कैसे शराब पीना बन गया, रजनी की मौत कारण

कैसे शराब पीना बन गया, रजनी की मौत कारण

इटारसी। होली के दूसरे दिन पथरोटा थानांतर्गत एक खेत में मिली आदिवासी महिला रजनी की लाश के मामले में पुलिस ने गुत्थी सुलझा ली है। महिला की हत्या उसी व्यक्ति दिनेश चिमानिया ने की है, जिसके खेत के टप्पर में महिला रह रही थी। यह भी पता चला है कि महिला दिनेश के साथ पिछले कई सालों से लिव-इन-रिलेशनशिप में रह रही थी। महिला से दिनेश के पहले से ही दो बच्चे थे। पुलिस ने संजीदगी से जांच करके आरोपी को पकडा है। बताया जाता है कि महिला रजनी शराब पीने की आदी थी और दिनेश और रजनी के बीच शराब पीने को लेकर ही विवाद हुआ था। दिनेश की बात नहीं मानने पर उसने रजनी की लाठियों से पिटाई कर दी जिससे उसकी मौत हो गई। पुलिस ने एक सप्ताह में ही हत्या के इस मामले का खुलासा कर दिया है;
it19317 (1)आज पथरोटा थाने में हत्या का खुलासा करते हुए एसडीओपी अनिल सिंह ने बताया कि जांच के दौरान शुरूआती दिनों में दिनेश पुलिस के साथ रहा, लेकिन जैसे ही उसे भनक लगी कि अब पुलिस उस तक पहुंच जाएगी तो वह भाग निकला। हालांकि पुलिस ने उसे जल्द ही गिरफ्तार कर लिया। पुलिस ने बताया कि होली के दिन रजनी ने ग्राम कुबड़ाखेड़ी जाकर शराब पीने को कहा था तो दिनेश ने उसे मना किया था। रजनी उसकी बात नहीं मानी और शराब पीने पहुंच गई। जब वह लौट रही थी तो रास्ते में संतोश के खेत के पास उसे दिनेश मिल गया। रजनी के साथ बुजुर्ग महिला भी थी। रजनी को शराब पिए हुए देख उसने गुस्से में झगड़ा शुरू करके मारपीट कर दी। पहले तो बुजुर्ग महिला ने बीच-बचाव किया लेकिन बाद में वह भी वहां से चली गई। दिनेश ने गुस्से में रजनी की नाक पर डंडा दे मारा और वहां से चला गया। दूसरे दिन जब वह घटनास्थल पहुंचा तो रजनी वहां मरी मिली। उसने डरकर लाश को टप्पगर में लाकर रख दिया और पुलिस को सूचना दी। पहले दिन से ही पुलिस को दिनेश पर संदेह था, लेकिन पूर्ण रूप से उसके खिलाफ सबूत एक़त्र करने में एक सप्ताह का वक्त लग गया। पुलिस ने एक सप्ताह में एसपी आशुतोष प्रताप सिंह के निर्देशन और एसडीओपी अनिल शर्मा के नेतृत्व में मामले का खुलासा कर आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है।

CATEGORIES
error: Content is protected !!
%d bloggers like this: