शोषण के खिलाफ उठाई आवाज़

शोषण के खिलाफ उठाई आवाज़

इटारसी। आल इंडिया रेलवे रनिंग स्टाफ एसोसिएशन ने आज रेलवे पर उनके शोषण का आरोप लगाते हुए दो दिनी हंगर फास्ट स्ट्राइक शुरु की। इससे पहले उन्होंने 24 घंटे का उपवास किया था, इस बार 36 घंटे का है। इसके बाद भी यदि रेलवे ने उनकी मांगें नहीं मानी तो उपवास की अवधि बढ़ाते हुए इसे बेमियादी तक किया जाएगा। आज ज्यादातर रनिंग स्टाफ अपनी मांगों के समर्थन में रेलवे स्टेशन के प्लेटफार्म एक पर मौजूद था। सबने अपने मांगों के समर्थन में नारेबाजी की। इस आंदोलन की खास बात यह है कि इन्होंने काम बंद नहीं किया है। जो लोग ड्यूटी पर हैं, वे ड्यूटी पर रहकर आंदोलन को समर्थन दे रहे हैं और जो ड्यूटी पर नहीं हैं, वे पंडाल में मौजूद हैं। सभी भूखे रहकर काम कर रहे हैं। रेलवे के रनिंग रूम और प्रशिक्षण केन्द्रों में मौजूद रनिंग स्टाफ इस आंदोलन के अंतर्गत खाने का बहिष्कार कर रहे हैं।
इनका कहना है…!
यह हमारा 36 घंटे का भूख हड़ताल आंदोलन है। इसमें हम भूखे रहकर काम करेंगे। रेलवे हमारे वेतन भत्ते कम कर रहा है जिसके विरोध में हमें अपनी पूरी ताकत दिखानी है। हम गाड़ी चलाते हुए भूखे रहकर हड़ताल कर रहे हैं।
विक्रम यादव, कार्यकारी अध्यक्ष

CATEGORIES
error: Content is protected !!
%d bloggers like this: