होम प्लेटफार्म की प्लानिंग, डीआरएम ने देखी संभावनाएं

होम प्लेटफार्म की प्लानिंग, डीआरएम ने देखी संभावनाएं

इटारसी। रेलवे स्टेशन पर होम प्लेटफार्म की महती जरूरत को देखते हुए रेलवे इस योजना पर जल्दी काम करेगी। रेलवे स्टेशन विस्तार की योजना को लेकर गुरुवार को मंडल रेल प्रबंधक उदय बोरवणकर ने रेलवे स्टेशन परिसर, प्लेटफार्म, पार्सल आफिस, फुट ओवरब्रिज, रेलवे कालोनी क्षेत्र का निरीक्षण कर संभावनाएं तलाशी।
दरअसल, इटारसी रेलवे स्टेशन का रीडव्हलपमेंट होना है। इसकी प्लानिंग बीते कुछ वर्षों से चल रही है। डीआरएम का मानना है कि बिना वर्तमान स्ट्रक्चर को डिस्टर्ब किये जितने काम हो सकते हैं, उसको देख रहे हैं। आज मंडल के अधिकारियों के साथ उसी का निरीक्षण किया है। इसके साथ ही रेलवे कालोनियों की कुछ समस्याएं हैं, रेलवे की सड़कों का काम होना है, रनिंग रूम्स की व्यवस्थाएं देखना है। आज सभी कुछ का निरीक्षण किया जा रहा है।

बड़ा है स्टेशन रीडेवलपमेंट प्रोजेक्ट
रेलवे ने इटारसी स्टेशन के लिए रीडव्हलपमेंट के लिए बड़ी योजना बनायी है जिस पर करोड़ों रुपए खर्च होना है। इस प्रोजेक्ट के तहत जंक्शन पर प्लेटफॉर्म 1 को मुख्य सड़क से जोडऩे, थू्र वेटिंग लाइन को को जोड़कर दो नए प्लेटफार्म बनाने, बुकिंग और आरक्षण कार्यालय की बिल्डिंग का हटाकर उस जगह प्लेटफॉर्म, जीआरपी थाना, आरपीएफ थाना, वाहन पार्किग और रेलवे मालगोदाम भी हटना प्रस्तावित है। नए होम प्लेटफार्म को बुकिंग ऑफिस से मालगोदाम तक तैयार करने की योजना है जिसमें सभी कार्यालयों एवं लॉबी के लिए नए कक्ष बनना है।

वर्तमान प्लेटफार्म पर भी हैं काम
वर्तमान में जो सात प्लेटफार्म रेलवे स्टेशन पर हैं, उनमें भी कुछ काम होना है। डीआरएम ने उनको भी देखा है। प्लेटफार्म क्रमांक दो और तीन की चौड़ाई कम है, उसे बढ़ाना है, इसी तरह प्लेटफार्म क्रमांक चार और पांच की स्थिति भी काफी खराब हो गयी है, इन प्लेटफार्म पर भी काम होना है। होम प्लेटफार्म के लिए योजना पर कैसे काम होगा, पार्सल आफिस कहां जाए, मालगोदाम कहां शिफ्ट हो सकती है, यह सब डीआरएम ने अपने निरीक्षण में देखा है। स्टेशन की बिल्डिंग को अधिक डिस्टर्ब न करते हुए प्लानिंग को कैसे हो, यह भी उन्होंने देखा है।

नगर प्रशासन से बात करेंगे
डीआरएम उदय बोरवणकर ने मीडिया से बातचीत में रेलवे स्टेशन से नयायार्ड मार्ग के सवाल पर कहा कि रेलवे अपने उपयोग के लिए सड़कें बनाती है। समय के साथ अब उन सड़कों पर रेलवे के बाहर से डंपर, ट्रक, बसें या अन्य वाहन भी चलने लगे हैं जिससे सड़कें जल्दी-जल्दी खराब हो रही हैं। अब सबकुछ मिक्स हो गया है। बावजूद इसके सड़कों का सुधार कार्य करने के लिए हमें नगर प्रशासन का भी सहयोग चाहिए। रेलवे के अधिकारी नगर प्रशासन के अधिकारियों से चर्चा करेंगे, यदि वहां से कुछ फंड की व्यवस्था हो जाए तो रोड की मरम्मत जल्द होगी।

फुट ओवरब्रिज के लिए आएंगे
डीआरएम उदय बोरवरणकर का ध्यान जब नये बन रहे फुट ओवरब्रिज की तरफ दिलाकर काम की रफ्तार बढ़ाने संबंधी सवाल किया तो उन्होंने कहा कि वे जल्द ही ब्रिज लाइन वालों के साथ इटारसी का दौरा करेंगे। उन्होंने स्वीकार किया कि काम की गति धीमी है, इसे बढ़ाया जाएगा। आगामी दौरे में ब्रिज को शहर तरफ कहां उतारा जाए, इसे भी देखा जाएगा। इस ब्रिज के बन जाने से वर्तमान फुट ओवरब्रिज पर यात्रियों का दबाव भी कम होगा और बारह बंगला तरफ से बाजार आने-जाने वालों को एक सीधा रास्ता मिल जाएगा जो यात्रियों की भीड़ से रहित होगा।

एक नजर में इटारसी जंक्शन
स्टेशन का ग्रेड- ए ग्रेड
प्लेटफॉर्मों की संख्या-07
टे्रनों की संख्या- करीब 200
नए प्लेटफॉर्म प्रस्तावित- 2

इनका कहना है…!
इटारसी स्टेशन के रीडेवलपमेंट की प्लानिंग है। इटारसी रेलवे स्टेशन पर वर्षों से कोई नया काम नहीं हुआ है, हम प्लान कर रहे हैं। दोनों तरफ संभावनाएं देखी हैं। कुछ प्लेटफार्म की चौड़ाई कम है, होम प्लेटफार्म नहीं है। इस प्लानिंग में क्या हो सकता है, यह देखा है। रेलवे कालोनियों में रोड की समस्याएं भी हैं। सब पर काम होना है।
उदय बोरवणकर, डीआरएम भोपाल

CATEGORIES
TAGS

COMMENTS

Wordpress (0)
Disqus ( )
error: Content is protected !!
%d bloggers like this: