दीक्षांत समारोह के साथ सरस्वती विद्या प्रतिष्ठान का नवीन आचार्य वर्ग का समापन

दीक्षांत समारोह के साथ सरस्वती विद्या प्रतिष्ठान का नवीन आचार्य वर्ग का समापन

इटारसी। सरस्वती विद्या प्रतिष्ठान मध्यप्रदेश, भोपाल (Saraswati Vidya Pratishthan Madhya Pradesh, Bhopal) की योजनानुसार ग्रीष्मकालीन वर्गों की श्रृंखला में आयोजित विभाग नर्मदापुरम् ( Narmadapuram) का नवीन आचार्य विकास वर्ग 2024 में आज प्रात: दीक्षांत समारोह विद्या भारती मध्यभारत प्रान्त (Vidya Bharti Madhya Bharat Province) के संगठन मंत्री निखलेश माहेश्वरी (Nikhilesh Maheshwari,) के प्रबोधन एवं आशीर्वचन उपरांत सम्पन्न हुआ। समस्त प्रशिक्षु आचार्यों को प्रमाणपत्र एवं स्मृतिचिन्ह देकर विदा किया गया। 13 जून की रात्रि सांस्कृतिक कार्यक्रम पश्चात मुख्य अतिथि विद्याभारती मध्यभारत प्रान्त के सह संगठन मंत्री अनिल अग्रवाल (Anil Aggarwal) का पाथेय प्राप्त हुआ। 6 जून 2024 की शाम से 14 जून 2024 की सुबह तक चले इस वर्ग की प्रात: 5 बजे जागरण से रात्रि 10:30 बजे तक की दिनचर्या में संवाद, शिक्षण (सैद्धांतिक और प्रायोगिक) विमर्श और अभिव्यक्ति के सत्रों की योजना बनाई गई थी।

इस वर्ग में विभाग के तीनों जिलों नर्मदापुरम्, हरदा (Harda) एवं बैतूल (Betul) के सरस्वती शिशु मन्दिर (Saraswati Shishu Mandir) विद्यालयों में अध्यापन कार्य करने हेतु कुल 43 नवचयनित आचार्यों ने प्रशिक्षण प्राप्त किया। नर्मदापुरम् जिले से 29, हरदा जिले से 03 एवं बैतूल जिले से 11 कुल 43 नवचयनित आचार्यों ने सहभागिता की। प्रात: कालीन बेला में प्रतिदिन प्रात: स्मरण, एकात्मकता स्त्रोत, एकता मंत्र, वंदे मातरम्, 10 मिनट व्यायाम श्रृंखला, सूर्य नमस्कार, योग, आसन, प्राणायाम, ध्यान, संगीत साधना और यज्ञ हुआ। अभ्यास सत्र में वंदना, भोजन मंत्र, विसर्जन मंत्र का अभ्यास कराया। संवाद सत्र के अंतर्गत हमें प्रथम दिवस में प्रांत प्रशिक्षण संयोजक एवं लज्जाराम तोमर (Lajjaram Tomar) शैक्षिक अनुसंधान एवं प्रशिक्षण संस्थान के निदेशक राजेन्द्र सिंह परमार (Rajendra Singh Parmar) से राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020 का सामान्य परिचय एवं क्रियान्वयन योजना, द्वितीय दिवस में भारत भारती आवासीय विद्यालय के सचिव एवं विद्या भारती की जनजाति क्षेत्र की शिक्षा के क्षेत्र प्रमुख मोहन नागर (Mohan Nagar) से पंचकोशात्मक विकास की अवधारणा , तृतीय दिवस में भाऊसाहब भुस्कुटे स्मृति लोक न्यास, गोविंदनगर (Bhausaheb Bhuskute Smriti Lok Nyas, Govindnagar,) के अध्यक्ष डॉ.अतुल सेठा (Dr. Atul Setha) से राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ का परिचय, चतुर्थ दिवस में केंद्रीय संस्कृत विश्वविद्यालय के शिक्षा विभागाध्यक्ष एवं सरस्वती विद्या प्रतिष्ठान मध्यप्रदेश के सहसचिव डॉ.नीलाभ तिवारी (Dr. Neelabh Tiwari) से भारतीय शिक्षा दर्शन एवं मनोविज्ञान की संकल्पना, पंचम दिवस में भाऊसाहब भुस्कुटे स्मृति लोक न्यास, गोविंदनगर के सचिव एवं संघ के सह विभाग कार्यवाह चाणक्य बख्शी (Chanakya Bakshi) से हमारा लक्ष्य, षष्ठम दिवस सरस्वती विद्या प्रतिष्ठान मध्यप्रदेश के सचिव शिरोमणि दुबे (Shiromani Dubey) से सांस्कृतिक जीवन मूल्यों की शिक्षा विषय पर मार्गदर्शन प्राप्त हुआ।

विमर्श सत्र में विद्या भारती मध्यभारत प्रांत के सह संगठन मंत्री अनिल अग्रवाल से अभिभावक संपर्क हमारे कार्य का आधार एवं बाल संसद, प्रांतीय प्रशिक्षण सहसंयोजक अजय शिवहरे से सरस्वती शिशु मंदिर की विकास यात्रा, डॉ.नीलाभ तिवारी से क्लास रूम प्रोसेस, विभाग समन्वयक रामकुमार व्यास से आधारभूत विषय एवं बालक का विकास, स्थानीय समिति के उपाध्यक्ष एवं पूर्व छात्र परिषद के विभाग संयोजक अभिषेक तिवारी से स्वदेशी विचार एवं व्यवहार विषय पर मार्गदर्शन प्राप्त हुआ। साजेन्द्र द्विवेदी, बृजबिहारी त्रिपाठी, राजेन्द्र तिवारी, बसंत पटेल, हेमन्त दीक्षित, विनय शर्मा, चंद्रशेखर टैगोर, श्रीमती प्रतिभा दीक्षित, श्रीमती सरिता गहलोत, श्रीमती शोभा वर्मा एवं शुभम चौहान ने शिक्षण के विभिन्न विषयों का प्रवर्तन किया। अध्यक्षता सेवानिवृत्त प्राचार्य वीरेन्द्र कुमार दीक्षित एवं दीक्षांत समारोह की अध्यक्षता समिति सचिव रूपसिंह कौरव ने की। इस अवसर पर सरस्वती शिक्षा समिति इटारसी के उपाध्यक्ष अभिषेक तिवारी सहित समिति सदस्य, समस्त स्टॉफ और प्रशिक्षु आचार्य उपस्थित रहे।

Royal
CATEGORIES
Share This

AUTHORRohit

error: Content is protected !!