ऑनलाइन संगोष्ठी: सावधानी ही सुरक्षा का अचूक मंत्र- डाॅ. जैन

ऑनलाइन संगोष्ठी: सावधानी ही सुरक्षा का अचूक मंत्र- डाॅ. जैन

होशंगाबाद। आपदा (Disaster) के दौरान सावधानी ही जनधन व जीवन की सुरक्षा का महत्वपूर्ण मंत्र है। यह बात शासकीय होम साइंस कॉलेज (Government Home Science College) की प्राचार्य डाॅ. कामिनी जैन (Principal Dr. Kamini Jain) ने ऑनलाइन विचार संगोष्ठी (Online seminar) में कही। महाविद्यालय की आपदा प्रबंधन समिति (Disaster management committee)द्वारा आग प्रबंधन विषय पर अपने विचार रखें। प्राचार्य डाॅ जैन ने बताया कि महाविद्यालय में आपदा प्रबंध समिति द्वारा आपदा प्रबंध को लेकर कार्ययोजना तैयार की है। यह कार्यक्रम उसी योजना का एक हिस्सा है। साथ ही विचार संगोष्ठी में जुडी सभी छात्राओं को आग के प्रति सदैव सजग रहने के लिए कहा गया है। उन्होंने कहा कि यदि आग पर नियंत्रण में है तो वह हमारी मित्र है और जीवन में उपयोग है। अगर अनियंत्रित है तो वह विनाश का पर्याय बन जाती है। इसलिए आग से सदैव सतर्क रहें। प्राचार्य ने कहा कि प्रयोग शाला में अग्निशामक यंत्र होना जरूरी है। आॅनलाइन संगोष्ठी में मुख्य वक्ता डाॅ आशीष बिल्लौरे ने आग प्रबंधन पर व्यापक प्राकाश डालते हुए पीपीटी के माध्यम से कई पहलूओं को समझाया। कार्यक्रम में संयोजक डाॅ ज्योति जुनगुरे ने, डाॅ अरूण सिखवार, डाॅ हर्षा चचाने, 70 छात्राएं सहित प्राध्यापक, शिक्षक मौजूद रहे।

CATEGORIES
TAGS

COMMENTS

Wordpress (0)
Disqus ( )
error: Content is protected !!
%d bloggers like this: