आज रात से पांच अप्रैल की सुबह तक लगने जा रहा है संपूर्ण लॉकडाउन

आज रात से पांच अप्रैल की सुबह तक लगने जा रहा है संपूर्ण लॉकडाउन

सार्वजनिक आयोजन रहेंगे प्रतिबंधित, प्रतिदिन दुकानें सायं 7 बजे तक बंद की जाएंगी

बैतूल। शुक्रवार यानि आज रात 10 बजे से पांच अप्रैल सुबह 6 बजे तक संपूर्ण लाॅकडाउन लगने जा रहा है। कलेक्टर अमनबीर सिंह बैंस (Collector Amanbir Singh Bains) ने आदेश जारी करते हुए कहा कि जिले की सम्पूर्ण राजस्व सीमा में दो अप्रैल शुक्रवार की रात्रि 10 बजे से पांच अप्रैल सोमवार को सुबह 6 बजे तक सम्पूर्ण लॉकडाउन घोषित किया है। इस दौरान अत्यावश्यक सेवा दूध की सुबह 6 बजे से 9 बजे तक होम डिलेवरी की जा सकेगी। जिला क्राइसिस मैनेजमेंट ग्रुप (District Crisis Management Group) द्वारा लिए गए निर्णय अनुसार रंगपंचमी अर्थात् दो अप्रैल को सम्पूर्ण जिले में बाजार बंद रखे जाने की व्यवस्था यथावत लागू रहेगी। रंगपंचमी पर सार्वजनिक आयोजन, गैर जुलूस इत्यादि प्रतिबंधित रहेंगे। जिले में रंगपंचमी का त्यौहार सामूहिक रूप से नहीं मनाया जाएगा। आमजन अपने परिवार के साथ ही रंगपंचमी मनाये। कोई भी व्यक्ति रंगपंचमी मनाने सडकों पर आवागमन नहीं करेगा। मोहल्ला एवं पड़ोस में रंगपंचमी का आयोजन पूर्णतरू प्रतिबंधित रहेगा।

15 अप्रैल तक स्कूल काॅलेज बंद
कलेक्टर ने बताया कि जिले में 15 अप्रैल तक समस्त स्कूल एवं कॉलेज में शिक्षण बंद रहेगा।
महाराष्ट्र राज्य से जिले की सीमा में आने वाली बसें तथा जिले से महाराष्ट्र जाने वाली बसों का आवागमन 15 अप्रैल तक प्रतिबंधित रहेगा।
प्रतिदिन दुकानें सायं 7 बजे तक बंद की जाएंगी एवं बाहर से आने वाली सामग्री के वाहनों से सामान उतारने के लिए एक घंटे यसायं 8 बजे तकद्ध का समय दिया जा सकेगा।
धार्मिक स्थल मंदिर, चर्च, मस्जिद में पुजारी, संस्थान के महत्वपूर्ण व्यक्ति पूजा अर्चना आदि कर सकेंगे। प्रसाद वितरण प्रतिबंधित रहेगा। अन्य श्रद्धालुओं के लिए धार्मिक स्थल पर एकत्रित होना प्रतिबंधित रहेगा।

साप्ताहिक बाजार-हाट आगामी दिनों में प्रतिबंधित रहेंगे। सब्जीए फलए दूध आदि की होम डिलेवरी की जा सकेगी।
जिले के समस्त शासकीय एवं प्राइवेट चिकित्सालयध्क्लीनिक में उपचार हेतु मरीज के साथ केवल एक अटेंडेंट के आने की अनुमति रहेगी। उक्त आशय की सूचना संबंधित चिकित्सक चिकित्सालय क्लीनिक के बाहर बोर्ड पर प्रदर्शित करेंगे तथा उल्लंघनकर्ता की सूचना संबंधित अनुविभागीय मजिस्ट्रेटध्थाना प्रभारी को देंगे।
65 वर्ष से अधिक आयु के व्यक्तियोंए अन्य रोगों से ग्रस्त व्यक्तियोंए गर्भवती महिलाओं और 10 वर्ष से कम आयु के बच्चों कोए आवश्यक सेवाओं और स्वास्थ्य प्रयोजनों को छोडकरए घर पर रहने की सलाह दी गई है।

कोविड.19 की रोकथाम एवं बचाव हेतु केन्द्र शासनध्राज्य शासन तथा जिला प्रशासन द्वारा समय.समय पर जारी निर्देशोंध्आदेशों का कड़ाई से पालन किया जाना बंधनकारी होगा।
यह आदेश आम जनता को संबोधित है। इस आदेश का उल्लंघन करने वाले व्यक्ति के विरूद्ध आपदा प्रबंधन अधिनियम 2005 की धारा 51 से 60 के साथ ही भारतीय दण्ड संहिता की धारा.188 तथा एपिडेमिक एक्ट 1897 के तहत मप्र शासन द्वारा जारी किए गए विनियम दिनांक 23 मार्च 2020 की कंडिका.10 के अंतर्गत उल्लेखित विधि प्रावधानों अंतर्गत कार्रवाई की जाएगी।

 

CATEGORIES
TAGS

COMMENTS

Wordpress (0)
Disqus (0 )
error: Content is protected !!
%d bloggers like this: