90 से 100 प्रकार के पौधो का हुआ रोपण

समाज के सभी वर्गो ने इस प्रकार पुनीत कार्य मे निभाई सहभागिता

समाज के सभी वर्गो ने इस प्रकार पुनीत कार्य मे निभाई सहभागिता
होशंगाबाद। आज 2 जुलाई को प्रदेश के अन्य जिलो की तरह होशंगाबाद जिले मे भी विभिन्न प्रकार के वनस्पति पौधो के रोपण का कार्यक्रम अभूतपूर्व उत्साह व उमंग के साथ प्रारंभ हुआ। मां नर्मदा नदी के राइपेरियन जोन के किनारे-किनारे के क्षेत्र मे एवं विभिन्न ग्राम पंचायतो मे लोगो ने उत्साहपूर्वक पौधरोपण कर इस पुनित व पवित्र कार्य मे अपनी सहभागिता निभाई और लगाए पौधो की देखरेख व सुरक्षा का संकल्प भी लिया। मां नर्मदा नदी के राइपेरियन जोन व विभिन्न ग्राम पंचायतो मे लगभग 90 से 100 प्रकार के विविध प्रजाति के पौधो का रोपण किया गया जिसमे प्रमुख रूप से आम, कटहल, जाम, ऊमर, धाड़, हिगुआ, बमुरा, बारंगा, नीम, हर्रा, चिरगुड, निगुर्द आदि शामिल है।
नर्मदापुरम संभाग कमिश्नर श्री उमाकांत उमराव अपने प्रशासनिक अमले के साथ प्रात: ही राइपेरियन जोन का भ्रमण किया। कमिश्नर ने पिपरिया विकासखंड के ग्राम सहलवाडा पहुंचकर राइपेरियन जोन-2 मे पारस पीपल, जाम, अनार, कटहल का पौधा लगाया इस दौरान उन्होने गत 4 जून को लगाए बीजो मे हुए अंकुरण को देखा और प्रशन्नता व्यक्त की। लगाए गए अधिकांश बीज छोट-छोटे पौधो मे विकसित हो रहे है। बताया गया कि ग्राम मे 2 कि.मी. तक के क्षेत्र मे सागौन के पौधो का रोपण किया गया है। कमिश्नर ने कहा कि अतिवर्षा एवं बाढ की स्थिति मे भी उमर व अर्जुन के पौधे जीवित रहते है। उन्होने वहां उपस्थित नर्मदा परिवार के सदस्यो को गहरा गड्डा खोदकर पौधे लगाने के निर्देश दिए। ग्राम के सरपंच ने बताया कि अब तक गांव मे 4 हजार 225 पौधे लागाए गए है। कमिश्नर ने सहलवाडा ग्राम के ग्रामीणो का आभार व्यक्त किया जिन्होने इस पुनीत कार्य मे अपना महत्वपूर्ण योगदान दिया। इस दौरान कमिश्नर ने दण्डी स्वामी बृजेश्वरानंद जी से भी भेंट की।
कमिश्नर ने इसके पूर्व तहसील परिसर सोहागपुर मे अशोक, नीम, कदम के पौधो का रोपण किया। स्टीवर्ड ने पौधो की गणना भी की। एसडीएम श्री बृजेश सक्सेना ने बताया कि सोहागपुर मे महिलाएं सक्रिय रूप से अपनी भागीदारी निभा रही है। उन्होने बताया कि नगरपालिका द्वारा 7 हजार पौधो का रोपण किया गया है। कमिश्नर जब सोहागपुर के ग्राम अजेरा पहुंचे तो वहां उत्सव का माहौल था, नर्मदा अष्टक के पाठ के बीच कमिश्नर ने कटहल, आम, नीम के पौधो का रोपण राइपेरियन जोन मे किया, साथ ही उन्होने अपने साथ लाए पारस पीपल के बीज का रोपण भी किया। अजेरा मे एक यूनिट मे 1250 पौधो का रोपण किया गया एवं 2 हजार बांस के पौधे भी लगाए गए है। एक साइट पर 625 पौधो का भी रोपण किया गया है।
नाव मे बैठकर किया निरीक्षण
कमिश्नर श्री उमराव ने अजेरा मे हुए पौधरोपण का निरीक्षण नाव द्वारा किया। उन्होने नाव मे बैठकर राइपेरियन जोन मे हुए पौधरोपण का निरीक्षण किया और ग्रामीणो से कहा कि वे हर समय पौधो की देखभाल करे ताकि पौधे जीवित रहे। ग्रामीणो ने भी पौधो की सुरक्षा व देखभाल करने का आश्वासन कमिश्नर को दिया।
पौधो की पन्नी अलग कर हुआ पौधरोपण
कमिश्नर श्री उमाकांत उमराव के निर्देशो के पश्चात जिले के सभी स्थानो पर सभी लोगो ने पौधो मे लगी पन्नी को अलग कर, पन्नी को एक जगह एकत्रित कर पौधरोपण किया। उल्लेखनीय है कि गत दिवस कमिश्नर ने सभी को निर्देशित किया था कि वे पौधो को पन्नी से अलग करके ही पौधरोपण करे और पन्नी को इधर उधर न फेंक कर एक जगह एकत्रित करे। ताकि आसपास गंदगी न हो और हमारा पर्यावरण शुद्ध और स्वच्छ रहे। कमिश्नर के दिए गए निर्देश का सभी ने पालन किया।
बरसते पानी मे किया धानसी मे पौधरोपण
कमिश्नर बाबई विकासखंड के ग्राम धानसी पहुंचे तो लगातार मूसलाधार बारिश हो रही थी, कमिश्नर श्री उमराव व कलेक्टर श्री अविनाश लवानिया ने भारी बारिश मे पूजन अर्चन कर वनस्पति पौधो का रोपण किया। बताया गया कि एक हेक्टेयर के क्षेत्र मे 625 पौधे लागाए गए है। सभी पौधो की देखरेख पौधरक्षक करेगे। जिन्हे मनरेगा से मजदूरी की राशि दी जाएगी। पौधरोपण के दौरान जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री पी.सी.शर्मा, उपायुक्त राजस्व श्री संतोष वर्मा, तहसीलदार शिवानी पाण्डे, सी.ई.ओ.जनपद पंचायत बंदू सूर्यवंशी सहित अधिकारी व कर्मचारी गण मौजूद थे।

CATEGORIES
error: Content is protected !!
%d bloggers like this: