स्व. समीरमल गोठी को नगरवासियों ने श्रद्धांजलि दी

स्व. समीरमल गोठी को नगरवासियों ने श्रद्धांजलि दी

इटारसी। गोठी धर्मशाला के अध्यक्ष, समाजसेवी, गांधीवादी विचारक समीरमल गोठी (Sameermal Gothi) को नम आंखों से नगरवासियों ने निर्वाण के 21 वे दिन श्रद्धाजंलि दी। 30 जनवरी गांधी निर्वाण की रात्रि को उन्होंने अंतिम सांस ली थी। देवलोक प्राप्त करने के पूर्व लगभग 15 दिनों तक अन्न, जल कुछ भी ग्रहण नहीं किया था जिसे जैन धर्म के अनुसार संथारा कहते हैं। इसी कारण परिवारजनों ने कोई शोक निवारण नहीं किया था। संयोजक प्रमोद पगारे ने परंपरागत तरीकों से अलग हटकर श्रद्धाजंलि का आयोजन रखा।

पूर्व मुख्यमंत्री एवं राज्य सभा सदस्य दिग्विजय सिंह (Rajya Sabha Member Digvijay Singh), पूर्व केंद्रीय रक्षा राज्य मंत्री सुरेश पचौरी (Former Union Minister of State for Defense Suresh Pachauri), राज्य सभा सदस्य राजमणी पटैल (Rajya Sabha Member Rajamani Patail), कांग्रेस के वरिष्ठ नेता राजकुमार पटेल (Senior Congress leader Rajkumar Patel), पूर्व गृह उपमंत्री विजय दुबे काकू भाई (Former Home Minister Vijay Dubey Kaku Bhai) ने वीडियो संदेश के माध्यम से श्रद्धाजंलि दी। श्रद्धाजंलि समारोह में शरद दीक्षित, कुमारी तनिष्का शर्मा, सलोनी सोनी ने वैष्णव जनतो तेने कहिए गांधी जी का प्रिय भजन प्रस्तुत किया। वाइलिन पर बिट्टू भाई ने अपनी प्रस्तुति दी। गायक कलाकर भरत गायकवाड़ ओ दूर के मुसाफिर हमको भी साथ ले ले गीत प्रस्तुत कर माहौल को गमगीन कर दिया। गायक कलाकार हयात खान ने ओ जाने वाले हो सके तो लौट के आना गीत की प्रस्तुति दी। मुस्कान बालिका छात्रावास की छात्राओं ने इतनी शक्ति हमें देना दाता मन का विश्वास का कमजोर होना की प्रस्तुति दी। इटारसी की लता मंगेश्कर कुमारी राशि खाड़े ने चिट्ठी न कोई संदेश कहां तुम चले गए गजल की मार्मिक प्रस्तुति दी। नरसिंहगढ संगीत महाविद्यालय के कत्थक नृत्य के शिक्षक दीपक वर्मा एवं सहयोगी कलाकार शिवानी शर्मा एवं कुमार डिंपल चौहान ने तीन प्रस्तुति दी जिसमें गणेश वंदना, ठुमरी एवं मधुराष्टक शामिल थे।

पं. मधुकर व्यास, भाटिया जसपाल सिंह पाली एवं डॉ. सुभाष पवार चारों धर्म के अनुयायियों ने श्रद्धाजंलि दी। पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष भवानीशंकर शर्मा ने कहा कि समीरमल गोठी सादा जीवन उच्च विचार वाले व्यक्ति थे और यह इसी बात से प्रमाणित है शहर के प्रमुख लोग बड़ी संख्या में यहां मौजूद है। श्वेताम्बर जैन समाज की ओर से सुमेर सिंघवी ने कहा कि स्व. गोठी न केवल जैन समाज अपितु इटारसी के आदर्श थे। प्रोफेसर ज्ञानेंद्र पांडे ने कहा कि स्व. गोठी ने जीवनभर खादी पहनी और गांधी के सिद्धांतों पर ही जीवन जिया। पूर्व नगरपालिका अध्यक्ष रवि जायसवाल ने कहा कि उनका आशीर्वाद सदैव रहा। जिला कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष सत्येंद्र फौजदार ने कहा कि श्री गोठी जैसे लोग विरले ही पैदा होते हैं वो जो कहते थे उसे अपने आचरण में उतारते थे। प्रारंभ में संयोजक प्रमोद पगारे ने आयेाजन इस पर अपने विचार व्यक्त किए।

कार्यक्रम में गोठी परिवार के सुधीर गोठी, संजय गोठी, सिद्धार्थ गोठी, संजीव हनी गोठी सहित मांगीलाल गोठी, सजल गोठी एवं गोठी परिवार के सदस्यों के साथ जिला सहकारी बैंक के पूर्व अध्यक्ष पीयूष शर्मा, पूर्व विधायक ओम रघुंवशी, जिला पंचायत के पूर्व सदस्य चंद्र गोपाल मलैया, पूर्व नगरपालिका अध्यक्ष अनिल अवस्थी, जिला महिला कांग्रेस कमेटी की अध्यक्ष माधवी मिश्रा, नगर महिला कांग्रेस कमेटी की अध्यक्ष सीमा भदौरिया, नगर कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष पंकज राठौर, जिला भाजपा पिछडा वर्ग के प्रकोष्ठ अध्यक्ष जयकिशोर चौधरी, आयोजन समिति से विनीत चौकसे, भूपेंद्र विश्वकर्मा, घनश्याम तिवारी, सुरेंद्र राजपूत उपस्थित थे।

CATEGORIES
TAGS

COMMENTS

Wordpress (0)
Disqus ( )
error: Content is protected !!
%d bloggers like this:
Narmadanchal

FREE
VIEW