केसला की धरती पर उतरा मॉडल मंगलयान

केसला की धरती पर उतरा मॉडल मंगलयान

नासा के परसेवरेंस की लैंडिंग को समझाने राजेश पाराशर ने किया डिमांस्ट्रेशन

इटारसी। नासा (Nasa) द्वारा आज सुबह अपने मार्समिशन (Mars Mission) को सफलता पूर्वक मंगल पर लेंडिंग कराई गई। 30 जुलाई को अपनी यात्रा पर रवाना हुआ मार्समिशन पैराशूट (Marsmission Parashut) और विपरीत दिशा में चलाये गये रॉकेट की मदद से गति धीमी करता हुआ मंगल पर उतरा। यहां उतर कर उसने पहली फोटो कंट्रोलरूम को भेजी। इस पूरी प्रकिया को विद्यार्थियों तथा आमलोगों को समझाने विज्ञान शिक्षक राजेश पाराशर ने केसला में लेंडिंग की प्रक्रिया का प्रदर्शन किया। एक छाते से बनाये पैराश्सूट को धीरे-धीरे मंगल की धरती के बनाये फर्श पर उतरा गया। उतरते ही प्राचार्य एसके सक्सेना (Principal SK Saxena) के साथ राजेश पाराशर के साथ अन्य दर्शकों ने तालियां बजाकर सफल लैंडिंग पर हर्ष बताया। इसके बाद परसेवेरंस का मॉडल चहलकदमी करने लगा। उसने जोजेरो केंटर की ओर अपनी यात्रा आरंभ की। इस पूरे प्रदर्शन को करने के साथ इसके ताप, गति, एल्टीट्यूेड की जानकारी दर्शकों को दी गई। इस हार्ड लेंडिंग की प्रक्रिया की सावधानी को बताया गया।

श्री पाराशर ने बताया कि संभवत: मध्यप्रदेश में एकमात्र विद्यालय है जिसमें इस प्रक्रिया को मॉडल की मदद से समझाने का नवाचार किया। इस रोवर में लगी चिप में उत्कृष्ट विद्यालय केसला का नाम भी नासा द्वारा मंगल पर भेजा गया है। इसके साथ ही खगोल विज्ञान में रूचि रखने वाले 50 से अधिक अधिकारियों, मीडियाकर्मियों तथा बच्चों के नाम मंगल पर आगामी रोवर में भेजा जायेगा। इनका रजिस्ट्रेशन किया जा चुका है। केसला में मॉडल मंगलयान की लेंडिग प्रक्रिया को सफल बनाने एसएस नरवरिया के साथ हरीश चौधरी तथा राजेंद्र मांझी ने तकनीकी सहयोग किया। ये पूरा प्रदर्शन राजेश पाराशर ने वैज्ञानिक समझ को बढ़ानेे स्वयं की पहल पर किया।

CATEGORIES
TAGS

COMMENTS

Wordpress (0)
Disqus ( )
error: Content is protected !!
%d bloggers like this:
Narmadanchal

FREE
VIEW