अम्बेडकर के आदर्शों को आत्मसात करने की आवश्यकता है

अम्बेडकर के आदर्शों को आत्मसात करने की आवश्यकता है

नर्मदापुरम। अंबेडकर समिति रायपुर (ambedkar committee raipur) ने ग्राम के वरिष्ठ, शंकरसिंह चौहान, तेजराम पटेल, पूर्व प्राचार्य लखनलाल अहिरवार के मार्गदर्शन में अम्बेडकर जयंती (ambedkar jayanti) की पूर्व संध्या पर आज सरकारी स्कूलों (government schools), व अन्य संस्थानों में संविधान निर्माता डॉ. भीमराव अंबेडकर (dr. bhimrao ambedkar) के चित्र पर माल्यार्पण कर ग्राम के सभी स्कूल के प्राचार्य को भेंट की।
इस अवसर पर प्रदेश प्रवक्ता शिवराज चंद्रोल ने कहा कि आज बाबा साहब के संविधान और आदर्शों को आत्मसात करने की आवश्यकता है। उन्होंने कहा कि आज संविधान खतरे में है, इसलिए हर नागरिक को संविधान के मूल्यों को जानने और मानने की आवश्यकता है। प्राचार्य राजेश जैसवाल ने भी बाबा साहव के जीवन पर प्रकाश डाला। पूर्व सरपंच शंकर सिंह चौहान और पूर्व प्राचार्य लखनलाल माछीवाल ने स्कूल में पढऩे वाले बच्चों को बाबा साहब अंबेडकर के किए कार्यों एवं आदर्शों पर चलने के लिए प्रेरित किया।
समिति सदस्यों ने ग्राम के सरकारी (government) और प्राइवेट स्कूल (private schools), पंचायत, व अन्य कार्यालय में बाबा साहेब अंबेडकर का चित्र भेंट किया। इस अवसर पर अहिरवार समाज संघ जिला अध्यक्ष संतोष कुमार, अशोक गोलियां वरिष्ठ समाजसेवी पूर्व जनपद सदस्य मदन लाल अहिरवार विनोद केवट, प्रदेरप अहिरवार धनराज अहिरवार दिलीप अहिरवार, हेमराज अहिरवार, लखनलाल अहिरवार (फौजी), सुरेंद्र बामने, दिनेश भाई, अहिरवार, हैप्पी, दामोदर, राकेश अहिरवार, सुरेश अहिरवार एवं समिति के अनेक सदस्य उपस्थित रहे।



CATEGORIES
Share This

AUTHORRohit

COMMENTS

error: Content is protected !!