खाने की गुणवत्ता पर उठे सवालों का अफसरों पर जवाब नहीं

75 जोड़े बने जीवन के हमराही केसला में हुए मुख्यमंत्री कन्यादान योजना के विवाह

75 जोड़े बने जीवन के हमराही
केसला में हुए मुख्यमंत्री कन्यादान योजना के विवाह
इटारसी। विकासखंड मुख्यालय केसला के नवीन हाट बाज़ार में हुए मुख्यमंत्री कन्यादान योजना के विवाह समारोह में आए लोगों को दो निवाले की बदबूदार सब्ज़ी, आठ पूड़ी और एक लौंची के टुकड़े को खाकर पेट भरकर पानी पीना पड़ा। मीठे के नाम पर जो बर्फी दी गई वह बेसन की न नहीं थी और काफी कड़वी भी लग रही थी। ग्राम पंचायत के भवन से वर-वधु पक्ष के लिए भोजन के पैकेट वितरित किए और समारोह में आए ज्यादातर आदिवासी परिवारों ने कड़ी धूप में लाइन लगकर खाने के पैकेट प्राप्त किए। चूंकि खाना दोपहर में बंटना शुरु हुआ और साढ़े तीन बजे तक पैकेट खत्म हो गए जबकि तब भी करीब डेढ़ सौ लोग ऐसे बाहर खाने का इंतज़ार कर रहे थे जिन्हें भोजन नहीं मिला था।
it22417 (3)भूखे पेट, धूप में खड़े आदिवासियों की मजबूरी थी, इस खाने से अपनी भूख मिटाना, जिसे जनप्रतिनिधि भी गुणवत्ताहीन कह रहे थे। खाने की गुणवत्ता और मामले में बवाल होने की सूचना के बाद जनपद सीईओ सीपी सोनी ने अपना मोबाइल ही बंद कर लिया। मौके पर मौजूद मीडियाकर्मियों ने यह सूचना एसडीएम अभिषेक गेहलोत, खाद्य सुरक्षा अधिकारी शिवराज पावक को भी पहुंचायी। श्री पावक ने भी खाद्य एवं औषधि अधिकारी लीना नायक को भेजा जिन्होंने वहां से लौंजी और बर्फी के सेंपल एकत्र किए हैं।
भावी जीवनसंगनी को लगी गर्मी
केसला ब्लाक मुख्यालय पर आज जनपद पंचायत के तत्वावधान में मुख्यमंत्री सामूहिक कन्या विवाह समारोह का आयोजन किया था। आयोजन में हर तरफ अव्यवस्था थी। न तो बैठने के लिए पर्याप्त कुर्सियां थीं, ना ही गर्मी से बचने पर्याप्त इंतज़ाम, पूरे पंडाल में कुछेक पंखे लगाकर रस्म अदायगी की गई थी। ज्यादातर दूल्हे अपनी भावी जीवन संगनी को गर्मी से बचाने के लिए पंखे से हवा करते रहे। खाने की बदइंतजामी सबसे ज्यादा अखरने वाली थी, क्योंकि भीषण गर्मी में घंटों के थका देने वाले समारोह के बाद जब खाना हाथ में आया तो पेट भरने की मजबूरी में आदिवासी परिवारों ने मन मारकर वो खाना भी खाया।
इनका कहना है…!
खाने की शिकायत मिली तो हमने भी खाना चखकर देखा है। वाकई इसकी गुणवत्ता ठीक नहीं है और मात्रा भी कम है। इस मामले में हम जनपद में चर्चा करके जांच कराएंगे और दोषियों पर कार्रवाई की मांग करेंगे।
शैलेन्द्र दीक्षित, सांसद प्रतिनिधि
खाने की गुणवत्ता ठीक नहीं है। सब्जी में थोड़ी सी बदबू भी आ रही है और केवल दो पूड़ी खाने जितनी है। आयोजन के अंतर्गत भोजन समिति भी बनायी गई थी। इस मामले में जिम्मेदार अधिकारियों से जवाब मांगा जाना चाहिए। इससे प्रतिष्ठा खराब होती है।
प्रमेश मालवीय
हम काफी देर से धूप में खड़े हैं, टोकन मिला है, लेकिन खाना अब तक नहीं मिला है। धूप में खड़े रहकर तबीयत भी ठीक नहीं लग रही। जिनको मिला है, उनका खाना देखा गुणवत्ता भी अच्छी नहीं है।
सुरेश इवने, पूर्व जनपद सदस्य जामई कलॉ

सूचना मिलने पर हमने लौंजी और बर्फी का सेंपल कराया है। कुछ लोगों से बातचीत भी हुई है, मिठाई में बदबू की शिकायत मिली है। सेंपल जांच के बाद जो रिजल्ट मिलेंगे उसके अनुसार कार्रवाई की जाएगी। इसी तरह से ऐसे आयोजन में सूचना मिलने पर जांच भी की जाएगी।
शिवराज पावक, खाद्य सुरक्षा अधिकारी होशंगाबाद
it22417 (4)75 जोड़े बने जीवन के हमराही
केसला में हुए मुख्यमंत्री कन्या विवाह योजना में ब्लाक के 75 जोड़े हमराही बने। एक ही पंडाल के नीचे बनी बेदियों पर फेरे हुए, साथ जीने-मरने की कसमें खायी गईं। साथ निभाने के वचन लिए गए और दाम्पत्य का अर्थ बताकर जीवन जीने की प्रेरणा दी गईं। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि सोहागपुर विधायक ठाकुर विजयपाल सिंह ने वर-वधुओं को आशीर्वाद देकर कहा कि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने प्रदेश के बेटे-बेटियों को अपना माना है। नवयुगल जीवन में सामंजस से काम लें और सुखी जिंदगी बिताएं। उन्होंने जोड़ों को योजनांतर्गत शासन की ओर से दी जाने वाली सामग्री वितरित की। सांसद प्रतिनिधि शैलेन्द्र दीक्षित और जनपद पंचायत अध्यक्ष गनपत उईके, उपाध्यक्ष सुनील चौधरी ने भी समारोह को संबोधित किया। कार्यक्रम में जनपद सीईओ सीपी सोनी, जिला पंचायत सदस्य तारा बरकड़े, प्रमेश मालवीय, नायब तहसीलदार नर्बदा प्रसाद शर्मा, बीईओ श्रीमती आशा मौर्य, जनपद सदस्य अजय महालहा, मनोज गुलबांके सहित अनेक सदस्य मौजूद थे।

CATEGORIES
error: Content is protected !!
%d bloggers like this: