स्वच्छ सर्वेक्षण 2021 की तैयारी, रात्रिकालीन सफाई शुरु

स्वच्छ सर्वेक्षण 2021 की तैयारी, रात्रिकालीन सफाई शुरु

अपशिष्ट जल के निस्तारण पर होगा खास फोकस

इटारसी। नगर पालिका (Nagarpalika) ने स्वच्छ सर्वेक्षण 2021 की तैयारी प्रारंभ कर दी है। शहर में पुन: रात्रिकालीन सफाई व्यवस्था (Cleaning system) प्रारंभ हो गयी है, दिन में तीन बार सफाई की जा रही है। कचरा वाहनों में जीपीएस सिस्टम (JPS System) लगाया है जिससे उनकी मॉनिटरिंग (Monitering) हो सकेगी। वाहन शाखा प्रभारी आरके तिवारी (Vehicle Branch Incharge RK Tiwar) की निगरानी में कार्य शुरु किया है। स्वच्छ सर्वेक्षण 2021 के अंतर्गत होने वाली तैयारियों में शहर के समस्त कचरा बीनने वालों के साथ बैठक की है। बैठक के दौरान एमआरएफ सेंटर मटेरियल रिकवरी फैसिलिटी (MRF Center Material Recovery Facility) के बारे में बताया एवं समझाइश दी गई कि आपको किस प्रकार की सावधानियां स्वयं के लिए रखना है। इस दौरान स्वच्छता की शपथ दिलायी गयी।

ऐसा होगा इस बार का सर्वेक्षण
स्वच्छ सर्वेक्षण 2021 (Clean Survey 2021) के अंतर्गत इस साल कवायद में अपशिष्ट जल के निस्तारण और अन्य मापदंडों पर ध्यान दिया जायेगा। स्वच्छ सर्वेक्षण (Clean survey)के तहत राज्यों की रैंकिंग की भी घोषणा होगी। व्यवहार परिवर्तन को बनाए रखने पर ध्यान केंद्रित करने के साथ प्रक्रिया को और अधिक मजबूत बनाने हर साल, स्वच्छ सर्वेक्षण को नवीन रूप से नया रूप दिया जाता है। इस साल स्वच्छ सर्वेक्षण का 6 वॉ संस्करण है। इस साल, केंद्रीय सरकार द्वारा पुरस्कार की नई श्रेणी की घोषणा भी की गयी है जिसका नाम है प्रेरक दाउर सम्मान। इस सम्मान के तहत पांच अतिरिक्त उप श्रेणी दिव्य (प्लैटिनम), अनुपम (गोल्ड), उज्ज्वल (सिल्वर), उदित (ब्रॉन्ज), आरोही (एस्पायरिंग) होगी। इसके अंतर्गत हर वर्ष नयी आयामों को शामिल किया जाता है। ‘पिछले वर्ष की तरह स्वच्छता कड़ी की निरंतरता सुनश्चित करने की दिशा में मंत्रालय के प्रयासों के तहत स्वच्छता सर्वेक्षण 2021 का संकेतक अपशिष्ट जल के निस्तारण और फिर से इसे इस्तेमाल योग्य बनाने पर केंद्रित होगा।

स्वच्छ सर्वेक्षण 2021 का उद्देश्य
आज भी बहुत से कैसे शहर और कस्बे हैं, जहां सफाई पर ध्यान नहीं दिया जाता है। जिसकी वजह के देश में बीमारियां बढ़ती जा रही है। इस समस्या को देखते हुए केंद्र सरकार ने स्वच्छ भारत अभियान के अंतर्गत स्वच्छ सर्वेक्षण 2021 को शुरू किया है। इस स्वच्छ सर्वेक्षण के अंतर्गत गीले, शुष्क और खतरनाक अपशिष्ट को अलग करने, गीले अपशिष्ट के निपटान की प्रक्रिया, गीले और शुष्क अपशिष्ट का निपटान और पुनर्चक्रण, निर्माण मलबा का निस्तारण, कचरा स्थल पर फेंके जाने वाले कचरा की मात्रा और शहरों की सफाई की स्थिति पर गौर किया जाएगा।

CATEGORIES
TAGS

COMMENTS

Wordpress (0)
Disqus ( )
error: Content is protected !!
%d bloggers like this: