70 एनसीसी केडेट करेंगे सर्जिकल स्ट्राइक को जीवंत

70 एनसीसी केडेट करेंगे सर्जिकल स्ट्राइक को जीवंत

गणतंत्र दिवस के लिए हो रही है खास तैयारी
इटारसी। सीमा पार दुश्मन की धरती पर भारतीय सेना ने किस तरह से आतंकवादियों के ठिकानों को नेस्तनाबूद किया था। इसकी एक बानगी देखने को मिलेगी इस बार के गणतंत्र दिवस के मुख्य समारोह में। शासकीय महात्मा गांधी पीजी कालेज के एनसीसी केडेट इसकी जोरदार तैयारी में जुटे हैं। करीब 70 केडेट का ग्रुप इसमें शामिल होगा। प्राथमिक तैयारी हो चुकी है, संभवत: आज से कालेज के मैदान पर इसकी रिहर्सल शुरु हो जाएगी। इस बार के सेक्सन अटैक में सर्जिकल स्ट्राइक को देखना अपने आप में रोमांचक होगा।
एमजीएम कालेज की एनसीसी यूनिट की मददगार के तौर पर शासकीय बालक शाला पीपल मोहल्ला और गर्ल्सु बटालियन भी शामिल रहेंगे। एमजीएम कालेज के एनसीसी केडेट अपने सीनियर्स की देखरेख और एनसीसी प्रभारी मेजर डीके शुक्ला के मार्गदर्शन में पूरी तैयारी में जुटे हैं। तैयारी भी ऐसी कि कहीं कुछ कमी न रह जाए, इसके लिए रात और दिन मेहनत की जा रही है। ठंड के बावजूद एनसीसी केडेट और उनके सीरियर्स सुबह से कालेज पहुंच जाते हैं और पूरी योजना को अमलीजामा पहनाने योजनाबद्ध काम करते हैं। वे पिछले वर्ष सेना द्वारा की गई सर्जिकल स्ट्राइक के विषय में जानकारी हासिल कर रहे हैं, हर तरह से सर्जिकल स्ट्राइक के विषय में मालूमात हासिल करके उसके नाट्य रूपांतर की तैयारी कर रहे हैं।
इस बार के सेक्शन अटैक में एनसीसी की सर्जिकल स्ट्राइक तो रोमांचक रहेगी, स्वतंत्रता संग्राम से लेकर देश की आजादी तक के बलिदानियों और देश निर्माण में योगदान देने वालों का जिक्र भी इस नाट्य रूपांतर में रहेगा। मेजर डीके शुक्ला बताते हैं कि पूरा करीब पंद्रह से बीस मिनट का प्ले रहेगा जिसमें स्वतंत्रता के बाद से अब तक की खास घटनाओं का समावेश होगा। स्वतंत्रता प्राप्ति के बाद देश को क्या मिला, हमने क्या चाहा और अब भारत विश्व गुरु बनने की दिशा में कदम बढ़ाए तो क्या किया जाए, जैसी सोच को इसमें शामिल किया गया है। इसके साथ ही मेक इन इंडिया की थीम भी शामिल की गई है।
श्री शुक्ला कहते हैं कि आजादी के 70 साल के इतिहास को हमने इस प्ले में शामिल करने का प्रयास किया है। वे भरोसा दिलाते हैं कि केडेट मेहनत कर रहे हैं और उम्मीद है कि इस प्ले के द्वारा गणतंत्र दिवस के मुख्य समारोह में गांधी मैदान से समाज और देश को एक संदेश अवश्य जाएगा।
क्या होगा पूरे प्ले में
पूरे प्ले में प्रथम स्वतंत्रता संग्राम की झलक होगी तो स्वतंत्रता सेनानी मंगल पांडेय का बलिदान भी रहेगा। उन बलिदानियों को भी याद किया जाएगा जिन्होंने हमें स्वतंत्रता दिलाने में अपना सर्वस्व न्यौछावर किया है। आजादी के संग्राम के अलावा सेना का देश की सुरक्षा और शांति व्यवस्था में योगदान, मेक इन इंडिया, आजादी के बाद देश के हालात और आगामी वर्षों में देश किस पथ पर जाए, इसकी एक झलक दिखाने की तैयारी है।
परेड और मार्च की तैयारी भी
पिछले वर्ष की तरह इस वर्ष भी महात्मा गांधी रोड से गणतंत्र दिवस समारोह की शुरुआत होगी। बीते वर्ष की तुलना में इस वर्ष मार्चपास्ट का रूट थोड़ा बड़ा करने की योजना है। नगर पालिका तैयारी कर रही है कि इस बार पहली लाइन में देना बैंक के पास से कालेज के एनसीसी केडेट्स, स्काउट-गाइड और स्कूली बच्चे मार्चपास्ट करते हुए गांधी मैदान पहुंचेंगे। नगर पालिका द्वारा इसमें झांकी भी प्रस्तुत करेगी। जयस्तंभ चौक पर ध्वजारोहण, राष्ट्रध्वज को सलामी दी जाएगी। इसके बाद गांधी मैदान में हजारों नागरिकों की मौजूदगी में मुख्य समारोह होगा, जहां नगर पालिका परिषद की अध्यक्ष राष्ट्रध्वज फहराएंगी। यहां सलामी गार्ड का निरीक्षण, परेड, पीटी और विभिन्न स्कूलों के बच्चे रंगारंग देशभक्ति के कार्यक्रम पेश करेंगे।

CATEGORIES
error: Content is protected !!
%d bloggers like this: