सोमवार को यू ट्यूब पर आएगी शार्ट फिल्म तौबा

सोमवार को यू ट्यूब पर आएगी शार्ट फिल्म तौबा

होशंगाबाद के कलाकारों की अदाकारी को पहले ही मिल चुकी सराहना
होशंंगाबाद। धर्म भेदभाव नहीं करता, मानवता का धर्म ही सर्वोपरि है, दंगों पर बनी शार्टफिल्म तौबा में यह दिखाने का प्रयास किया है, नर्मदांचल के फिल्म निर्देशक परेश मसीह ने अपनी फिल्म में। इस शार्टफिल्म की ख़्ाासियत है, कि इसमें सभी स्थानीय कलाकारों ने काम किया है।
फिल्म बताती है कि कैसे साम्प्रदायिक उन्माद फैलाने वाले किसी धर्म, जाति के नहीं होकर केवल मानवता के दुश्मन होते हैं। ऐसे लोगों का हृदय परिवर्तन एक मासूस ने कैसे कर दिया। यह फिल्म सोमवार को यूट्यूब पर रिलीज की जा रही है।
यूट्यूब पर होशंगाबाद के कलाकार देश और दुनिया को बताएंगे कि साम्प्रदायिक दंगों की सच्चाई क्या है और इससे मानवता को क्या नुकसान हैं। साम्प्रदायिक दंगों की हकीकत बताने वाली शार्ट फि़ल्म तौबा सोमवार को यूट्यूब पर आ जायेगी। फि़ल्म के निर्देशक परेश मसीह ने बताया कि यह फिल्म छोटे परदे पर सोमवार को देखने को मिल सकेगी। फिल्म की कहानी सचिन हरी की है। फि़ल्म में शफीक खान, लोकेश तिवारी, मुबीन खान और बेबी अपूर्वा तिवारी ने प्रमुख भूमिका निभाई है। सभी नर्मदांचल के रंगमंचीय कलाकार हैं। फिल्म के निर्देशक परेश मसीह ने बताया की मौजूदा दौर में यूट्यूब के बढ़ते चलन को देखते हुए युवाओं ने मिलकर एक शार्ट फिल्म तैयार की है, जिसका उद्देश्य समाज में धर्म जाति के नाम पर लडऩे झगडऩे वाले लोगो को मिलजुलकर रहने का संदेश देना है।
फिल्म के पहली पंक्ति के कलाकार लोकेश तिवारी ने बताया कि 14 मिनट की इस फि़ल्म के प्रीमियर को लांच करने की तैयारी जोरों पर है। फिल्म के डायरेक्टर परेश मसीह ने अभी तक सम सामयिक विषयों और सामाजिक सरोकारों के मुद्दों पर फिल्मों का निर्देशन कर मुंबई में होशंगाबाद का नाम रोशन किया है। परेश मसीह और शरद सिंह को फि़ल्म पलायन के लिए छत्तीसगढ़ और बुंदेलखंड फिल्म फेस्टिवल में सम्मानित भी किया जा चुका है। श्री मसीह ने इससे पूर्व केसला अंचल में उन आदिवासियों के जीवन पर भी फिल्म बनायी थी, जिनकी गोला-गट्टू बीनते वक्त मौत हुई है।

CATEGORIES
error: Content is protected !!
%d bloggers like this: