जनता कर्फ्यू : आह्वान को मिल रहा समर्थन

जनता कर्फ्यू : आह्वान को मिल रहा समर्थन

इटारसी। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा गुरुवार की शाम को जनता कर्फ्यू का हो आह्वान किया है, उसको समर्थन मिल रहा है। शहर में सामाजिक संगठनों ने इसको समर्थन की घोषणा कर सामाजिक सदस्यों के लिए अपील जारी की है।
उल्लेखनीय है कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने गुरुवार की शाम को देश के नाम संदेश में 22 मार्च, रविवार को जनता कफ्र्यू के माध्यम से नागरिकों से इस दिन सुबह 7 से रात 9 बजे तक अपने घरों में रहने का अनुरोध किया है। इस अपील का सामाजिक संगठनों और निजी स्तर पर भी लोगों ने समर्थन व्यक्त किया है।


एक अप्रैल तक बंद रहेगी धर्मशाला
नोवेल कोरोना से सावधानी के चलते जिला प्रशासन की सलाह पर चौरिया कुर्मी समाज की धर्मशाला को भी एक अप्रैल तक सार्वजनिक कार्यों के लिए बंद कर दिया है। यह निर्णय धर्मशाला संचालन समिति की बैठक के बाद लिया गया।
उल्लेखनीय है कि मंगलवारा घाट नर्मदा तट पर स्थित चौरिया कुर्मी समाज की धर्मशाला में शादी, विवाह, फलदान, मुंडन एवं भंडारे जैसे सामाजिक कार्यक्रम प्रतिदिन सामूहिक रूप से होते हैं, जिनमें सैकड़ों, हजारों जन शामिल होते हैं। सामाजिक कार्यों के अलावा देशभर से आने वाले साधु, संत एवं नर्मदापरिक्रमावासी भी धर्मशाला में ठहरते हैं। अत: वर्तमान समय में फैल रहे कोरोना वायरस का संक्रमण यहां न फैले इसके मद्देनजर चौरिया कुर्मी समाज धर्मशाला संचालन समिति की बैठक आज शुक्रवार को धर्मशाला कार्यालय में हुई, जिसमें निर्णय लिया कि धर्मशाला में 1 अप्रैल तक सभी प्रकार सामूहिक सार्वजनिक कार्यक्रम नहीं होंगे और ना ही बाहर से आने वाले साधु संत एवं नर्मदा परिक्रमावासियों को ठहराया जाएगा। जो रुके हुए हैं उन्हें भी यहां से हटा दिया है। धर्मशाला मंदिर समिति के अध्यक्ष शिवशंकर झलिया, उपाध्यक्ष नरेश अरक्का, कोषाध्यक्ष शंकरलाल चौरे एवं सचिव महेश पटेल ने सभी समाज के लोगों से अपील की है कि वह 1 अप्रैल तक चौरिया कुर्मी धर्मशाला मंगलवारा घाट होशंगाबाद में सामूहिक सामाजिक कार्यों के लिए न आएं। अब दो अप्रैल श्रीरामनवमी से ही धर्मशाला पुन: प्रारंभ होगी।

जैन समाज करेगा पालन
प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की अपील पर जैन समाज जनता कफ्र्यू का पालन करेगा। समाज के वरिष्ठ अधिवक्ता दीपक जैन ने सभी सामाजिक सदस्यों से निवेदन किया है कि वे जनता कफ्र्यू का पालन करें और 22 मार्च, रविवार को सुबह जल्दी मंदिर से अपने आध्यात्मिक कर्म निबटाने के बाद वापस अपने घर पहुंचें। श्री जैन ने कहा कि सभी सामाजिक बंधु समाज हित, देश हित में, प्रधानमंत्री की अपील को दृष्टिगत रखते हुये और स्वयं के निर्णय को सर्वोपरि रखते हुए रविवार 22 मार्च 2020 को प्रात: 7 बजे के पूर्व सभी श्रावक सभी मंदिर में अभिषेक पूजन एवं दर्शन उपरांत अपने निवास पहुंचकर कर अपने-अपने निवास स्थान पर ही रहेेंगे। उन्होंने समाज से आग्रह किया है कि रात 9 बजे के पश्चात मंदिर में आरती करें। उक्त निर्णय अपने स्वयं के हित के लिए समाज के हित के लिए एवं देश हित के लिए किया जा रहा है लिहाजा रविवार प्रात: 7 के बाद मंदिर के पट बंद कर दिये जाएं।

पालन करने की अपील
कोरोना वायरस से बचाव और सतर्कता के लिए प्रधानमंत्री के जनता कर्फ्यू के आह्वान का कान्यकुब्ज ब्राह्मण संगठन इटारसी ने स्वागत और समर्थन किया है। कान्यकुब्ज परिवार ने सभी से रविवार 22 मार्च को सुबह 7 बजे से रात 9 बजे तक जनता कर्फ्यू के पालन की अपील की है। उन्होंने आग्रह किया है कि इस दौरान घरों से बाहर न निकलें, ना सड़क पर जाएं,ना मोहल्ले में जमा हों। कान्यकुब्ज संगठन ने सभी सामाजिक सदस्यों से आग्रह किया है कि वे उसी दिन प्रधानमंत्री द्वारा बताये तरीके से उन सेवाकर्मियों का आभार व्यक्त करें, जो अपनी परवाह न करते हुये, कोरोना महामारी में मानव सेवा में लगे हुये हंै। चाहे वे डाक्टर हों, नर्सेस हों, सरकारी कर्मचारी हों, पुलिस हों या मीडियाकमी। 22 मार्च को शाम 5 बजे अपने घर के दरवाजे पर खड़े होकर ताली बजाकर, घंटी बजाकर, थाली बजाकर उनका सांकेतिक अभिवादन करें। वायरस के खतरे को देखते हुए कान्यकुब्ज परिवार ने 22 मार्च को बलराम शुक्ला के निवास शिवराजपुरी कालोनी पर आयोजित मासिक बैठक को रद्द कर दिया है।

CATEGORIES
TAGS

COMMENTS

Wordpress (0)
Disqus ( )
error: Content is protected !!
%d bloggers like this: