वन स्टाप सेन्टर का हुआ शुभारंभ

विभिन्न क्षेत्रों में कार्यरत महिलाओं का किया गया सम्मान

विभिन्न क्षेत्रों में कार्यरत महिलाओं का किया गया सम्मान
होशंगाबाद। अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस के अवसर पर जिला चिकित्सालय परिसर के रेडक्रास भवन में श्रीमती माया नरोलिया ने वन स्टाप सेन्टर (उषा किरण केन्द्र) का शुभारंभ किया। इस अवसर पर विभिन्न क्षेत्रों में उल्लेखनीय कार्य कर समाज को एक नई दिशा देने वाली महिलाओ व छात्राओं का सम्मान भी किया गया। कार्यक्रम अवसर पर मुख्य अतिथि के रूप में मौजूद श्रीमती माया नरोलिया ने अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस के अवसर पर कार्यक्रम को सम्बोधित महत्वपूर्ण करते हुए कहा कि समाज में नारी का ओहदा व सम्मान महत्वपूर्ण है। महिलाएं समाज को हरदम एक नई दिशा देने का कार्य करती है। उन्होने बताया कि आज देश की महिलाएं हर क्षैत्र में पुरूषो के साथ कंधे से कंधा मिलाकर देश के निर्माण में अपना बहुमूल्य योगदान दे रही है। स्वयं प्रदेश के मुख्यमंत्री बालिका शिक्षा व बेटी बचाओ अभियान में विशेष योगदान दे रहे है। साथ ही देश ने बेटी बचाओ बेटी पढाओ अभियान में उल्लेखनीय सफलता भी प्राप्त की है। श्रीमती नारोलिया ने कहा कि वन स्टाप सेन्टर के प्रारंभ होने से होशंगाबाद जिले में घरेलू हिंसा के प्रकरणो में महिलाओ को एक छत के नीचे ही समस्त सुविधाएं प्राप्त हो सकेगी।
जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी पी.सी. शर्मा ने अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस के अवसर पर समस्त महिलाओ को शुभकामनाएं देते हुए कहा कि आज महिलाएं हर क्षेत्र में पुरूषो के बराबर अपनी भागीदारी सुनिश्चित कर रही है।
अपर कलेक्टर श्री मनोज सरियाम ने कहा कि वन स्टाप केन्द्र की स्थापना से पिडित महिलाओ को एक ही छत के नीचे स्वास्थ, पुलिस, विधिक एवं प्रशासन द्वारा दी जाने वाली सुविधाएं एक साथ व नि:शुल्क मिल पाएगी।
संयुक्त संचालक महिला व बाल विकास एन.एस. तोमर ने अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस के अवसर पर सभी महिलाओ को प्रत्येक क्षैत्र में आत्मनिर्भर होकर उत्साह से कार्य करने की प्रेरणा दी।
जिला कार्यक्रम अधिकारी संजय त्रिपाठी ने कहा कि वन स्टाप केन्द्र की स्थापना से महिलाओ को घरेलू हिंसा के तहत भविष्य में हर संभव सहायता प्राप्त होगी। उन्होने सभी महिलाओ व बालिकाओ को आगे बढने की शुभकामनाएं दी।
इस अवसर पर श्रीमती माया नरोलिया ने पिपरिया की शिक्षक श्रीमती सुधा सिलावट द्वारा लिखित पुस्तक तलाश रोटी की का विमोचन किया गया तथा विभिन्न क्षेत्रों में उल्लेखनीय कार्य करने वाली महिलाओ का सम्मान भी किया गया।
जिनका सम्मान किया गया वे है
पर्यवेक्षक श्रीमती सुचित्रा रजावत, होशंगाबाद शहरी क्षैत्र की आंगनबाडी कार्यकर्ता अर्चना राजपूत, सुपरवाइजर श्रीमती किरण अहिरवार, आंगनबाडी कार्यकर्ता चिल्लौद सरला दूबे, मंडल संयोजक आदिम जाति विभाग दीपाली पठारिया, समाजसेवी अमृता ठाकुर, शोर्यादल की सदस्य शकुन लोवंशी, आकडा विश्लेषक नीलोफर बी, अधिवक्ता सरिता दुबे, सामाजिक कार्यकर्ता सिंधु दूबे, अधिक्षक भू-अभिलेख श्रीमती सरिता मालवीय, लिपिक नगर पालिका मंजू मालवीय व राखी चौकसे, सफाई कर्मी लीला बाई का सम्मान किया गया है। इस अवसर पर मेंहदी प्रतियोगिता में प्रथम स्थान प्राप्त करने पर प्रियंका पाल, द्वितीय स्थान पर पूजा मालवीय व तृतीय स्थान प्राप्त करने पर रूकसार खान को पुरस्कृत किया गया। आकर्षक गीत प्रस्तुत करने पर छात्रा गायत्री कतिया, मोहनी मेहरा, भावना मिश्रा को भी सम्मानित किया गया। इस अवसर पर आई आई टी की प्रशिक्षक सरिता तलहारकर व कविता प्रस्तुत करने पर कक्षा 6 वीं की छात्रा खुशबू मिश्रा को भी सम्मानित किया गया।
कार्यक्रम अवसर पर उप संचालक महिला सशक्तिकरण श्रीमती मोहनी जाधव, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ अधिकारी डा दिलीप कटेलिया, सहायक आयुक्त आदिवासी विकास भरत शर्मा, जिला महिला सशक्तिकरण अधिकारी सतीश भार्गव, समाजसेवी मनीष ठाकुर, श्रीमती रंजना मीना, समस्त विकास खण्ड महिला बाल विकास एवं सशक्तिकरण अधिकारी मौजूद थे।

CATEGORIES
error: Content is protected !!
%d bloggers like this: