गर्मी का असर, ट्रेनों को भी नहीं मिल रहा पानी

दस दिन से हो रही है लगातार परेशानी, आज भी काफी देर बंद रही वाटरिंग

दस दिन से हो रही है लगातार परेशानी, आज भी काफी देर बंद रही वाटरिंग
इटारसी। दस दिन से ट्रेनों में वाटरिंग की दिक्कत आ रही है और जब तक गर्मी रहेगी, यह स्थिति बनी रहेगी। गर्मी में पानी की किल्लत होने सेट्रेनों को पानी देने में कुछ न कुछ परेशानी आ रही है। आज फिर करीब तीन घंटे पानी नहीं दिया जा सका। विभागीय अधिकारी बताते हैं कि गर्मी में यह होता है और आगे भी होगा। जब तक तवा से आने वाले पानी से टंकी भरी जाती है, उतनी देर वाटरिंग नहीं की जाती है। जब टंकी भर जाती है तो पुन: वाटरिंग शुरु कर दी जाती है, आज भी यही किया गया।
ट्रेनों में वाटरिंग नहीं होने से यात्रियों को पानी नहीं मिलता है और उनको नित्य क्रिया के लिए परेशान होना पड़ता है। प्रदेश के इस महत्वपूर्ण रेल जंक्शन से करीब दो सैंकड़ा यात्री ट्रेनें गुज़रती हैं। इनमें इटारसी रेलवे स्टेशन पर वाटरिंग की जाती है। सीएंडडब्ल्यू के सीनियर सेक्शन इंजीनियर एचके तिवारी ने बताया कि पानी नहीं मिलने से वाटरिंग प्रभावित हुई है और गर्मी में यह कोई नई बात नहीं है, टंकी भरने तक वाटरिंग बंद रहती है, आगे भी ऐसा होता रहेगा।
सवा सौ ट्रेनों में दिया जाता पानी
इटारसी रेल जंक्शन पर चौबीस घंटे में गुज़रने वाली करीब दो सैंकड़ा ट्रेनों में से करीब 130 ट्रेनों में यहां से पानी भरा जाता है। जब करीब दो दर्जन ट्रेनों में यहां पानी नहीं भरा जा सका तो आगे के स्टेशनों भोपाल, जबलपुर बैतूल और खंडवा को मैसेज करना पड़ता है ताकि वहां जब ये ट्रेन पहुंचे तो यात्रियों को पानी मिल सके। रेलवे स्टेशन पर ग्रीष्मकाल में पानी की खपत दोगुनी हो जाती है। रोज 50 लाख लीटर पानी मिल रहा है, जबकि जरूरत 80 लाख लीटर की रहती है। पानी से प्लेटफार्म की सफाई, शौचालयों में लोडिंग के लिए पानी लगता है। तवा नदी से भी पानी सप्लाई कम होने वाटरिंग प्रभावित हो रही है। ग्रीष्मकाल में जरूरत के अनुसार पानी नहीं पहुंच रहा है, इस वजह से आए दिन वाटरिंग सप्लाई ठप हो रही है। आज भी तवा से पानी नहीं मिलने के कारण कई ट्रेनों को यहां से बिना वाटरिंग रवाना करना पड़ा और अगले स्टेशनों पर इसकी सूचना भेजी गई ताकि वहां ट्रेनों में पानी का इंतजाम किया जा सके।
इनका कहना है…!
गर्मियों में पानी की कमी से ट्रेन में वाटरिंग होना कोई आश्चर्य की बात नहीं, जब तक गर्मी है, पानी की कमी रहेगी और ऐसा होता रहेगा। टंकी भरने तक वाटरिंग बंद रहती है और इस दौरान पंद्रह से बीस ट्रेनों में वाटरिंग नहीं हो पाती है।
एचएस तिवारी, सीनियर सेक्शन इंजीनियर सीएंडडब्ल्यू

CATEGORIES
error: Content is protected !!
%d bloggers like this: