वो बिस्तर पर पड़े-पड़े ही बन गया कंकाल

एक बंद घर से पुलिस ने जब्त किया कंकाल

खबर अपडेट
एक बंद घर से पुलिस ने जब्त किया कंकाल

इटारसी। मालवीयगंज में पुलिस को एक घर से कंकाल मिला है। आशंका है कि उसकी मौत करीब एक माह पूर्व हुई होगी और किसी जानवर द्वारा शव का मांस खा लेने से केवल कंकाल बचा हो। पुलिस ने मामले में मर्ग कायम कर जांच में लिया है। मामला संदिग्ध है, अत: पूरी तरह से जांच के बाद ही स्थिति स्पष्ट हो सकेगी।
एसआई मदन पवार के अनुसार मालवीयगंज में राजेन्द्र पिता हरनाथ देवहरे, 55 वर्ष अपने घर में अकेले रहते थे। नशे का आदी होने के कारण माना जा रहा है कि वे नशे में आए होंगे और अधिक नशे में उनकी मृत्यु बिस्तर पर ही हो गई होगी। उनके घर के पीछे का दरवाजा भी जर्जर हाल था, अत: संभावना है कि किसी जानवर ने भीतर जाकर उनके शव का मांस खा लिया हो जिससे बिस्तर पर केवल कंकाल ही बचा हो। श्री पवार ने बताया कि मृतक के भतीजे हिमांशु ने पुलिस को खबर की थी कि उनके चाचा के घर से बदबू आ रही है। उन्होंने आकर देखा तो बिस्तर पर शव कंकाल बन चुका था। राजेन्द्र देवहरे भाजपा नेता पप्पू देवहरे के चचेरे भाई बताए जाते हैं।
एक माह बाद बदबू आयी
मोहल्ले वालों का कहना था कि संबंधित को उन्होंने करीब एक माह से नहीं देखा। संभावना व्यक्त की जा रही है कि मृत्यु एक माह पूर्व हुई होगी। मृतक गांजा पीने का आदी बताया जा रहा है। वह हम्माली का कार्य करता है। इस बाद पर भी आश्चर्य व्यक्त किया जा रहा है कि यदि मृत्यु एक माह पूर्व हुई होगी तो शव के खराब होने पर किसी को भी उसकी बदबू क्यों नहीं आयी? जब केवल कंकाल बचा तभी बदबू क्यों आयी? इतने दिनों तक यदि राजेन्द्र को मोहल्ले वालों ने नहीं देखा तो उसके विषय में जानने की कोशिश उसके रिश्तेदारों या परिचितों ने क्यों नहीं की? यह सारी बातें पुलिस का विषय है, और पुलिस इन सबकी जांच तो करेगी, फिलहाल मृतक का केवल कंकाल मिला है, अत: पोस्टमार्टम के लिए कंकाल को भोपाल भेजा जा रहा है।

CATEGORIES
error: Content is protected !!
%d bloggers like this: