70 क्विंटल मूंग लाया था किसान, नॉन एफएक्यू थी, वापस कर दी

70 क्विंटल मूंग लाया था किसान, नॉन एफएक्यू थी, वापस कर दी

पंजीयन कार्य शुरु, एसडीएम ने किया निरीक्षण
इटारसी। सरकार ने समर्थन मूल्य पर मूंग और उड़द की खरीद शुरु कर दी है। हालांकि व्यापारियों ने इस खरीद से $खुद को अलग कर लिया है, लेकिन समिति के माध्यम से सरकार समर्थन मूल्य पर उड़द और मूंग की खरीद करेगी। आज रैसलपुर का एक किसान 70 क्विंटल मूंग लेकर मंडी में बेचने आया था, लेकिन वह नॉन एफएक्यू की थी, तो नहीं खरीदी जा सकी और किसान को वापस लौटना पड़ा। किसान को कहा गया कि इसमें मिट्टी काफी ज्यादा है, उसे साफ करके लेकर आएं।
आज से ही मंडी में मूंग और उड़द की बिक्री के लिए कृषि उपज मंडी परिसर में रजिस्ट्रेशन भी प्रारंभ हो गए हैं। इटारसी कृषि उपज मंडी परिसर में मप्र राज्य विपणन सहकारी समिति होशंगाबाद ने नर्मदांचल विपणन सहकारी समिति को एजेंट समिति बनाया है। समिति ने आज पंजीयन के पहले दिन पांच सौ किसानों के पंजीयन किए हैं। एसडीएम अभिषेक गेहलोत ने दोपहर में मंडी परिसर में चल रहे पंजीयन कार्य का निरीक्षण किया तथा मूंग-उड़द की समर्थन मूल्य पर खरीद व्यवस्था का जायजा लिया।
आज आया नया आदेश
कृषि उपज मंडी परिसर में समर्थन मूल्य पर मूंग-उड़द खरीद के लिए नए-नए आदेश आने से प्रबंधन भी परेशान है। आज एक नया आदेश आया है कि अब गेहूं की तरह ही मूंग-उड़द उत्पादक किसानों का पंजीयन भी किया जाएगा और उनको वैसे ही अपनी उपज को मंडी में विक्रय के लिए लाने के लिए एसएमएस भेजे जाएंगे जैसे गेहूं खरीद के लिए भेजे जाते हैं। आज ही मंडी परिसर में पंजीयन कार्य शुरु किया और पहले ही दिन 5 सौ किसानों ने पंजीयन करा लिया है। संभवत: बुधवार से किसानों को एसएमएस भेजकर अपनी उपज लाने को कहा जाएगा। हालांकि यदि कोई किसान बिना पंजीयन भी बुधवार को अपनी उपज लेकर आ जाता है और वह एफएक्यू रही तो उसे खरीदा जाएगा।

CATEGORIES
error: Content is protected !!
%d bloggers like this: