मप्र और महाराष्ट्र के 23 जोड़ों ने निकाह कबूला

मप्र और महाराष्ट्र के 23 जोड़ों ने निकाह कबूला

 करायी नि:शुल्क इज्तेमाई शादी
इटारसी। गांधी मैदान में, अमन मुस्लिम वेलफेयर सोसायटी की ज़ानिब से नि:शुल्क इज्तेमाई शादी के आयोजन में 23 जोड़ों ने निकाह कबूल किया। पंद्रह काजि़यों ने निकाह पढ़ाया तो हरेक जोड़े के संग दो-दो साक्षी और एक वकील की मौजूदगी रही।
मुख्यमंत्री कन्या विवाह निकाह योजना के अंतर्गत हुए इस आयोजन में नगर पालिका परिषद ने व्यवस्था में सहयोग किया तथा शासन की ओर से मिलने वाली सामग्री आयोजन समिति को प्रदान की। सीएमओ सुरेश दुबे और विधायक प्रतिनिधि कल्पेश अग्रवाल ने कार्यक्रम में उपस्थित होकर जोड़ों को शासन की ओर से मिलने वाली सामग्री उपहार स्वरूप प्रदान की।
मप्र और महाराष्ट्र के जोड़े
सोलहवे वर्ष में आयोजित अमन मुस्लिम वेलफेयर सोसायटी के इस आयोजन में ज्यादातर जोड़े मध्यप्रदेश के ही थे, बस एक वर पक्ष से मुंबई से आए थे, जिससे इसमें महाराष्ट्र का प्रतिनिधित्व भी हो गया। आयोजन में मुंबई, बैतूल, जबलपुर, मुलताई, हरदा, सीहोर, रायसेन और होशंगाबाद जिले के जोड़ों ने शिरकत की. निकाह समारोह में मुस्लिम समाज़ से खास मेहमान अज़मेर शरीफ से आए सनव्वर हुसैन थे जो वहां दरगाह के मुज़ावर हैं। इस दौरान मौलाना सैयद यासीन साहब ने खुतबा पढ़ा। सोसायटी के सदर मुस्ताक अहमद ने आयोजन में आए अतिथियों का माल्यार्पण से स्वागत किया।
लक्की ड्रा से जाएंगे अज़मेर शरीफ
अमन मुस्लिम वेलफेयर सोसायटी ने इस वर्ष एक जोड़े को अज़मेर शरीफ की यात्रा कराने के लिए लक्की ड्रा कराया। पिछले वर्ष सोसायटी ने ड्रा के माध्यम से एक जोड़े को हज़ यात्रा पर भेजा था। इस बार विधायक प्रतिनिधि कल्पेश अग्रवाल की उपस्थिति में एक ज़ार में सारे दूल्हों के नाम की पर्चियां डाली गई। अज़मेर शरीफ के मुजावर सनव्वर हुसैन ने 23 में से एक पर्ची निकाली। यह पर्ची मुश्ताक खाह पिता मेहबूब शाह सिवनी मालवा और शबीना पिता मुबारिक शाह नसरूल्लागंज सीहोर की निकली। ये एक जोड़ा इस वर्ष आयोजन समिति की ओर से अज़मेर शरीफ की यात्रा पर भेजा जाएगा।
बारात का स्वागत आईसक्रीम से
गांधी मैदान पर इज्तेमाई शादियों की रस्में अता होने से पहले सभी दूल्हों की एक बारात निकाली गई। बारात का फ्रेन्ड्स स्कूल में स्वागत किया गया। भीषण गर्मी को देखते हुए सभी बारातियों का स्वागत आईसक्रीस से आयोजन समिति की ओर से कराया गया। इसके अलावा गांधी मैदान पर एक स्टाल लगाकर आयोजन में शिकरत करने आए सभी मेहमानों का स्वागत तरबूज से किया गया। इसी तरह से एक ठंडे पानी का स्टाल भी लगाया था। मुख्य बाजार से होकर सुबह करीब साढ़े दस बजे बारात आयोजन स्थल गांधी मैदान पहुंची जहां, अगवानी की रस्म अता करके निकाह की रस्में शुरु की गईं।
it14517 (2)ये सामग्री प्रदान की गई
जेवर – एक सेट चांदी की पायल, एक सोने का मंगलसूत्र, सोने के दो नग गुरिये, चांदी की बिछिया एक सेट।
बर्तन – स्टील थाली एक नग, स्टील कटोरी एक नग, स्टील की गुंड एक, एक घड़ा, एक परात, एक गंजी, एक लौटा।
कपड़े – दूल्हन के सलवार सूट एवं दूल्हे का शेरवानी, पजामा, दुपट्टा, टोपी और गमछा।
चेक- बीस हजार रुपए का एक चेक, जिसमें 17 हजार रुपए गृहस्थी के लिए तथा तीन हज़ार दुल्हन को स्मार्ट फोन खरीदने के लिए।

CATEGORIES
error: Content is protected !!
%d bloggers like this: