भजन गाकर किया शराब बंदी के लिए विरोध

प्रदेश सरकार के खिलाफ की नारेबाजी

प्रदेश सरकार के खिलाफ की नारेबाजी
इटारसी। देश के अन्य प्रांतों में शराब बंदी के बाद अब मध्यप्रदेश में भी शराब बंदी के लिए आवाज तेज हो गई है। अब तक महिलाएं स्थानीय स्तर पर ही शराब बंदी को लेकर विरोध कर पाती थी। लेकिन आज सुबह रेलवे स्टेशन के प्लेटफार्म पर सैकडों महिलाओं ने शराब पर रोक लगाने के लिए प्रदेश सरकार के खिलाफ नारेबाजी कर विरोध जताया। महिलाओं ने पोस्टर और बैनर के माध्यम से मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को शराब बंदी का संदेश देने का प्रयास किया। खास बात यह है कि उक्त महिलाओं ने नारेबाजी के साथ ही शराब बंदी को लेकर भजन कीर्तन किए। इसके माध्यम से उन्होंने समाज के लोगों को भी शराब बंदी का विरोध करने के लिए प्रेरित किया। उक्त महिलाएं मप्र के कटनी एवं आसपास की है। जो मुलताई में आयोजित होने वाले विशाल किसान सम्मेलन में शामिल होने के लिए कटनी से मुलताई जा रही थी। कुछ देर वह इटारसी रेलवे स्टेशन पर रूकी तो प्लेटफार्म पर ही बैठकर शराब बंदी को लेकर भजन कीर्तन किए। महिलाओं के साथ पुरूष एवं बच्चे भी थे। उन्होंने भी शराब बिक्री पर रोक लगाने के लिए महिलाओं के साथ सुर से सुर मिलाया। महिलाओं के अनुसार शराब के कारण कई परिवार बर्बाद हो रहे है। आर्थिक तंगी के कारण बच्चों की परवरिश भी ढंग से नहीं हो पाती इतना ही नहीं अपराध भी बढ़ रहे है। यदि शराब बंद हो जाएगी तो उनके घरों में खुशहाली आ जाएगी।

CATEGORIES
error: Content is protected !!
%d bloggers like this: