बम का फोन, पुलिस के मजे लेने के लिए किया था

बम का फोन, पुलिस के मजे लेने के लिए किया था

जीआरपी ने चौदह घंटे में लिया हिरासत में
इटारसी। रेलवे स्टेशन पर बम की अफवाह फैलाकर पुलिस को परेशान करने वाले आरोपी ने पुलिस के मजे लेने के लिए 100 डायल को फोन कर बम रखने की धमकी दी थी। वह देखना चाहता था कि पुलिस कितनी अलर्ट है। उसका यही मजा उसके लिए सजा बन गया है। जीआरपी ने उसे हिरासत बुधवारा गांव से हिरासत में लिया है।
मामले में पुलिस ने तीन लोगों को हिरासत में लिया था जिनसे पूछताछ की गई, उसके बाद आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है। जीआरपी ने उसके खिलाफ आईटी एक्ट की धारा 66 च आईपीसी की धारा 507, 177 के तहत मामला पंजीबद्ध किया है। जीआरपी थाना प्रभारी बीएस चौहान ने बताया कि बुधवारा निवासी भगवती यादव 22 वर्ष ने पुलिस के मजे लेने के लिए बम होने की धमकी भरा फोन किया था। उसके मोबाइल की लोकेशन होशंगाबाद के रसूलिया की मिल रही थी। लोकेशन के आधार पर आरोपी की तलाश की गई और करीब चौदह घंटे की मशक्कत के बाद आरोपी हाथ लगा। दरअसल जिस फोन से उसने फोन किया था, वह रसूलिया के युवक का था जो गुम हो गया था. यह फोन आरोपी को मिला तो उसने उसमें अपनी सिम लगाकर बम होने की धमकी भरा काल कर दिया। आरोपी आठवी तक पढ़ा है, उसके पिता नहीं है. वह मां के साथ रहता है और मजदूरी करता है।
टीम ने की मेहनत रंग लायी
बम की धमकी देने वाले आरोपी की तलाश में जीआरपी की पूरी टीम ने मेहनत की। थाना प्रभारी बीएस चौहान के नेतृत्व में एसआई एसएन मिश्रा, एएसआई श्रीलाल पड़रिया, केके यादव, वैभव शुक्ला, दिलीप रघुवंशी, कमलेश लाडिय़ा ने तलाश की। सायबर सेल भोपाल के बृजेश मिश्रा की भूमिका भी सराहनीय रही। एसआरपी अनिता मालवीय ने टीम को ईनाम की सिफारिश करने की घोषणा की है।

CATEGORIES
error: Content is protected !!
%d bloggers like this: