कैंसिल नहीं हो सकेगी मूंग, ग्रेडिंग की व्यवस्था की

कैंसिल नहीं हो सकेगी मूंग, ग्रेडिंग की व्यवस्था की

इटारसी। मंडी में मूंग लेकर आ रहे किसान अब निजी ग्रेडिंग करने वालों से उपज की ग्रेडिंग कराके फसल बेचने मंडी आ सकते हैं। दरअसल मूंग में मिट्टी और कचरे के कारण एफएक्यू प्रभावित हो रहा था। इससे किसानों की उपज की खरीद नहीं हो रही थी तथा प्रशासन और किसानों के बीच टकराव की स्थिति बन रही थी।
एसडीएम अभिषेक गेहलोत ने सभी ग्रेडिंग मशीन संचालकों को बुलाकर एक बैठक ली गई। सभी को निर्देशित किया गया है कि मंडी से यदि किसान ग्रेडिंग कराने आता है, तो उसकी उपज की ग्रेडिंग प्राथमिकता की जाए। इसके साथ सभी का 90 रुपए क्विंटल रेट निर्धारित कर दिया गया है।
30 जून से बढ़ सकती अवधि
मंडी में समर्थन मूल्य पर मूंग की खरीद की अंतिम तिथि 30 जून निर्धारित है। लेकिन, लगातार किसानों का विरोध, अवकाश और आंदोलन के कारण खरीद कार्य प्रभावित हो रहा था। अत: इस अवधि के बढऩे की संभावना है. गौरतलब है कि इस बार नागरिक आपूर्ति निगम के माध्यम से दलहन की खरीदी कर रहा है. मूंग के अलावा अन्य दलहन खरीदी की जा रही है।
इनका कहना है…!
अब समर्थन मूल्य पर विक्रय के लिए लायी जाने वाली किसी भी उपज की खरीद कैंसिल नहीं की जा रही है। यदि उपज में कचरा मिट्टी है तो उसे किसान को ग्रेडिंग कराके लाने की सलाह दी जा रही है, जो किसान ग्रेडिंग कराकर ला रहा है, उसकी उपज की खरीदी हो रही है।
अभिषेक गेहलोत, एसडीएम

CATEGORIES
error: Content is protected !!
%d bloggers like this: