प्रेम से पुकारते ही परमात्मा प्रकट होते हैं

दिल खोल कर की मदद

श्रीमद् भागवत कथा में मना श्रीकृष्ण जन्मोत्सव
इटारसी। भक्त ने प्रेमपूवर्क परमात्मा को पुकारा है, वह भक्त की पुकार पर इस धरा पर आये हैं। उक्त बात श्री द्वारिकाधीश मंदिर परिसर में चल रही श्रीमद् भागवत कथा में पं.विवेकानंद तिवारी ने कही।
चौथे दिन भक्त संत पंडित भगवती प्रसाद तिवारी भी कथास्थल पर आए और उन्होंने भी भक्तों को भक्ति मार्ग दिखाया। उन्होंने कहा कि ईश्वर के प्रति अटूट श्रद्धा, ध्यान और समपर्ण ही मानव को दुखों से छुटकारा दिलाते हंैै। ध्यान से छूटते ही मनुष्य अन्याय के मार्ग को अपनाता है। मीराबाई और ध्रुव की भक्ति का उल्लेख करते हुऐ भक्ति की परिभाषा का सुन्दर चि़त्रण उपस्थित श्रोताओं के समक्ष किया। पंडित विवेकानंद तिवारी ने भक्त पहलाद एवं भक्त नामदेव की भक्ति का चित्रण करते हुए कहा की प्रेम से पुकारने पर परमात्मा हर समय हर युग में प्रकट होते हैं। कथा के अंतिम पहर में श्रीकृष्ण जन्मोत्सव भी सचित्र झांकी के साथ हर्षोल्लास से मनाया।
दिल खोल कर की मदद
कथा के चौथे दिन पं. भगवती प्रसाद तिवारी के सानिध्य में मानवता की मिसाल भी दिखाई दी। यजमान प्रमोद पगारे के आग्रह पर समस्त भक्तों ने कैंसर पीडि़त बालक अंश राजपूत के उपचार के लिये दिल खोलकर दान दिया। कथा के शुभारंभ में कार्यक्रम संयोजक प्रमोद पगारे ने नयायार्ड के कैंसर पीडित बालक अंश राजपूत की पारिवारिक गरीब स्थिति से उपस्थित श्रोताओं को अवगत कराते हुए उसके उपचार हेतु मदद देने का निवेदन किया। जिस पर सभी ने दिल खोलकर दान दिया। चतुर्थ दिवस की संपूर्ण चढ़ोत्री भी अंश को समर्पित की गयी।

CATEGORIES
error: Content is protected !!
%d bloggers like this: