एक करोड़ के रोड को मिली पीडब्ल्यूडी से स्वीकृति

एक करोड़ के रोड को मिली पीडब्ल्यूडी से स्वीकृति

इटारसी। न्यास बायपास से खेड़ा पर निर्माणाधीन स्टेडियम के लिए एक करोड़ के रोड को मंजूरी मिल गई है। इसके बाद स्टेडियम तक जाने के लिए शहर से दूर नहीं बल्कि महज डेढ़ किलोमीटर की दूरी तय करनी होगी। यदि यह रोड नहीं होती तो यह दूरी ओवरब्रिज से होकर लगभग पांच किलोमीटर और न्यास बायपास से होकर लगभग तीन किलोमीटर होती।
करीब एक वर्ष पूर्व जब सोनासांवरी गांव को इटारसी से जोडऩे वाली पुलिया का उद्घाटन तत्कालीन लोक निर्माण मंत्री सरताज सिंह ने किया था, तब विधानसभा अध्यक्ष डॉ सीतासरन शर्मा ने उनसे स्टेडियम के लिए एप्रोच रोड की मांग की थी। श्री सिंह ने भी इसे मंजूर करने में देरी नहीं दिखाई और अपने उद्बोधन में मंजूरी दे दी। करीब एक करोड़ रुपए पुलिया बनाने की स्वीकृति मांगी थी। लोक निर्माण विभाग ने तत्कालीन मंत्री की घोषणा को पूर्ण कर दिया है। विस अध्यक्ष डॉ सीतासरन शर्मा ने स्वीकृति के बाद से ही अपनी ओर से अधिकारियों को इसके लिए राशि स्वीकृति के लिए प्रयास किए और उनके लगातार प्रयासों का ही नतीजा रहा है कि लोक निर्माण विभाग ने इस पुलिया के लिए 99.79 रुपए की स्वीकृति प्रदान कर दी।
अंडर ब्रिज से निकलेगी रोड
निर्माणाधीन स्टेडियम के लिए रोड रेलवे के ब्रिज के नीचे से निकाली जाएगी। लोक निर्माण विभाग ने इसके लिए तैयारी शुरु कर दी है। लोक निर्माण विभाग के अधिकारी रोड का मैप तैयार करके रेलवे से अनुमति के लिए आवेदन करेंगे। चूंकि रेलवे के ब्रिज के नीचे से रोड निकाली जानी है तो रेलवे की अनुमति अनिवार्य है। विभागीय अधिकारियों के अनुसार रेलवे के पास प्रस्ताव भेजा जाएगा। पुल के नीचे रेलवे ही काम करेगी, बाहर की तरफ का काम लोक निर्माण विभाग करेगा।
यहां से जाएगी रोड
स्टेडियम पहुंच मार्ग की लंबाई करीब 1।6 किलोमीटर अनुमानित है और चौड़ाई 3।75 मीटर रहेगी। यह रोड न्यास कालोनी बायपास से सांकलिया नाले के समानांतर निकलेगी तथा रेलवे पुल के नीचे से स्टेडियम तक पहुंचेगी। इस रोड के बन जाने से शहर से स्टेडियम तक पहुंच आसान हो जाएगी। लोक निर्माण के अधिकारियों के मुताबिक अभी टेंडर प्रक्रिया होने में करीब एक माह का वक्त गुजर जाएगा। रेलवे से अनुमति और मार्ग निर्माण आदि में करीब चार माह का वक्त लगने की संभावना है। लोनिव के एसडीओ अनिल मेहतो के अनुसार सारी प्रक्रिया पूर्ण होने में तीन से चार माह का वक्त तो निश्चित लगेगा।

CATEGORIES
error: Content is protected !!
%d bloggers like this: