ओपीडी की पर्ची बनाने का कॉन्टेक्ट होगा खत्म

ओपीडी की पर्ची बनाने का कॉन्टेक्ट होगा खत्म

स्थानीय स्तर पर काम कराने से होगी हजारों की बचत

इटारसी। डॉ.श्यामा प्रसाद मुखर्जी(Dr. Shyama Prasad Mukherjee) शासकीय अस्पताल में कम्प्यूटर से ओपीडी(OPD) की पर्ची बनाने का कॉन्टेक्ट रोगी कल्याण समिति(Rogi Kalyan Samiti) खत्म करेगी। यह काम अब स्थानीय स्तर पर ही संसाधन जुटाकर युवाओं से कराया जाएगा। अनुमान है कि इससे लगभग बीस हजार रुपए प्रतिमाह की बचत होगी।
यहां विश्राम गृह में आज हुई रोगी कल्याण समिति(Rogi Kalyan Samiti) की बैठक में यह निर्णय लिया। रोकस की इस आपात बैठक में विधायक डॉ. सीतासरन शर्मा( Dr. Sitasaran Sharma, MLA Hoshangabad), एसडीएम सतीश राय(SDM Satish Rai), विधायक प्रतिनिधि भरत वर्मा (MLA Representative Bharat Verma), सांसद प्रतिनिधि हरप्रीत सिंघ छाबड़ा(MP representative Harpreet Singh Chhabra), देवेन्द्र पटेल (Devendra Patel) सहित अन्य सदस्य उपस्थित थे।

अब पर्ची पर नहीं ले रहे राशि
दरअसल सरकार ने कोरोना काल में ओपीडी(OPD) की पंजीयन पर्ची पर लगने वाली राशि लेने की व्यवस्था खत्म कर दी है। ऐेसे में अर्थव्यवस्था लडखड़ा गयी है। अब तक यह काम भोपाल की किसी फर्म से 50 हजार रुपए प्रतिमाह के मान से कराया जा रहा था। अब पैसा नहीं आने पर फर्म को भुगतान करना भी मुश्किल हो रहा है। ऐसे में समिति ने यह व्यवस्था खत्म करके स्थानीय स्तर पर ही यह व्यवस्था करने का निर्णय लिया है। समिति का अनुमान है कि 30.35 हजार रुपए तक में यह व्यवस्था हो जाएगी।

अर्थअभाव से जूझ रहा अस्पताल
रोगी कल्याण समिति की बैठक में 30 बिन्दुओं पर हुई चर्चा में 4.5 बिन्दुओं को छोड़कर शेष पर सहमति देते हुये कई अहम निर्णय लिये हैं। समिति ने फूजूल खर्ची रोकने के लिये 3 से 4 निर्माण कार्यों को स्थगित किया है। कोरोना की रोकथाम और कोरोना मरीजों के उपचार के लिये शासन ने जो बजट दिया था वह खत्म हो गया है। अस्पताल प्रबंधन के पास कोरोना की रोकथाम व सामग्री खरीदने पर्याप्त राशि नहीं है। राशि नहीं होने से कोरोना के उपचार और सामग्री खरीदी में बड़ी परेशानी हो रही है।

विधायक ने दिये दस लाख
बैठक मेें चर्चा के बाद विधायक डॉ.सीतासरन शर्मा(Dr. Sitasaran Sharma, MLA Hoshangabad) ने 10 लाख रुपए की राशि स्वीकृत कर तत्काल जिला योजना समिति को पत्र लिख दिया है। विधायक डॉ शर्मा ने 10 लाख रूपये की राशि स्वीकृत करने के लिये जिला योजना समिति को एक पत्र भी लिखा है। इसके अलावा और भी फैसले रोगी कल्याण समिति की बैठक में हुए हैं। बैठक मेें एम्बुलेंस की कमी पर चर्चा की गई। हालांकि अभी एम्बुलेंस को लेकर कोई ठोस फैसला नहीं हो सका। एसडीएम सतीश राय (Satish Rai, SDM, Itarsi) ने कहा कि इस पर कुछ कंपनियों से चर्चा कर एम्बुलेंस लेने का प्रयास किया जाएगा।

नामांतरण को दी हरी झंडी
रोगी कल्याण समिति द्वारा निर्मित चिकित्सालय की शॉपिंग काम्पलेक्स की पुरानी 55 दुकानों में से 3 दुकानदारों की नामांतरण की नोटसीट एवं 1 दुकानदार के आवेदन पर चर्चा में समिति ने नामांतरण को हरी झंडी दे दी है। शॉपिंग काम्पलेक्स की नयी 34 दुकानों की नीलामी 2016 में हुई थी, तीन वर्ष पश्चात नामांतरण पर चर्चा हुई है। इसमें समिति ने नीलामी के वक्त की शर्तों के अनुसार समिति के खाते में राशि जमा करके नामांतरण कराने के लिए आ रही बाधा दूर करके इसे हरी झंडी दे दी है।

इन प्रस्तावों पर भी हुई चर्चा
1. कोविड.19 के पॉजिटिव मरीजों जिन वार्डों में रखा था, उनको भोपाल भेजने के बाद पुताई, पेंट, मरम्मत, लेबर पेमेंट का बिल  2,08,799, गद्दे एवं मेंटेनेंस को स्वीकृति।
2. एम्बुलेंस की आवश्यकता और 108 एम्बुलेंस का एएलएस का हेड क्वार्टर बनाने पर चर्चा के बाद तय किया कि विधायक स्वास्थ्य मंत्री को पत्र लिखेंगे।
3. रोगी कल्याण समिति से दो लैब टैक्निशियन की नियुक्ति पर सहमति, स्टोर की बिल्डिंग को रिपेयर करने पीआईयू को लिखा जाएगा।
एएनएम प्रशिक्षण केन्द्र बंद हो गया जीएनएम/बीएससी नर्सिंग का प्रस्ताव 1 वर्ष से विचार में है, इस पर विधायक डॉ शर्मा स्वास्थ्य मंत्री को पत्र लिखेंगे।
4. पुराने और खराब हो चुके कम्प्यूटर के स्थान पर लैपटॉप खरीदने और प्रिंटर खरीदी को स्वीकृति, दुकानों का किराया नहीं बढ़ेगा,पेंडिंग किराया सख्ती से वसूल होगा।
5. दुकान नंबर 48 और 54 का हाईकोर्ट में केस चल रहा है, इन दुकानदारों से चर्चा कर यदि वे रिट वापस लेते हैं तो उचित निर्णय लिया जाएगा।
6. डिजीटल एक्स-रे मशीन की सर्विसिंग को स्वीकृति, वार्डों और ओपीडी में वाटर पूर्फिंग के लिए पीडब्ल्यूडी को पत्र लिखकर एस्टीमेट मांगा जाएगा।

CATEGORIES
TAGS

COMMENTS

Wordpress (0)
Disqus ( )
error: Content is protected !!
%d bloggers like this: