26 से होगी प्रतियोगिता, आ सकती है विदेशी टीम

जिला हॉकी संघ की हुई बैठक

जिला हॉकी संघ की हुई बैठक
इटारसी । नगर पालिका परिषद के तत्वावधान में जिला हॉकी संघ द्वारा 26 मार्च से होने वाली अखिल भारतीय महात्मा गांधी कप हॉकी प्रतियोगिता में इस वर्ष विदेशी टीमें खेल सकती हैं। इसके लिए प्रयास चल रहे हैं। इस बार शहर को एस्ट्रोटर्फ की सौगात भी मिल सकती है। यह जानकारी आज यहां गांधी वाचनालय में हुई जिला हॉकी संघ और अभा महात्मा गांधी कप प्रतियोगिता समिति की बैठक में हॉकी संघ अध्यक्ष सुरेश दुबे एवं प्रतियोगिता समिति अध्यक्ष कल्पेश अग्रवाल ने उपस्थित सदस्यों को दी जिसका सदस्यों से करतल ध्वनि से स्वागत किया।
जिला हॉकी संघ अध्यक्ष सुरेश दुबे ने बताया कि हम हॉकी इंडिया के माध्यम से प्रयास कर रहे हैं कि जो टीमें चट ग्राउंड पर खेल सकती हैं, ऐसी विदेशी टीमों को लाया जाए। उन्होंने बताया कि हॉकी इंडिया की ओर से प्रतियोगिता को स्वीकृति मिल गई है, नपा की ओर से भी काफी सहयोग मिल रहा है। पिछले वर्ष की अपेक्षा इस वर्ष हम लेट हो गए, लेकिन अगले वर्ष से यह टूर्नामेंट जनवरी में हो जाए, यह प्रयास करेंगे।
बैठक में वरिष्ठ खिलाड़ी दीपक जेम्स, राजेन्द्र तोमर, जसबीर सिंघ छाबड़ा, राजेन्द्र सिंह, जयराज सिंह भानू, जयकिशोर चौधरी, हरप्रीत सिंघ छाबड़ा, उदयराज सिंह, दीप सिंह ठाकुर, शेख नियाज़, गोविन्द श्रीवास्तव, सहित आयोजन समिति के सदस्य एवं खिलाड़ी मौजूद थे।
सभी समितियां यथावत रहेंगी
अखिल भारतीय महात्मा गांधी कप हॉकी प्रतियोगिता की आयोजन समिति के अध्यक्ष और विधायक प्रतिनिधि कल्पेश अग्रवाल ने अपने उद्बोधन में घोषणा की, कि पिछले वर्ष जो समितियां आयोजन के लिए बनी थीं, वे यथावत रहेंगी, इसमें कोई फेरबदल नहीं किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि पिछले वर्ष प्रतियोगिता की सफलता को देखते हुए इस वर्ष भी आयोजन को और बेहतर करने का प्रयास किया जा रहा है।
एस्ट्रोटर्फ की उम्मीद प्रबल
मप्र विधानसभा के अध्यक्ष डॉ.सीतासरन शर्मा के प्रयासों से इटारसी को एस्ट्रोटर्फ मिलने की उम्मीद प्रबल हो गई है। पिछले दिनों खेल मंत्री ने इसकी स्वीकृति दे दी है, संभवत: प्रतियोगिता के फाइनल मैच के दिन स्वयं खेल मंत्री इसकी घोषणा कर देंगी। श्री अग्रवाल एवं श्री दुबे ने कहा कि शहर को यह बड़ी सौगात मिल जाएगी, इसकी प्रबल संभावना है, क्योंकि खेल मंत्री की ओर से सकारात्मक रुख देखने को मिला है।
आठ बड़ी टीमों की स्वीकृति
आयोजन समिति की ओर से कन्हैया गुरयानी ने बताया कि आठ बड़ी टीमों की स्वीकृति मिल गई है, राज्य स्तर की टीमों से को भी आमंत्रण भेजे जा चुके हैं। इस बार इस मैदान पर कुछ नई और नामी टीमों के मुकाबले देखने को मिल सकते हैं। इसमें बेस्ट प्लेयर आफ द टूर्नामेंट भी दिया जाएगा तो दिवंगत खिलाड़ी समीर सिंह के नाम पर फाइनल का बेस्ट प्लेयर का पुरस्कार देने की घोषणा पूर्व में ही की जा चुकी है।
समर कैंप का ख्याल आया
बैठक के दौरान ही खिलाडिय़ों के लिए समर कैंप का ख्याल भी आया। सभापति राकेश जाधव ने कहा कि नगर पालिका परिषद के माध्यम से बजट में ऐसा कोई प्रावधान किया जाए ताकि शहर के बच्चों के लिए हॉकी, क्रिकेट, फुटबाल आदि के लिए समर कैंप के लिए राशि दिलायी जा सके। इससे प्रतिभाएं उभरकर सामने आएंगी। इस पर संघ अध्यक्ष श्री दुबे ने कहा कि इसके लिए खेल विभाग से भी संपर्क किया जाएगा।
बच्चों को लाभ नहीं तो सब बेकार
जिला हॉकी संघ अध्यक्ष सुरेश दुबे ने कहा कि कितनी भी प्रतियोगिता करा लें, लेकिन यदि बच्चों के काम न आ सके तो सब बेकार है। गांधी मैदान पर खेलकर दर्जनों बच्चों की रेलवे, पुलिस और अन्य विभागों में नौकरी लगी है। मैदान पर एस्ट्रोटर्फ होगा तो हमारे बच्चे अंतर्राष्ट्रीय स्तर के लिए भी तैयार होंगे। हम चाहेंगे कि हमारे यहां के बच्चे भारतीय टीम में प्रतिनिधित्व करें। वे हॉकी इंडिया की बैठक में इस मुद्दे को रखेंगे।

CATEGORIES
error: Content is protected !!
%d bloggers like this: