लॉक डाउन : सुबह सख्ती, शाम को सैर सपाटा

लॉक डाउन : सुबह सख्ती, शाम को सैर सपाटा

इटारसी। कोरोना वायरस के संक्रमण से शहर को बचाने के प्रशासनिक प्रयास भी अब रस्म अदायगी लगने लगे हैं। जहां सुबह के वक्त अफसरों की टीम दो से तीन घंटे शहर में घूमती है तो उनके मातहत कर्मचारी भी मुस्तैद रहते हैं। जहां अफसर गये तो फिर पूरी टीम सड़कों से नदारद हो जाती है। हालांकि सुबह की सख्ती से दोपहर में सड़कों पर सन्नाटा रहता है। लेकिन, शाम होते ही सैर सपाटा शुरु हो जाता है। पुलिस की गाड़ी भी पूरे शहर का केवल एक राउंड लगाती है। जब पुलिस आती है, लोग छिप जाते हैं और पुलिस वाहन के जाते ही फिर सड़कों पर। इनमें सबसे अधिक संख्या आवारा घूमते युवाओं की होती है, जो लठतंत्र से भी नहीं मान रहे हैं। आज पांच लोगों को उठाकर दस घंटे इसी मनमानी के चलते थाने में बिठाकर रखा और शाम को परिजनों को बुलाकर समझाईश देकर छोड़ा है।
शहर में शुक्रवार को सुबह की गई सब्ज़ी मंडी की व्यवस्था अन्य दिनों की अपेक्षा बेहतर कही जा सकती है। प्रशासन ने गांधी मैदान, सूखा सरोवर और लाल मैदान पर सब्जी बाजार की व्यवस्था की थी। हालांकि छूट की अवधि में तेज बारिश से कुछ देर बाजार का माहौल बिगाड़ दिया। लेकिन, एक कमी जो खटकी वह यह कि अधिकारियों की मौजूदगी के बावजूद बाजार में खरीदारी करने वाले कम, तफरीह करने वाले अधिक थे। ऐसे लोगों को चिह्नित करके उनको सख्ती से घर या फिर थाने भेजा जाना चाहिए। दो चार घंटे थाना परिसर में यूं ही डिस्टेंस बनाकर बिठा देंगे तो शायद इनके होश ठिकाने आयें।


नारी शक्ति ने संभाली व्यवस्था
सुबह तहसीलदार तृप्ति पटेरिया और नायब तहसीलदार ऋतु भार्गव सुबह से ही अपने पूरे राजस्व अमले के साथ गांधी ग्राउंड पर उपस्थित रही। इस दौरान लोगों ने सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते सब्जियां खरीदी। सुबह ६ बजे से ही प्रशासनिक अमला चयनित स्थान गांधी मैदान पहुंच गया था जहां किसानों के लिए निर्धारित स्थानों पर सब्ज़ी की दुकाने लगाने अनुरोध किया। उसके बाद सब्ज़ी खरीदने आ रहे लोगों को भी सोशल डिस्टेंसिंग के तहत निर्धारित स्थान से सब्जी लेने की हिदायत दी गई। आज मोहल्लों में भी हाथठेलों पर लेकर सब्जी वाले पहुंचे थे।


खिलाडिय़ों ने किया सेनेटाइज
गांधी मैदान के गेट पर हॉकी खिलाडिय़ों ने सब्ज़ी खरीदने आ रहे लोगों के हाथों को सेनेटाइज़ किया। कोच एवं सचिव कन्हैया गुरयानी के नेतृत्व में ये खिलाड़ी सुबह से ही गांधी मैदान के मुख्य गेट पर खड़े हो गए थे। खिलाडिय़ों ने पहले सब्जी विक्रेताओं फिर खरीदारों को सेनेटाइज़ किया। यह व्यवस्था खिलाडिय़ों ने स्वयं के खर्च पर की थी जिसकी सभी ने प्रशंसा भी की। आज गांधी मैदान पर सब्जी बाजार मेें जिला हॉकी संघ के कार्यकारी अध्यक्ष जयराज सिंग भानू, अरुण राबर्ट, अखिल दुबे, साजि़द मलिक, शफीक खान, अजय अलबर्ट जोसफ ने सेवा की।


शांतिधाम में भी हो रहा पालन
शांतिधाम में अंतिम संस्कार के दौरान सोशल डिस्टेंस की व्यवस्था की है। अंतिम यात्रा में शामिल व्यक्तियों के बीच १ मीटर से अधिक दूरी रखी जा सके इसलिए चूने से स्थान चिह्नित किये हैं। इसी तरह बैठक व्यवस्था भी दूर-दूर चिह्नित की है। अंतिम संस्कार में २० व्यक्तियों से अधिक को प्रवेश नहीं दिया जा रहा है। सभी के मुंह पर मास्क होना अनिवार्य है। शव यात्रा में आने वालों को आते-जाते समय साबुन से हाथ धोना एवं सेनेट्रेआइज्ड होना है। शांतिधाम समिति के सदस्य कार्यकारी प्रमोद पगारे ने अनुरोध किया है कि लोग निर्देशों का कड़ाई से पालन करें।


जरूरतमंदों को सहायता
लॉक डाउन के कारण जरूरतमंदों को भोजन और आवश्यक सामान उपलब्ध कराने के लिए कई सामाजिक, स्वयंसेवी संगठनों के साथ लोग व्यक्तिगत स्तर पर सराहनीय काम कर रहे हैं। प्रशासनिक अधिकारियों, कर्मचारियों और पुलिस कर्मियों के इस तरह के चित्र भी समाने आये हैं जिससे उनकी संवेदनशील छवियां सामने आ रही हैं। रेलवे खानपान लायसेंसी शिवाकांत गुड्डन पाण्डेय एवं उनका परिवार इटारसी रेल्वे स्टेशन पर फंसे यात्रियों को भोजन करा रहा है। शुक्रवार को भी ३०० से भी ज़्यादा जरूरतमंदों को खाना, चाय एवं पानी दिया। देवाशीष गार्डन मेहरागांव में किसान संघ एवं चौरिया कुर्मी युवा संगठन ने गरीबों के लिये भोजन के पैकेट बनाने का बीड़ा उठाया है जिसे पुलिस के सहयोग से बांटा जा रहा है।


मवेशियों की सेवा, खाना खिलाया
कोरोना वायरस के चलते जहां लोगों का बुरा हाल हैं वहीं सड़कों पर घूमने वाले मवेशियों को भी पेट की आग ने परेशान कर दिया है। इसी को देखते हुये आज शुक्रवार को कमल भारद्वाज, विकास रावत, अभिजीत यादव ,रिषभ गुप्ता एवं सेठी ने इटारसी के बाजार क्षेत्र में भूखे जानवरों, कुत्ते, गाय, बैल वगैरह को रोटी, अंडा, दूध का वितरण किया। सभी के सहयोग से प्रतिदिन सुबह एवं शाम को इसी तरह पशुओं को भोजन सामग्री वितरित की जाएगी। साथ में कल से पानी भी दिया जायेगा। इन सेवकों ने नागरिकों से भी निवेदन किया है कि आपके घरों के सामने मवेशी आये तो उसे एक रोटी जरूर खिलायें।


लायंस सुदर्शन की भोजन सेवा
लायंस क्लब ने भी कोरोना के संक्रमण से बचाने लॉक डाउन के दौरान गरीब परिवारों की परेशान को देखते हुए भोजन सेवा प्रारंभ की है। क्लब की अध्यक्ष नीलम बीबीआर गांधी के नेतृत्व में लायंस क्लब इटारसी सुदर्शन ने गुरुद्वारे में प्रतिदिन १०० लोगों के भोजन की व्यवस्था की है। २६ मार्च से रोज भोजन के १०० पैकेट तैयार करके भेजे जा रहे हैं। श्रीमती गांधी ने बताया कि प्रथम उपाध्यक्ष सर्वजीत सिंह सैनी एवं क्लब डायरेक्टर बीबीआर गांधी इस काम के लिए सदस्यों से आवश्यक राशि जुटा रहे हैं। क्लब के सदस्य सहयोग कर रहे हैं। क्लब के सदस्यों के अलावा बाहर से भी हमें मदद मिल रही है। दिलीप पंजवानी डिस्पोजेबल वालों ने १००० की राशि दी है और प्योरेक्स व नर्मदा नीर ब्रांड के पानी के पाउच अखलाक कुरैशी दे रहे हैं। नशा मुक्ति केंद्र के संचालक अमितेश मालवीय ने भोजन तैयार कराने और गुरुद्वारा तक पहुंचाने का जिम्मा लिया है। जब तक लॉकडाउन है, तब तक क्लब खाने के पैकेट उपलब्ध कराता रहेगा।

सांसद का प्रधानमंत्री, वित्तमंत्री से आग्रह
सांसद उदय प्रताप सिंह ने कोविद-१९ नोवेल कोरोना वायरस संक्रमण से उत्पन्न महामारी के चलते इस संकट के समय में देश के मध्यमवर्गीय होमलोन, कारलोन, अन्य व्यावसायिक लोन लेने बाले ऋणदाताओं को मार्च-अप्रैल २०२० की ईएमआई को कैरी फारवर्ड करते हुए मई माह से जमा कराने, साथ ही इसी प्रकार देश के अन्नदाता किसानों को किसान क्रेडिट कार्ड के माध्यम से सहयोग प्रदान करने हेतु पत्र के माध्यम से प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी व वित्तमंत्री श्रीमती निर्मला सीतारमण से संबंधित वित्तीय संस्थानों को तत्संबंधी दिशा निर्देश यथाशीघ्र जारी किए जाने हेतु आग्रह किया है।


ग्राम पंचायतें हुई सतर्क
शहर और गांवों की दूरी कम होने के बाद गांव की सरकारें भी कोरोना वायरस को लेकर सतर्क हो गयी हैं। दरअसल, सड़कों का जाल बिछने के बाद गांव से शहर आने और शहर से गांव जाना सुगम हो गया है। ऐसे में गांवों भी इस वायरस से महफूज नहीं हो सकता है। इसी सोच के बाद गांवों के पंचायतों ने अपने यहां भी सेनेटाइजर का छिड़काव करना शुरु कर दिया है। आज ग्राम पंचायत जमानी ने पूरे गांव में टै्रक्टर पर टंकी रखकर सड़कों और गलियों को सेनेटाइज किया। इसी प्रकार ग्राम पंचायत बिछुआ के सरपंच पप्पू इवने तो खुद स्प्रे पंप लेकर छिड़काव करने निकल गये।

CATEGORIES
TAGS

COMMENTS

Wordpress (0)
Disqus ( )
error: Content is protected !!
%d bloggers like this: