीएस की राशि का भुगतान कोषालय में नियम तिथि तक नहीं किया जाता है तो वाणिज्य कर विभाग उस आहरण संवितरण अधिकारी पर टीडीएस की राशि का 2 प्रतिशत प्रतिमाह की दर से शास्ति आरोपित कर सकती है, जो टीडीएस की राशि का अधिकतम 25 प्रतिशत हो सकता है। इस शास्ति के अतिरिक्त टीडीएस की वह राशि संबंधित डीडीओ से भू-राजस्व की बकाया के रूप में वसूल की जा सकती है।

CATEGORIES
error: Content is protected !!
%d bloggers like this: