Watch Video : पातालकोट घटना, दुर्घटना या साजिश, जांच में जुटी एजेंसियां

Watch Video : पातालकोट घटना, दुर्घटना या साजिश, जांच में जुटी एजेंसियां

इटारसी। जिस वक्त देश के अनेक रेलवे स्टेशन अग्निपथ की आंच में तप रहे थे, उसी के आसपास इटारसी रेलवे स्टेशन पर पातालकोट एक्सप्रेस के इंजन में आग की घटना महज दुर्घटना है, या साजिश? जांच एजेंसियां इसका पता लगाने में जुटी हैं। दरअसल, घटना वाले दिन और समय का एक वीडियो सामने आया है, जिसमें कोई अज्ञात व्यक्ति इंजन पर कपड़े की पोटली फैकता दिखाई दे रहा है, जैसे ही वह पोटली फैकता है, इंजन में आग लगती है और वह पीछे मुड़कर तेज कदमों से वहां से निकल जाता है।
मामले को लेकर सुरक्षा एजेंसियां जांच में जुटी है कि आखिर इंजन में आग लगाने के पीछे क्या मकसद था? फिलहाल अज्ञात के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है और कपड़े की पोटली फैकने वाले की तलाश की जा रही है। बता दें कि पातालकोट के इंजन पर जले हुए कपड़े मिलने से इस आशंका को बल मिला है, और वीडियो फुटेज में भी यही दिख रहा है। हालांकि, यह वीडियो उसी दिन का और इसी घटना से संबंधित है, इसकी पुष्टि हम नहीं करते।

गौरतलब है कि छिंदवाड़ा-फिरोजपुर पातालकोट एक्सप्रेस के इंजन में आग पिछले दिनों आग लगी थी। प्लेटफार्म दो पर खड़े ट्रेन के इंजन के आसपास लगे खुफिया कैमरों के फुटेज से पता चला है कि इंजन के पास खड़े एक संदिग्ध व्यक्ति ने कपड़ों से भरी एक पोटली इंजन के ऊपर फेंकी थी, जिससे पेंटोग्राफ के पास तेज आग लगी, इसके बाद धुआं उठने लगा। आग लगने के फौरन बाद पोटली फैकने वाला घबराते हुए यहां से भागते हुए नजर आ रहा है।
जांच में इस संदिग्ध की हरकत का पर्दाफाश होने के बाद आरपीएफ-जीआरपी ने रेलवे आउटर, प्लेटफार्म एवं परिसर में घूमने वाले खानाबदोश, भिखारियों एवं संदिग्धों से पूछताछ की, लेकिन इस घटना को अंजाम देने वाला व्यक्ति हत्थे नहीं आया है। उसकी वेषभूषा से वह फकीर नजर आ रहा है, जो काले रंग के कपड़े पहने हुए था। आरपीएफ ने अज्ञात व्यक्ति के खिलाफ मामला भी दर्ज कर लिया है। संदिग्ध की गिरफ्तारी के बाद साफ होगा कि उसने इंजन पर कपड़ों की पोटली क्यों फेंकी, क्या उसका मकसद इंजन को आग लगाना था, या सिरफिरा होने के कारण उसने इस घटना को अंजाम दिया है। इस फुटेज के सामने आने के बाद सुरक्षा एजेंसियों के कान खड़े हो गए हैं। पिछले सप्ताह से अग्निपथ विवाद के चलते जंक्शन हाइअलर्ट पर हैं, ऐसे माहौल में इंजन पर पोटली फेंककर रेलवे संपत्ति की सुरक्षा को खतरे में डालने के पीछे क्या मकसद हो सकता है।
फुटेज में पता चला कि जिस जगह इंजन खड़ा था, उसके आगे से एक व्यक्ति जो लुंगी-कुर्ता पहने है, वह इंजन के पास चलकर आता है, ओर इंजन के ऊपर ओएचइ लाइन से जुड़े पेंटो पर पोटली फेंककर भागते हुए नजर आता है, वारदात के बाद आरपीएफ ने इस हुलिए वाले व्यक्ति की काफी तलाश की, लेकिन वह नजर नहीं आया, इससे मामला संदिग्ध हो गया है।

यह हुई थी घटना

गुरूवार दोपहर 2:25 मिनट पर यहां आई 14623 पातालकोट एक्सप्रेस के इंजन में गुरूवार दोपहर आग लग गई थी। इंजन के ऊपर ओएचइ लाइन में बिजली सप्लाई देने वाले पेंटो से अचानक तेज धुआं निकलता देख प्लेटफार्म पर हड़कंप मच गया था, अग्मिशमन यंत्रों से आग को तत्काल काबू कर लिया गया, यदि आग भड़क जाती तो रेलवे का करोड़ों रुपये का कीमती इंजन आग की भेंट चढ़ सकता था, ड्राइवर लाबी के आसपास इंजन के उपकरण जल सकते थे। ट्रेन रूकने के तीन मिनट बाद कैमरों में संदिग्ध फकीर पोटली फेंकते हुए नजर आ रहा है। ट्रेन में तुगलकाबाद डिपो का इंजन क्रमांक 22691 लगा हुआ था। इस घटना की जांच भी 5 सदस्यीय टीम कर रही है।

पांच विभागों के प्रमुख कर रहे जांच

रेलवे की जांच कमेटी में परिचालन विभाग, लोको, आरपीएफ, केरिज एंड वेगन, यातायात निरीक्षक इस तरह पांच विभागों की संयुक्त कमेटी बनाई गई है, जो पूरे मामले की जांच में जुटी हुई है, हालांकि घटना के कारणों का पर्दाफाश तो खुफिया कैमरों से हो चुका है, इसके बावजूद अधिकारिक बयान देने के लिए कोई अधिकारी राजी नहीं है। आरपीएफ कमांडेंट क कहना है कि इस मामले में प्रकरण पंजीबद्ध कर लिया गया है, और इसकी जांच की जा रही है।

इनका कहना है…
रेलवे की जांच समिति घटना की जांच कर रही है, फुटेज के बारे में मुझे कोई जानकारी नहीं है। आरपीएफ अपने स्तर पर कार्रवाई कर रही है।
डीएस चौहान, स्टेशन प्रबंधक

TAGS
Share This

AUTHORRohit

I am a Journalist who is working in Narmadanchal.com.

COMMENTS

Wordpress (0)
Disqus (0 )
error: Content is protected !!