नर्मदापुरम में 27 दिनों से बंद रेलवे फाटक खुलते ही लगा जाम

नर्मदापुरम में 27 दिनों से बंद रेलवे फाटक खुलते ही लगा जाम

– जगह कम होने से आपस में टकराये वाहन, मारपीट भी हुई

मदन शर्मा,नर्मदापुरम। नर्मदापुरम में पिछले 27 दिनों से बंद रसूलिया रेलवे डबल फाटक लाइट मोटर व्हीकल के लिए रात 8 बजे खोल दिया गया। फाटक खुलते ही जाम लग गया जिससे दो वाहन आपस में टकराने से चालकों में जमकर मारपीट हुंई।

ज्ञात हो की निर्माणधीन ओवरब्रिज के पिलर खड़े होने से हरदा रोड पर जगह कम बची है, और अब हरदा रोड पर 90 डिग्री का एंगल बन गया है जिसके कारण वाहन चालकों को वाहन निकालने में काफ़ी दिक्क़तों का सामना करना पड़ रहा है। शुक्रवार को फाटक खुलते ही रसूलिया हरदा जाने वाली सड़क पर वाहनों की कतार लग गई।

ब्रिज निर्माण हेतु बंद था फाटक

रसूलिया ब्रिज के निर्माण की वजह से पिछले 27 दिनों से बंद रेलवे गेट को आखिरकार शुक्रवार रात ठीक 8 बजे खुलते ही दोनों तरफ सडक़ पर वाहनों की कतार लग गई। जाम में फंसी दो कार आपस में टकरा गई। जिसमें सवार युवकों के बीच जमकर हाथापाई हुई। रसूलिया में ओवर ब्रिज के पिलर निर्माण हेतु पहले फाटक 3 सितंबर तक बंद था। फिर इसकी तारीख बढ़ाकर 20 सितंबर कर दीं गई। हालांकि 20 सितंबर को भी फाटक नहीं खोला गया। जिसे शुक्रवार की रात छोटे वाहनों के लिए खोला गया है।

ओवरब्रिज के पिलर से रेलवे क्रासिंग पर बना 90 डिग्री का मोड़, बड़े ट्राले आए तो लगेगा जाम

राजधानी भोपाल से नर्मदापुरम होते हुए इटारसी, बैतूल को जोडऩे वाले रसूलिया ब्रिज के पिलर का काम पूरा तो हो गया, लेकिन अब एक नई परेशानी आ गई है। ब्रिज के रसूलिया और हरदा रोड पर ब्रिज के पिलर की वजह से 90 डिग्री का मोड़ बन गया है। ऐसे में इस रोड पर यदि बड़े ट्राले आए तो गेट पर जाम की स्थिति बनेगी। दरअसल ट्रालों की लंबाई अधिक होने की वजह से मोड़ से ट्राले को घुमाकर निकाला नहीं जा सकेगा। इसी वजह से जब तक ब्रिज बनकर तैयार नहीं हो जाता, बड़े वाहनों और ट्रालों की आवाजाही पर पाबंदी लगाने का पत्र रेलवे ने ब्रिज कार्पोरेशन को लिख दिया था।

शहर के भीतर से होकर निकलेंगे ट्राले-

रसूलिया रेलवे गेट की बजाय बुदनी और इटारसी की तरफ से आने वाले ट्राले मीनाक्षी चौक होते हुए आवाजाही करेंगे। इससे एनएमवी कॉलेज, मीनाक्षी चौक और आइटीआइ रोड पर भारी वाहनों का दबाव बढ़ेगा। पिछले 27 दिनों से रेलवे गेट बंद होने की वजह से मीनाक्षी चौक से एनएमवी कॉलेज तक आए दिन जाम की स्थिति बन रही थीं। हालांकि यातायात डीएसपी संतोष मिश्रा का कहना हैं की अभी फाटक को लाइट मोटर व्हीकल हेतु खोला गया है. बड़े वाहनों की आवाजाही रोकने जवानों की तैनाती की गई है. बड़े वाहनों का मार्ग परिवर्तित किया गया हैं।

गेट बंद होने से परेशान हो रहे थे लोग-

रेलवे गेट बंद होने से रसूलिया और रेलवे फाटक के दूसरी तरफ रहने वालों को करीब 5 किमी का फेरा लगाना पड़ रहा है। ऐसे स्कूलों में पढ़ने वाले बच्चों के माता पिता खासे परेशान थे। फाटक खुलने से लोगों ने राहत की सांस ली हैं। हिल वी होम्स निवासी जीतेन्द्र सराठे ने बताया की वह प्रतिदिन 5 किलोमीटर अतिरिक्त दूरी तय कर आना जाना कर रहे थे।

वर्ष 2018 में शुरू हुआ था काम-

रसूलिया रेलवे गेट के पास इटारसी, नर्मदापुरम और हरदा के रास्ते तीनों दिशाओं में आने-जाने के लिए बनाए जा रहे ब्रिज का काम वर्ष 2018 में शुरू किया गया। ब्रिज का निर्माण जनवरी 2023 तक पूरा होगा। तीन टांगों वाले ब्रिज पर कुल 25 स्लैब हैं। जिनमें से 22 डाले जा चुके हैं। इसके अलावा दो पिलर का काम भी पूरा कर लिया गया है।

फैक्ट फाइल-

  • प्रोजेक्ट – नर्मदापुरम रसूलिया रेलवे ब्रिज
  • लंबाई – 1100 मीटर (तीनों दिशाओं में)
  • चौड़ाई – 8.4 मीटर
  • लागत – 23 करोड़ 23 लाख रुपए
CATEGORIES
TAGS
Share This

AUTHORRohit

I am a Journalist who is working in Narmadanchal.com.

COMMENTS

Wordpress (0)
Disqus (0 )
error: Content is protected !!