सीमा से परे, सेवा की मिसाल, तय वक्त में दिया पानी

नपा ने किया सैनिकों को पानी देने का श्रीगणेश

नपा ने किया सैनिकों को पानी देने का श्रीगणेश
इटारसीदेश की सीमाओं पर रहकर हमारी रक्षा करने वाले सैनिकों का सम्मान किसी भी सीमा से परे हैं, ऐसे में हम कैसे सीमा में बंधकर सैनिकों की सेवा से अपने हाथ पीछे करते। उन्हें इस गर्मी में बिना पानी के कैसे रहने देते। हमने उनकी सेवा की जो हमारी रक्षा और देश की सेवा करते हैं। यह भाव लिए आज से सीपीई को नगर पालिका ने पानी देने की शुरुआत कर दी। नपा की इस भावना को सबके समक्ष रखा, राजस्व समिति के सभापति राकेश जाधव ने।
अवसर था, सीपीई को पानी देने के श्रीगणेश कार्यक्रम का। आज से नगर पालिका ने सैनिकों और सैनिकों के मददगार it040317 (2)कर्मचारियों के करीब साढे तीन से चार सौ परिवारों को पानी देने की शुरुआत कर दी है। इसके लिए सीपीई परिसर में एक बोरवेल खनन किया है जिसमें काफी मात्रा में पानी मिला। बोरवेल से ओवर हेड टैंक तक पाइप लाइन बिछाई गई है। अब सीपीई आवासीय परिसर और कार्यालयों में पेयजल का संकट नहीं होगा। इसी के साथ शहर के उन हिस्सों में भी पेयजल संकट को खत्म करने की दिशा में कदम उठाने शुरु कर दिए हैं, जहां पिछले वर्ष संकट की स्थिति बन रही थी।
सीपीई के कार्यक्रम में कर्नल अमित शर्मा, जीपी मनोली, नपा उपाध्यक्ष अरुण चौधरी, विधायक प्रतिनिधि कल्पेश अग्रवाल, सभापति जसबीर सिंघ छाबड़ा, सरोज उईके, पार्षद प्रियंका चौहान, अरविंद चंद्रवंशी, राहुल चौरे, श्रीमती दुर्गा ठाकुर सहित अन्य लोग उपस्थित थे। इसके अलावा वार्ड क्रमांक एक में तवा कालोनी गेट के पास नगर पालिका ने एक नलकूप का खनन किया जिसका शुभारंभ किया गया। संचालन जयकिशोर चौधरी ने आभार प्रदर्शन सीपीई के एमएल गौर ने किया।
समझो हमने भी देश सेवा की
जो सैनिक देश की सेवा करते हैं, सीमाओं पर हमारी रक्षा करते हैं, उनके लिए यदि हमने कुछ किया है तो समझो अप्रत्यक्ष तौर पर हमने भी देश सेवा कर ली है। आगे भी हमारे सैनिक भाईयों को ऐसी कोई जरूरत होगी, हम इसके लिए तत्पर रहेंगे। यह बात नगर पालिका परिषद की अध्यक्ष श्रीमती सुधा अग्रवाल ने सीपीई को पानी सप्लाई की शुरुआत करते हुए कही। उन्होंने कहा कि सीपीई परिसर के करीब चार सौ परिवारों को अब पेयजल का संकट नहीं झेलना पड़ेगा। उन्होंने बताया कि विधानसभा अध्यक्ष डॉ।सीतासरन शर्मा के आदेश और सीपीई के कमांडेंट से किए वायदे पर नगर पालिका ने तत्परता से काम किया और निर्धारित समय अवधि में यह काम कर दिया है।
यह अति आवश्यक सेवा में आता है
पेयजल जैसी सुविधा अति आवश्यक सेवा में आती है। इसके लिए कोई सीमा का विवाद नहीं होना चाहिए। सीपीई हमारे शहर का ही अंग है। विधानसभा अध्यक्ष डॉ। शर्मा के आदेश के बाद यह काम समय सीमा में पूरा कर दिया है। यह बात मुख्य नगर पालिका अधिकारी सुरेश दुबे ने संबोधित करते हुए कही। उन्होंने बताया कि कुछ वैधानिक कठिनाईयां हमें भी आयीं और कुछ सीपीई प्रबंधन को भी आयीं, लेकिन उनका हल निकाल लिया गया। आज हम सीपीई को पानी देने की स्थिति में आ गए हैं। उन्होंने कहा कि नियम काम करने के लिए बनाए जाते हैं, काम में बाधा डालने नहीं। श्री दुबे ने बताया कि सीपीई को नगरीय सीमा में लाने के प्रयास चल रहे हैं।
हमारी भी प्रेरणा बन गया काम
सीपीई के कमांडेंट मेज़र जनरल डीएस जॉली ने कहा कि जब वे पहली बार विधानसभा अध्यक्ष डॉ।सीतासरन शर्मा से मिले तो उन्हें उनकी सहजता और आत्मीयता ने ही प्रभावित कर लिया। डॉ। शर्मा ने उनसे जो वायदा किया था, वह आसान नहीं था, लेकिन यह हो जाएगा, देखकर ही दिल से धन्यवाद के शब्द निकलते हैं। उन्होंने नगर पालिका को धन्यवाद देते हुए कहा कि जब उन्होंने नवंबर में यहां ज्वाइन किया था, तो यह बड़ी समस्या उनके सामने रखी गई थी। पिछले वर्ष के कटु अनुभवों के कारण ही हमने स्पीकर साहब से मुलाकात की और आज हमें पानी मिल गया। हम विस अध्यक्ष और आपके शुक्रगुज़ार हैं। समय सीमा में काम हुआ वो हमारी प्रेरणा बन गया है।
पानी के दुरुपयोग से बचें
नगर पालिका परिषद की अध्यक्ष श्रीमती सुधा अग्रवाल ने कहा है कि नगर पालिका अपने सीमित संसाधनों से शहर को पेयजल उपलब्ध कराती है। पिछले वर्ष हमने काफी कटु अनुभव किए लेकिन पेयजल संकट की स्थिति नहीं बनने दी। टेंकरों से पानी की सप्लाई की है। लेकिन, शहर की जनता को आश्वस्त करती हूं कि इस बार भी किसी प्रकार का कोई संकट नहीं बनने दिया जाएगा। संकट आएगा तो नपा उससे निबटने की सारे इंतज़ाम करेगी। ये नलकूप खनन के बाद शुरुआत उसी का हिस्सा है, हमने अभी से इसकी तैयारी शुुरु कर दी है। लेकिन नागरिकों से अनुरोध है कि वे पानी का दुरुपयोग करने से बचें। संकट की स्थिति न बने, हम सभी को सजग होकर काम करना चाहिए।

CATEGORIES
error: Content is protected !!
%d bloggers like this: