परशुराम सीनियर ने जीता फाइनल मुकाबला

परशुराम सीनियर ने जीता फाइनल मुकाबला

इटारसी। गांधी मैदान (Gandhi Maidan)पर आयोजित आचार्य चाणक्य (Acharya Chanakya)सर्वधर्म सद्भाव क्रिेकेट टूर्नामेंट के दूसरे दिन चार मैच खेले गए। फाइनल मुकाबले में परशुराम सेना (Parashuram Sena)सीनियर की टीम ने सिवनी मालवा (Seoni Malwa)सर्व ब्राह्मण समाज की टीम को 14 रनों से पराजित किया। इस अवसर पर मुख्य अतिथि के रूप में पूर्व विस अध्यक्ष एवं विधायक डॉ. सीतासरन शर्मा (Dr. Sitasaran Sharma), पूर्व विधायक गिरिजाशंकर शर्मा (Girijashankar Sharma), पूर्व मंत्री विजय दुबे काकू भाई (Vijay Dubey Kaku Bhai), संरक्षक सुनील तिवारी(Sunil Tiwari), संभागीय सर्व ब्राह्मण महिला संगठन की संयोजिका अनिता दुबे (Anita Dubey), महिला संगठन की पूर्व जिलाध्यक्ष संध्या थापक(Sandhya Thapak), सहसंयोजिका मनी तिवारी (Mani Tiwari), आरती शर्मा (Aarti Sharma), सुषमा चौबे (Sushma Chaubey)ने खिलाडि़यों का मनोबल बढ़ाया। इस अवसर पर सर्व ब्राह्मण समाज जिला अध्यक्ष जितेन्द्र ओझा (Jitendra Ojha), जिला सचिव राजकुमार केलू उपाध्याय (Rajkumar Kelu Upadhyay), कुलभूषण मिश्रा (Kulbhushan Mishra), सुनील बाजपेयी (Sunil Bajpai), आयोजन समिति से जुड़े सुनील पाठक (Sunil Pathak), नगर अध्यक्ष अशोक शर्मा (Ashok Sharma), संतोष भारद्वाज, राकेश दुबे, राकेश पांडेय, दिनेश उपाध्याय, प्रकाश दुबे, राहुल दुबे, राजीव दुबे, प्रशांत भार्गव, अंकित तिवारी, गोलू मिश्रा, पम्मू पाराशर, दिलीप पांडेय, चुटई महाराज, महाराज, संतोष भारद्वाज राजीव दुबे समेत समाज के सभी पदाधिकारी मौजूद रहे।

रविवार को मैदान पर कुल चार मैच खेले गए। पहला मैच जमदग्नि क्लब आर्डनेंस फेक्ट्री और भोपाल के बीच हुआ, जिसमें भोपाल की टीम विजयी रही। दूसरा मैच सिवनी मालवा एवं सोहागपुर के बीच हआ, जिसमें सिवनी मालवा की टीम विजयी रही। सेमीफाइनल मैच सिवनी मालवा और भोपाल के बीच हुआ, जिसे सिवनी मालवा ने जीतकर फाइनल में प्रवेश किया। फाइनल मैच में परशुराम सेना सीनियर ने सिवनी मालवा को 14 रनों से मात देकर फाइनल का खिताब अपने नाम किया। टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करते हुए सीनियर टीम ने 105 रनों का लक्ष्य रखा था, जिसका पीछा करते हुए सिवनी मालवा की टीम 91 रनों पर सिमट गई।

CATEGORIES
TAGS

COMMENTS

Wordpress (0)
Disqus ( )
error: Content is protected !!
%d bloggers like this:
Narmadanchal

FREE
VIEW